लेखक- शंभू सरण सत्यार्थी

अमरेश और बबिता दशम वर्ग में एक ही कोचिंग संस्थान में पढ़ते थे. अमरेश अपने क्लास में पढ़ने में सबसे तेज था. बबिता भी कम नहीं थी. वह भी मेधावी थी. शिक्षकों के हर सवाल का जवाब ये दोनों देते. शिक्षक लोग भी दोनों को प्रोत्साहित और तारीफ करते रहते. बबिता सभी लड़कियों में मेधावी के साथ साथ सुंदर भी थी. लड़के जब भी मौका मिलता उसे भर नजर देखा करते. उसके पिता कस्बे के नामी ब्यापारी थे. वह एक से एक सुंदर और महंगी टॉप जीन्स और अलग अलग वेरायटी का कपड़े पहनकर आती. कोचिंग में जब कोई फ़ंक्शन होता तो लड़के लड़कियां यहां तक कि शिक्षक तक उसका ड्रेस देखकर दंग रहते.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT