सवाल-

मेरी उम्र 27 और पति की 30 साल है. हमारी शादी को 5 साल हो चुके हैं. हम दोनों की सारी जांचें नौर्मल आई हैं. पति की जांच में उनके शुक्राणुओं की संख्या भी लगभग 90 मिलियन आई है. बावजूद इस के हम संतानसुख से वंचित हैं. क्या हमें आईवीएफ तकनीक की मदद लेनी चाहिए?

जवाब-

आप को घबराने की आवश्यकता नहीं है. चूंकि आप के पति के शुक्राणुओं की संख्या ठीक है, इसलिए आप को आईयूआई तकनीक की दरकार नहीं है. लेकिन आप के लिए बढि़या विकल्प आईवीएफ तकनीक है. इस की मदद से आप संतानसुख की प्राप्ति कर सकते हैं. हां, यह ध्यान रहे कि इस तकनीक के लिए किसी अच्छे डाक्टर से ही संपर्क करें.

ये भी पढ़ें-

खराब खानपान का सेहत पर तुरंत असर नहीं होता, बल्कि एक लंबे समय के बाद इनका असर समझ आता है. हाल ही में हुए एक स्टडी में ये बात सामने आई कि जंकफूड का अधिक प्रयोग करने वाली महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान बहुत परेशानी होती है. शोध में पाया गया कि हफ्ते में तीन चार बार से अधिक जंकफूड का सेवन करने वाली महिलाओं को प्रेग्नेंट होने में ज्यादा वक्त लगता है. वहीं जो महिलाएं जंकफूड का सेवन कम करती है वो ज्यादा सहूलियत और आसानी से प्रेग्नेंट होती हैं.

औस्ट्रेलिया में हुए इस शोध में ये बात सामने आई कि जो महिलाएं हेल्दी फूड खाती हैं वो ज्यादा फिट रहती हैं और सही वक्त पर गर्भवती भी होती हैं. फर्टिलिटी में भी हेल्दी फूड बेहद लाभकारी होते हैं. इसके अलावा ये बात भी सामने आई कि जिन खाद्य पदार्थों में जिंक और फोलिक एसिड की मात्रा प्रचुर होती है उनके सेवन से गर्भधारण की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है. हरे पत्तेदार सब्जियों, मछली, बीन्स और नट्स में ये तत्व पाए जाते हैं.

ये भी पढ़े- मेरे पति सेक्स के दौरान हिंसक हो जाते हैं, क्या करूं?

Edited by Rosy

Tags:
COMMENT