बीते वर्ष 6 सितंबर 2019 की सुबह सफला रानी भाटिया अखबार में भारत के आंध्र प्रदेश की यारावती नामक एक महिला के बारे में समाचार पढ़ रही थी, जिस ने 74 वर्ष की उम्र में एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया था. सफला रानी खुद 5 वर्षीय बेटे की मां है. उन्हें और उन के पति बलराज भाटिया को दिल्ली के एक स्वास्थ्य केंद्र में 16वें आईवीएफ चक्र से गुजरने के बाद संतान की प्राप्ति हुई थी. फरवरी 2014 में सफला ने 62 वर्ष की उम्र में अपने पुत्र वैराज भाटिया को जन्म दिया था. इन का कहना था कि मैं अच्छी तरह समझ सकती हूं कि उस महिला पर क्या गुजरी होगी. क्योंकि किसी महिला को अगर बच्चा पैदा न हो तो समाज में उसे बांझ कह कर दुत्कारा जाता है. सफला रानी की शादी 40 साल की उम्र में हुई थी. वे तभी से देशविदेश के विभिन्न अस्पतालों में आईवीएफ चक्र अजमा रही थीं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT