लौह महिला के रूप में फेमस प्रथम महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का दो सिग्नेचर स्टाइल पूरी तरह से पोती प्रियंका गांधी में नजर आता है. एक उनका हेयरस्टाइल और दूसरी उनकी साड़ी. प्रियंका के फैन्स को उनके चेहरे में उनकी दादी की झलक नजर आती है, वे ऐसा मानते हैं कि प्रियंका की नाक भी उनकी दादी जैसी ही है.  

https://www.instagram.com/reel/C8KmT_DsTfM/?utm_source=ig_web_copy_link&igsh=MzRlODBiNWFlZA==

राजनीतिक सूझबूझ में माहिर इंदिरा गांधी की साड़ियां उनकी पर्सनालिटी के साथ खूब मैच करती थी. उनकी साड़ी कलेक्शन में ज्यादातर हैंडलूम कौटन की साड़ियां  होती थी. इन साड़ियों की खासियत थी उसका लाइट बेस कलर और ब्राइट कलर का बौर्डर.  दरअसल उनकी साड़ियों में स्वदेशी भावना झलकती थी.

पावर ड्रेसिंग में साड़ी को शामिल करने का श्रेय मिसेज गांधी को
शर्ट पैंट, कोट जैसी ड्रेसिंग स्टाइल को पावर ड्रेसिंग के साथ जोड़कर देखा जाता रहा है लेकिन सालों पहले भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री  मिसेज इंदिरा गांधी ने यह मिथक को तोड़ दिया था. उनकी पावरफुल पर्सनालिटी ने साड़ी को ही पावर ड्रेसिंग का रूप दे डाला. उनकी खास तरह की साड़ियां और उसे पहनने का खास अंदाज प्रोफेशनल वुमन के लिए इंस्पीरेशन की तरह है. वे अपनी  साड़ी के आंचल को प्लीट बनाकर बड़े करीने से कंधे पर रखती थीं. जहां तक प्रियंका गांधी की बात है, तो उन्हें भी काटन हैंडलूम साड़ियों में खूब देखा जाता है हालांकि प्रियंका गांधी की साड़ी ड्रेपिंग स्टाइल में कहींकहीं कुछ बदलाव भी नजर आता है. मंच पर भाषण देने के दौरान उन्हें प्लीटेड पल्लू में देखा जा सकता है, तो चुनाव अभियानों के दौरान जनता से बात करते समय या मिलते समय वह पल्लू को प्लीट बनाने की बजाय लहराता हुआ छोड़ देती हैं. साड़ी पहनने के अंदाज से प्रियंका के बौडी लैंग्वेज को समझा जा सकता है, प्लीटेड पल्लू के समय उनका अंदाज सधा हुआ होता है, मतलब सीधा और साफ बात करने के मूड में नजर आती हैं, वहीं खुले लहराते आंचल में उनका बेफिक्री भरा अंदाज  होता है. इसमें कोई दो राय नहीं कि साड़ी में उनका आत्मविश्वास झलक रहा होता है.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...