बॉलीवुड एक्ट्रेस सारा अली खान इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म ‘लव आजकल’ के प्रमोशन में बिजी हैं, डायरेक्टर इम्तियाज अली की इस फिल्म में सारा अपने लॉन्ग टाइम क्रश और बॉलीवुड एक्टर कार्तिक आर्यन के साथ रोमांस करती नजर आएंगी. ये फिल्म वेलेनटाइंस डे के मौके पर 14 फरवरी को रिलीज होगी. हाल ही में हमने सारा से एक खास मुलाकात की, जिसमें उन्होंने प्यार, फिल्मों और अपने दैनिक जीवन के बारें में बात की है. तो क्या है प्यार के लिए सारा के ख्याल आइये जाने उन्हीं से.

प्र. इस फिल्म को करने की खास वजह क्या है?

ये फिल्म आज की यूथ और उसकी सोच को बताती है. आज का यूथ अपने करियर को लेकर जागरूक हो चुका है. आज औरते भी आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हो चुकी है, इसलिए वे आगे बढ़कर रिलेशनशिप में वो मांग रही है जो वो सालों से मांगना चाहती थी, क्योंकि समाज महिलाओं को वो आजादी अब तक नहीं दे पाया है, जिसे महिलाएं चाहती थी. ये बदली है और रिलेशनशिप भी आज काफी बदल चुका है.

प्र. आपकी नज़र में प्यार क्या है?

प्यार को शब्दों में बयान करना मुश्किल है. ये एक फीलिंग है, जिसे व्यक्ति अनुभव कर सकता है. इसे समझने में सालों लग जाते है, जबकि ये एक फिल्म है, जिसमें हमारी कोशिश ये रहती है कि ढाई घंटे में उस अनुभव को दर्शकों तक ला सकूं. प्यार क्या होता है इसे बता पाना मेरे लिए असंभव है. प्यार को इज़हार करने का तरीका समय के साथ बदलता है पर उसकी प्रकृति एक ही रहती है. प्यार के बिना जिंदगी जीने का मज़ा ही नहीं होता.

ये भी पढ़ें- Wedding Reception में भांगड़ा करती दिखीं नई नवेली दुल्हन Kamya Panjabi, देखें VIDEO

प्र. कार्तिक आर्यन के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?

कार्तिक काम को आसान बनाता है और काम करने के उत्साह को जगाता है, जिससे किसी भी दृश्य को करना मेरे लिए आसान था.

प्र. फिल्मों में आना एक इत्तेफाक था या बचपन से सोचा था?

बचपन में मैं काफी पढ़ाकू थी. मुझे पहले लगा था कि मैं इतिहास या कानून की पढ़ाई कर लूंगी या कुछ और करुंगी. मैं कॉलेज भी गयी और हर अलग-अलग विषय को पढ़ा, उसमें रुचि दिखाई, लेकिन कॉलेज के दौरान नाटकों में काम करने में मुझे बहुत मज़ा आया. मुझे एक एनर्जी महसूस हुई और मैंने तब निश्चय कर लिया था कि मुझे इसी फील्ड में ही काम करना है. कोलंबिया जैसी यूनिवर्सिटी में पढ़ने के बावजूद मुझे अभिनय करने की ही इच्छा बनी रही और इसी में आगे बढ़ना चाहती हूं.

प्र. हिंदी फिल्मों में लव स्टोरी की बहुत सारी फिल्में बनती है, क्या किसी फिल्म का आपके जीवन पर प्रभाव पड़ा?

फिल्मों का दैनिक जीवन पर असर जरूर पड़ता है. लव के बारें में आज तक मैंने जो भी जाना है वह फिल्मों के जरिये ही जान पायी हूं. एक कलाकार के रूप में मेरी ये दूसरी लव स्टोरी है, पर रियल लाइफ में प्यार बहुत अलग होता है. मुझे अभी तक हुआ नहीं है और मुझे उसके बारें में पता भी नहीं है. मैंने निर्देशक इम्तियाज अली से भी इस बारें में एक बार मजाक में कहा थी कि आपकी वजह से युवा पीढ़ी बिगड़ गयी है, वे प्यार को लेकर अलग-अलग सपने देखते है, जबकि रियल लाइफ में ऐसा नहीं होता. आप लोग ऐसी कहानियां लिखते और दर्शाते है. असल में दर्शक कल्पनायुक्त कहानियों को थोड़ी देर के लिए देखना पसंद करते है, जो लार्जर देन लाइफ होती है.

प्र. क्या आपने लव स्टोरी वाली किसी किताब को पढ़ा है?

मैंने बुक से अधिक प्ले पढ़ा है, पर मुझे शेक्सपियर का प्ले रोमियो और जुलियट सबसे ज्याजा पसंद है. मुझे लव स्टोरी देखना बहुत पसंद है, फिल्म ‘अंखियों के झरोखे से’, ‘सदमा’ आदि मेरी फेवरेट पसंद है, जो आउट ऑफ़ द बॉक्स वाला प्यार हो.

ये भी पढ़ें- छोटी सरदारनी: क्या सरब मेहर को जेल जाने से बचा पाएगा?

प्र. फिल्म केदारनाथ की सफलता के बाद आप अपने आपको कितना सुरक्षित महसूस कर रही है?

यहां सुरक्षित कभी कोई महसूस नहीं कर सकता. फिल्म केदारनाथ से पहले ही मुझे बहुत प्यार मिल चुका था. मैंने कुछ ऐसा किया भी नहीं था, पर सबका प्यार मिला. मुझे मौके मिलते जाय और अच्छा काम कर अपने आपको सिद्ध कर सकूं, बस यही तमन्ना है. जिंदगी बदलती नहीं है, काम करने का तरीका बदलता जाता है.

 

View this post on Instagram

 

Rahenge Hum Nahi ❤️

A post shared by Sara Ali Khan (@saraalikhan95) on

प्र. आप स्पष्टभाषी है, इसका नुकसान क्या कभी आपको हुआ?

काम के दौरान मैंने अलग-अलग भूमिका निभाई है, ऐसे में कितनी भी स्ट्रोंग पर्सनालिटी हो, आपको उससे निकलकर भूमिका करनी पड़ती है, जो बहुत मुश्किल होता है.

प्र. ये इनर स्ट्रेंथ आपमे कैसे आई ?

हर चीज जो मैं जानती या करती हूँ वह मेरी मां की देन है. वह बहुत ही स्ट्रोंग और आत्मनिर्भर महिला है. उन्होंने अकेले मुझे और मेरे भाई की परवरिश की है. उनकी वजह से आज मैं यहां हूं.

प्र. स्ट्रोंग सारा के अंदर एक सिंपल और सॉफ्ट सारा भी रहती है, उसे क्या पसंद होता है?

मैं अपनी भावनाओं को लेकर बहुत सिंपल और सॉफ्ट हूं, लेकिन मैंने ये समझा है कि सॉफ्टनेस को सोच समझकर ही आगे लाने में भलाई है. मैं कोमल और रोमांटिक भी हूं, लेकिन इसे अपनी जिंदगी में तब लाना चाहती हूं जब कोई इसके लायक हो. मैं बाहर से भी सारी भावनाओं को जीना चाहती हूं, इसलिए इसका सही फैसला लेना जरूरी है, क्योंकि यही चीज आपको घुटन और आज़ादी दोनों दिला सकती है.

 

View this post on Instagram

 

Woman Crush Wednesday 💓 My Whole Life Everyday ♾ #likemotherlikedaughter #mommysgirl #gotitfrommymama

A post shared by Sara Ali Khan (@saraalikhan95) on

प्र. आपको कई सारे उतार-चढ़ाव के साथ जिन्दगी गुजारनी पड़ी है, ऐसे में आपने अपनी मां का साथ कैसे दिया?

मैं मां को देख-देखकर ही बड़ी हुई हूं. मैंने देखा है कि जीवन में हर पल मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. ऐसे में अपनी ताकत को कायम रखना बहुत जरुरी होता है. मैंने बहुत जल्दी ये भी जान लिया है कि जितनी जल्दी उतार होते है उतनी ही जल्दी चढ़ाव भी होते है. जब चीजे अधिक मुश्किल होती है तो मेरी मां मेरे साथ रहती है और मुझे उससे ही प्रेरणा मिलती है.

भाई को भी पढ़ाई छोडकर सब चीजो का शौक है. वह क्रिकेट भी खेलता है. फिल्में भी उसे पसंद है.

प्र. तनाव को कैसे दूर करती है?

तनाव होने पर एक घंटा जिम कर लेती हूं. जिससे शारीरिक और मानसिक दोनों को कूल महसूस होता है.

प्र. आगे आने वाली फिल्में कौन सी है?

मैंने 5 फिल्मों को साइन किया है और हर फिल्म के साथ-साथ मेरी एक जर्नी शुरू होती है, जिसे मैं एन्जॉय कर रही हूं.

Tags:
COMMENT