लड़ाई झगड़ा हर कपल में होता है, हालांकि कोई भी ऐसा जानकर नहीं करता. लेकिन कुछ बातों पर बहस करना आपकी जिंदगी को आसान बना सकता है.

"दीक्षा आजकल तुम दोनों पति-पत्नी में कुछ अनबन चल रही है क्या मैं काफी दिनों से देख रही हूं कि तुम लोग एक दूसरे से बात नहीं कर रहे?"

दीक्षा की सास के पूछते ही दीक्षा की आंखों में आंसुओं की झड़ी लग गई और उसने सुबकते हुए कहा,"हां छोटी सी बात थी लेकिन पता नहीं था कि इतना बड़ा तूल पकड़ लेगी. आपको याद है हम पिछले संडे रात को एक पार्टी में गए थे वहां पर अक्षय अपनी कलीग से बड़ा हंस-हंसकर बात कर रहे थे. मुझे थोड़ा अखरा और मैं ने बस अक्षय से बात करनी बंद कर दी. अक्षय ने पहले तो एक दो बार नराजगी की वजह जाननी चाही, पर बाद में उन्होंने भी बात करनी बंद कर दी."

इतना बता कर दीक्षा रोने लगी. तब दीक्षा की सासू मां ने समझाया," देख बेटा,जहां प्यार है, वहां तकरार भी होगी. ये बात तो हम सभी जानते हैं. हर रिश्ते पर यह बात लागू होती है. खासतौर पर कपल्स पर. जब दो लोग एक रिश्ते में होते तो दोनों के अपने-अपने विचार और तर्क होना स्वाभाविक है. लेकिन इन्हें सभ्य तरीके से सुलझाना आपके हाथ होना चाहिए. इससे रिश्ते बिगड़ते नहीं हैं. यही कदम दूरियों को नजदीकियों में बदल सकता है. तुम्हें बात करना नहीं छोड़ना चाहिए था."

बात तो सही है, बहस के डर से कभी भी कुछ बातों पर ध्यान देना बिल्कुल न छोड़े। इनपर खुलकर अपना तर्क दें और अपना नजरिया भी बताएं। आइए जानते हैं विस्तार से -

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...