एक प्यारी सी मुसकान सामने वाले के दिल में आप के लिए जगह बना सकती है और इस मुसकान को कायम रखने के लिए जरूरी है स्वस्थ, साफ और चमकते दांत. जिस तरह हम अपने शरीर को साफसुथरा रखते हैं ठीक वैसे ही अगर अपने मुंह की सफाई का भी खयाल नहीं रखेंगे तो दांतों व मसूढ़ों से संबंधित कई तरह के संक्रमणों के होने का खतरा बढ़ सकता है.

दांतों में सड़न, दर्द, बैक्टीरियल संक्रमण, सांस की बदबू जैसी परेशानियों के साथ ही शरीर के दूसरे हिस्से भी प्रभावित हो सकते हैं.

दूसरी गंभीर बीमारियों की वजह

दांतों में होने वाली परेशानियां कई गंभीर बीमारियों की वजह बन सकती हैं. अगर दांतों की परेशानी लंबे वक्त से चल रही है तो उसे अनदेखा न करें. ‘नैशनल सैंटर फौर बायोटैक्नोलौजी इनफौर्मेशन’ के अनुसार दांतों में होने वाली बीमारी की वजह से दिल और दिमाग से जुड़ी और अन्य बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है. इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप ओरल हाइजीन का खयाल रखें.

हार्ट अटैक का खतरा होता है कम

‘अमेरिकन कालेज औफ कार्डियोलौजी’ के अनुसार जहां मसूढ़ों के रोग होने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा लगभग 50% तक बढ़ सकता है, वहीं ओरल हाइजीन मेंटेन करने से दिल की बीमारियों का खतरा कम किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- दबे पांव दस्तक देता Depression

‘सैंटर औफ डिजीज कंट्रोल’ के अनुसार जो लोग मुंह की सफाई का ध्यान नहीं रखते उन में दिल से संबंधित बीमारियां होने की संभावना 70% से भी ज्यादा होती?है. दरअसल, मुंह की सफाई ठीक से नहीं की जाए तो मुंह के बैक्टीरिया खून में मिल कर दिल तक पहुंच जाते हैं और उसे नुकसान पहुंचाने लगते हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...