इतिहास से सबक लेकर हर इंसान प्रगति की राह पर जा सकता है. इसी बात को लोगों तक पहुंचाने के लिए मशहूर फिल्मकार मणि रत्नम नौंवी सदी के चोल साम्राज्य की अंदरूनी राजनीतिक उठापटक पर फिल्म ‘‘पी एस -एक’’ लेकर आ रहे हैं. तीस सितंबर को हिंदी, तमिल, तेलुगु, मलयालम व कन्नड़ भाषा में अंग्रेजी सब टाइटल के साथ पूरे विश्व में प्रदर्शित होने वाली फिल्म ‘पीएस एक’ ऐतिहासिक सबूतों व कुछ कल्पना के साथ सत्तर वर्ष पहले कल्कि द्वारा लिखी गयी किताब ‘‘पोन्नियिन सेलवन’’ पर आधारित है. यह फिल्म अरुलमोझीवर्मन के शुरुआती दिनों की कहानी बताती है,  जो बाद में महान चोल सम्राट राज राजा चोल प्रथम (947 सीई - 1014 सीई) बने थे. फिल्म की कहानी के केंद्र में नौवीं शताब्दी के चोल राजवंश और सिंहासन के लिए संघर्ष है.

फिल्म ‘‘पी एस -एक’’ के प्रमोशन के लिए हाल ही में मणि रत्नम अपनी इस फिल्म के सभी कलाकारों के साथ मीडिया के सामने मुखातिब हुए. उसी दौरान इतिहास से सबक सीखने की चर्चा करते हुए फिल्म में अदिथा करिकालन का किरदार निभा रहे अभिनेता चियान विक्रम ने कहा-‘‘हर इंसान की अपनी रूचि होती है. किसी को विज्ञान मंे, किसी को इतिहास में तो किसी को गणित या भूगोल में. लेकिन मेरी समझ से रोचक बात यह है कि हम बचपन में ‘चंदामामा’ या ‘अमर चित्रकथा’’के माध्यम से कहानियां पढ़ते व सुनते रहे हैं. इन किताबों मंे अतीत या राजाओं की कहानी ही लिखी गयी है. हमारा अतीत काफी समृद्ध रहा है. राजा राजा चोल ने अपने शासनकाल में पांच हजार डैम@बांध बनवाए थे. राजा राजा चोल ने अपने समय में ‘पानी मंत्रालय’ बनाया था. गांव के नेताओं यानी कि सरपंच के चुनाव करवाए थे. उन्होने शहरोें के नाम औरतों के नाम पर रखे थे. उनके शासन काल में तीन बड़े अस्पताल थे, जहां हर नागरिक का मुफ्त में इलाज होता था. वह अपनी जनता की मदद के लिए खैरात नही बांटता था, मगर कर्ज दिया करता था. यानी कि वह लोगों से पूरे सम्मान@डिग्निटी के साथ जिंदगी जीने की बात करता था. क्या हमें यह सब इतिहास से नहीं सोचना चाहिए.  इतना ही नहीं हम अक्सर पिरामिड की बात करते हैं कि आखिर कइ वर्ष पहले पिरामिड किस तरह बनाए गए होंगे. मगर क्या हम जानते हंै कि भारत में कई ऐसे मंदिर हैं, जिन्हे हम सिर्फ मंदिर या पूजा गृह के रूप में देखते हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

गृहशोभा डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...