इम्युनिटी बूस्टर मिठाइयों, चाय, नाश्ते और काढ़े के बाद अब क्रिसमस और in की. भोपाल में एक बेकरी के संचालक कहते हैं, "कोरोना के आगमन के साथ ही लोंगों में स्वास्थ्य और सेहत के प्रति जागरूकता बहुत अधिक बढ़ी है और इसीलिए अब वे साधारण केक की जगह काढ़ा केक, जिंजर केक, और मसालों से बने केक को प्राथमिकता दे रहे हैं. वे बताते हैं कि अब 35 प्रतिशत लोग इम्युनिटी बूस्टर केक की मांग कर रहे हैं." उनके अनुसार इन केक को बनाने में सोंठ, दालचीनी, जिंजर, लौंग और काली मिर्च का प्रयोग किया जाता है इसलिए साधारण केक की अपेक्षा इनकी पौष्टिकता काफी बढ़ जाती है."बच्चों को इस प्रकार के मसालों को खिलाना काफी मुश्किल होता है ऐसे में ये केक उन्हें खिलाने के लिए बहुत अच्छा विकल्प है ताकि उन्हें स्वाद भी मिले और सेहत भी. तो आइए हम आपको ऐसे ही कुछ केक की विधियां बताते हैं जिन्हें आप बड़ी आसानी से घर में बना सकते हैं.

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT