ब्रा पहनने के अपने फायदे है. लेकिन उस के लिए सही साइज़ का ब्रा पहनना बहुत जरूरी है. आपको यह जान कर हैरानी होगी की 10 में से 8 महिलाएं गलत ब्रा का चुनाव करती हैं. शरीर में ब्रा सही तरह से फिट नहीं होगा तो ब्रैस्ट का आकार सही नहीं दिखेगा और आप कितनी भी स्टाइलिश ड्रेस क्यों न पहन लें वह आप पर अच्छी नहीं दिखेगी.

साइज के अनुसार पहनें ब्रा

ब्रा ब्रैस्ट साइज़ के अनुसार ही पहननी चाहिए. कई बार महिलाएं या तो बड़े साइज़ का ब्रा पहन लेती हैं या छोटे साइज़ का, जिससे ब्रैस्ट में ढीलापन आने लगता है और आकार में भी बदलाव दिखने लगता है. कई बार ज्यादा टाइट ब्रा पहनने से स्किन एलर्जी भी हो जाती है. गलत ब्रा कहीं न कहीं महिला की खूबसूरती को प्रभावित करती है. अगर आप चाहती हैं कि ब्रैस्ट का साइज सही रहे और वे सुडौल दिखें तो सही ब्रा का चुनाव बहुत जरूरी है. गलत ब्रा पहनने से कपड़ों का लुक खराब हो सकता और आपको शर्मिंदगी भी हो सकती हैं.

ये भी पढ़ें- इनरवियर से जुड़ी इन बातों को जानना है जरूरी

आइए, जानते हैं सही ब्रा कैसे चुनें और इसे पहनते वक्त किन किन बातों का ध्यान रखें-

कई महिलाओं व लड़कियों को सही ब्रा साइज़ की जानकारी नहीं होता ऐसे में वे चाहें तो  घर पर ही इंचीटेप की मदद से अपना ब्रा साइज़ जान सकती हैं.–

 सही ब्रा का माप

ब्रा का सही माप लेने के लिए इंची टेप का इस्तेमाल करें. ब्रा साइज मापने के लिए बैंड साइज और कप साइज का मेजरमैंट लेना होता है.

 बैंड साइज मापे

बैंड साइज मापने के लिए ब्रेस्ट के नीचे से चारों तरफ की लंबाई मापें. ध्यान रहें आपकी बांहें नीचे की तरफ रहे. अगर आपका बैंड साइज ऑड नंबर में आता है तो उसमें 1 जोड़ दें. यदि आपका बैंड साइज 29 है तो उसमे 1 जोड़ने पर उसे 30 माना जाएगा. यानी आपका बैंड साइज 30 है.

 कप साइज ऐसे मापें

कप साइज मापने के लिए इंचीटेप को ब्रैस्ट के सेंटर पौइंट पर रख कर मापें. कप साइज हमेशा बैंड साइज से ज्यादा होगा. यदि आपका कप साइज 32 है और आपका बैंड साइज 30 तो, इसमें 2 इंच का अंतर है. 2 इंच का मतलब होता B कप. यानी आपका ब्रा साइज 32B है. यदि आपका कप साइज और बैंड साइज में 1 इंच का अंतर है तो, इसका मतलब है A कप. अब आप दुकान पर जा कर आसानी से अपने साइज की ब्रा खरीद सकती हैं.

ये भी पढ़ें- किराए का घर: कम खर्च में घर जैसी सुविधाएं

Tags:
COMMENT