सोलमेट आप का रोमांटिक पार्टनर, दोस्त, रिश्तेदार या टीचर कोई भी हो सकता है जिस के साथ आप गहरा और मजबूत कनेक्शन महसूस करते हैं. वह आप को चुनौतियां देता है, प्रेरणा देता है, सहारा देता है और हर समय आप के जेहन में  होता है. आप को महसूस कराता है कि वास्तव में आप को जीवन में क्या चाहिए. आप उस से शारीरिक ,मानसिक और भावनात्मक रूप  से कनेक्टेड होते हैं.

कैसे पहचानें कि वही है आप का सोलमेट

  1. उस के संपर्क में आते ही मन को गहरा सुकून मिले : कोई शख्स जिस के साथ आप कंफर्टेबल, ओरिजिनल, पीसफुल और सिक्योर महसूस करते हैं. आप खुश रहते हैं. उस के आते ही आप के मन की बैचेनी दूर हो जाती है और हर तरह के काम में आप का मन लगने लगता है तो समझिये वही है आप का सोलमेट.
  2. ऐसा लगे कि लंबे समय से आप एकदूसरे को जानते समझते हो : पहली दफा जब आप उस से मिलते हैं तो वह अजनबी नहीं लगता. उस से बातें करने में आप नर्वस नहीं होते. लगता है जैसे आप इस शख्स से हर तरह की बात शेयर  कर सकते हैं.  कोई राज रखने की जरुरत नहीं लगती. आप उस पर पूरा विश्वास कर पाते हैं. ऐसी फीलिंगस  तभी आती है जब आप सोलमेट से मिलते हैं.
  3. ह्रदय से आवाज आती है कि यही है वहजिस की आज तक तलाश थी : भले ही आप की उम्र कितनी भी हो या कितनों  के प्रति आकर्षण महसूस कर चुके हो , आप शादीशुदा ही क्यों न हो , जिंदगी का एक मोड़ ऐसा जरूर आता है जब आप को किसी से मिल कर महसूस होता है कि बस यही है वह जिस की तलाश आप के हृदय को थी. उस के साथ आप जीवन में ठहराव और स्थिरता महसूस करते हैं और आप को मन की गहराइयों से महसूस होता है कि आप कभी उस से अलग ही नहीं थे.
  4. उस से मिलने के बाद आप हर मुश्किल का सामना करने में खुद को समर्थ पाते हैं : कोई शख्स जिस के करीब होने से ही आप अपने अंदर उर्जा, सकारात्मकता और साहस महसूस करें, हर चुनौती का सामना करने और मुश्किलों को हराने के लिए खड़े हो जाएं और ऐसा लगे जैसे वह शख्स अंधेरों के बीच रोशनी  के रूप में आप के साथ है ,वही आप का सोलमेट है.
  5. सुरक्षित महसूस करें : जब आप को लगे कि किसी शख्स के प्रति आप खुद खिंचे चले जा रहे हैं मानो कोई चुम्बकीय शक्ति आप दोनों के बीच है. आप उस के पास होते हैं तो हर तरह से सुरक्षित महसूस करते हैं तो समझिये वही आप का सोलमेट है.
  6. जरूरी नहीं कि वह खूबसूरत ही हो : सच्चे प्यार का अर्थ केवल फिजिकली अट्रैक्ट होना नहीं वरन मेंटली और इमोशनली जुड़ना है. यदि आप उस की आंखों में खुद को और अपनी आंखों में उसे देख सकते हैं तो समझिए वह आप का प्यार है ,सोलमेट है.  आप दोनों एकदूसरे से अलग नहीं वरन एक महसूस करते हैं.  जहां तू और मैं  है वहां अटैचमेंट या रिलेशनशिप हो सकता है पर यह गहरा नहीं होता और जल्द टूट भी सकता है. पर सोलमेट के साथ आप का रिश्ता कभी नहीं टूटता.
  7. कुछ पाने की चाह नहीं : जब किसी से मिल कर आप को और कुछ पाने की चाह न बचे. आप को उस से कुछ चाहिए नहीं फिर भी वह आप के जीवन में सब से महत्वपूर्ण होता है और ऐसा किसी कैमिकल लोचे की वजह से नहीं बल्कि ह्रदय से उठी आवाज की वजह से हो. आप चुपचापघंटों उस के साथ समय बिता सकते हैं, उसे देखते रह सकते हैं, करीब रह सकते हैं और दूर रह कर भी उसे महसूस कर सकते हैं तो समझिये वही आप का सोलमेट है.
Tags:
COMMENT