कफ या खांसी सांस से संबंधित लगभग सभी रोगों का आम लक्षण है. लेकिन इसे गंभीरता से लेना आवश्यक होता है, क्योंकि इस के प्रति लापरवाही करना आगे जा कर हानिकारक हो सकता है. यह कई गंभीर बीमारियों को जन्म देने में सक्षम है और यह रोग किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकता है. दरअसल, खांसी श्वसन नलियों की परत में उपस्थित संवेदी तंत्रिकाओं की उत्तेजना से उत्पन्न होती है औैर परिणाम के रूप में हवा उच्च दबाव से श्वसन नली से बाहर निकलती है. खांसी श्वसन तंत्र को धूल, गंदगी व कीटाणु से बचाने के लिए शरीर की रक्षात्मक क्रिया है. धूल व गंदगी श्वसन तंत्र में संक्रमण पैदा कर सकती है. खांसी आने का मतलब है कि श्वसन नलियों में कुछ अवांछित कण हैं, जो वहां नहीं होने चाहिए, जैसे धूल के कण या भोजन के कण इत्यादि. खांसी एक व्यक्ति द्वारा स्वेच्छा से ली जा सकती है. लेकिन सामान्यतया यह एक अनैच्छिक प्रक्रिया है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT