लिवर यानि यकृत हमारे शरीर का प्रमुख अंग है, जो पोषक तत्वों को पूरे शरीर में प्रोसेस करने के साथ-साथ खून को फ़िल्टर करता है. इन्फेक्शन्स के खिलाफ लड़ता है. वायरल हेपेटाइटिस में हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी और ई वायरस जब लिवर को संक्रमित करते है, तो लिवर में सूजन आ जाती है. इस बारें में मुंबई की कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल की एचपीबी(Hepato-Pancreatico-Biliary) एंड लिवर ट्रांसप्लांट की डॉ. कांचन मोटवानी कहती है कि वायरल हेपेटाइटिस के वायरस लिवर को नुकसान पहुंचाकर उसके कार्य को प्रभावित करती है, जिसके परिणामस्वरूप शरीर में टॉक्सिन्स का निर्माण होने की संभावना बढती है. इससे लिवर सिरोसिस या लिवर कैंसर भी हो सकता है.

यकृत के रिस्क फैक्टर

हेपेटाइटिस ए और ई वायरस के संक्रमण से क्रोनिक वायरल हेपेटाइटिस हो सकता है. कई मरीज़ों में, यह कुछ हफ्तों या महीनों में अपने आप ठीक हो जाता है, लेकिन कुछ दुर्लभ मामलों में मरीज़ के लिवर का काम बहुत ही तेज़ी से बंद पड़ने लगता है, अगर लिवर ट्रांसप्लांट तुरंत न किया जाए, तो यह स्थिति जानलेवा भी हो सकती है।

हेपेटाइटिस बी और सी से लिवर का तीव्र नुकसान होने की केस शायद ही कभी होती होगी, लेकिन ये वायरस व्यक्ति के शरीर में बने रहते है और लंबे समय के बाद लीवर सिरोसिस और लीवर कैंसर का कारण बन जाते है.

ये भी पढ़ें- 8 टिप्स: दांत दर्द से पाएं तुरंत आराम

लक्षण

हेपेटाइटिस ए और ई आमतौर पर दूषित भोजन और पानी के ज़रिए मल या मौखिक मार्ग से फैलते है. अधिकतर ये बीमारियां गन्दगी वाले इलाकों में पायी जाती है. संक्रमित व्यक्ति में कई बार किसी प्रकार की लक्षण नहीं दिखाई पड़ती या किसी में पीलिया, पेट में दर्द, जी मिचलाना, उल्टी, भूख न लगना, बुखार, सामान्य कमजोरी आदि जैसे लक्षण दिखाई दे सकते है. ज़्यादातर मामलों में, ये लक्षण सपोर्टिव उपचार के साथ ठीक हो जाते है. अधिकांश मरीज़ों में, वायरस शरीर से निकल जाता है और मरीज़ पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता है. बहुत कम प्रतिशत मामलों में, यह बीमारी अचानक से, तीव्र लिवर फेलियर का कारण बनती है, ऐसे मरीज़ों को अस्पताल में भर्ती करना पड़ सकता है. बहुत कम केसेज में, किसी मरीज को आपातकालीन लिवर ट्रांसप्लांट की ज़रूरत हो सकती है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT