दिल टूटने की आवाज नहीं होती, पर दर्द बेहिसाब होता है. प्यार जैसी भावना में जब विश्वास टूटता है और साथ छूटता है, तो उस दर्द को बरदाश्त करने की ताकत तकरीबन खत्म हो जाती है. और यही वजह है कि प्यार में हारे लोग गहरे अवसाद में चले जाते हैं या जिंदगी से हार कर अपनी जान तक खत्म कर लेते हैं.

करीब 2 साल तक रिलेशनशिप में रहने के बाद मीता का उस के बौयफ्रैंड से ब्रेकअप हो गया. ब्रेकअप के पीछे की वजह जो भी हो, पर अपने बौयफ्रैंड से ब्रेकअप का सदमा मीता  झेल नहीं पाईर् और डिप्रैशन में चली गई. यह सोचसोच कर उस की आंखों से आंसू गिरते रहते थे कि जिसे दिलोजान से प्यार किया उसी ने उस का दिल तोड़ दिया, आखिर क्यों? उसे लगता था जैसे उस के शरीर से उस का एक अंग निकाल लिया गया हो, ऐसा दर्द महसूस होता था उसे. मर जाना चाहती थी वह और शायद मर भी गई होती अगर दोस्त और परिवार का सपोर्ट न मिला होता.

नेहा कक्कड़, काफी समय से अपनी लवलाइफ को ले कर सुर्खियों में हैं. कुछ समय पहले खबर आईर् थी कि नेहा का अपने बौयफ्रैंड हिमांश कोहली से ब्रेकअप हो गया है. ब्रेकअप के बाद से ही नेहा कक्कड़ इतना टूट चुकी थीं कि इंडियन आइडल के सैट पर जोरजोर से रोने लगती थीं. नेहा कक्कड़ ने खुलासा किया था कि वे डिप्रैशन में हैं. इस बात का खुलासा नेहा ने अपने इंस्टाग्राम पर किया था.

हाल ही में विक्की कौशल की पर्सनल लाइफ को ले कर खबरें आई थीं कि उन का अपनी गर्लफ्रैंड हरलीन सेठी से ब्रेकअप हो गया है. दोनों एक साल से रिलेशनशिप में थे. वजह तो अभी नहीं पता, पर पिंकविला की रिपोर्ट की मानें तो विक्की से अलग होने का सदमा हरलीन  झेल नहीं पा रही हैं और वे डिप्रैशन में चली गई हैं. अभी वे ज्यादा से ज्यादा समय अपने परिवार के साथ बिता रही हैं.

ये भी पढ़ें- बौयफ्रैंड बनाएं पेरैंट्स से न छिपाएं

कुछ अध्ययनों से संकेत मिलता है कि रोमांटिक ब्रेकअप के कारण 5 में से एक किशोर अवसादग्रस्त हो जाता है.

कंसल्टैंट साइकोलौजिस्ट डा. राशि आहूजा के अनुसार, आजकल के दौर में रिलेशनशिप बनना और उस का टूटना (खासतौर पर युवाओं में) बेहद आम हो गया है. साथ ही आजकल ब्रेकअप और तलाक आदि की संख्या में भी इजाफा हुआ है. ऐसे में बेहद जरूरी है कि हम खुद पर थोड़ा ध्यान दें. किसी रिश्ते के टूटने पर हमारे दिल और दिमाग पर गहरा असर पड़ता है. लेकिन जो चीज खत्म हो चुकी है उस बारे में खुद को कोसने और दोष देने से कोई फायदा नहीं है. ब्रेकअप के बाद अकसर लोग बाहर निकलना बंद कर देते हैं और लोगों से मेलजोल भी कम कर देते हैं जिस के कारण वे और अकेले पड़ जाते हैं और डिप्रैशन का शिकार हो जाते हैं.

हर कोई नहीं जानता है कि कैसे ब्रेकअप के दर्द से बाहर निकलें, ब्रेकअप होने के बाद क्या करें और इस कारण व्यक्ति और डिप्रैशन में चला जाता हैं. लेकिन रोमांटिक ब्रेकअप के बाद डिप्रैशन से कैसे उबरें, यह जानते हैं इन टिप्स से.

अपनी भावनाओं को दबाएं नहीं

रोना आप की कमजोरी का संकेत नहीं है, इसलिए आप को कभी भी अपनी भावनाओं को दबाना नहीं चाहिए. भावनाओं को बह जाने दीजिए. इस से आप बेहतर महसूस करेंगे.

प्यार से जुड़ी चीजों को देखना और सोचना बंद कर दें

ब्रेकअप के बाद वही सब प्यार से जुड़ी बातें दिमाग में न चाहते हुए आती रहती हैं. लेकिन इस का अब कोई फायदा नहीं. तो सब से पहले आप उन सब बीती बातों के बारे में सोचना बंद कर दें. क्योंकि आप के सोचने से कुछ बदलने वाला नहीं है. इसलिए उस प्यार से जुड़ी सारी बातें, जैसे एक्स बौयफ्रैंड के दिए गिफ्ट, उस के साथ बिताए वे लमहे, सब भुला दें. वह फेवरेट रैस्तरां, कौफी शौप, जहां आप दोनों अकसर जाते थे, वहां जाने के बजाय एक नई जगह खोजें. जिन गीतों को आप ने एकसाथ सुना, उन्हें सुनने से बचें. जितना हो सके अपने जीवन से उस की उपस्थिति को मिटा दें. और नए सिरे से सोचना शुरू कर दें.

दोस्तों से बातें करें

अधिकांश लोग ब्रेकअप के बाद अकेले रहना पसंद करते हैं. लेकिन जान लें कि सब से ज्यादा सुकून आप को अपने दोस्तों के पास ही मिलता है. ब्रेकअप के बाद अगर आप मानसिक रूप से परेशान हैं, तो दोस्तों से मिलें और उन से बातें करें. ब्रेकअप के बाद जब आप अपने मन की बात दोस्तों से शेयर करेंगे तो आप को मानसिक तौर पर शांति मिलेगी और आप ज्यादा सुकून महसूस करेंगे.

हौबी को बढ़ावा दें

हर इंसान की कोई न कोई हौबी होती है. लेकिन, आप यह बात नहीं जानते होंगे कि दुख में हमारी सोच और गहरी हो जाती है जिस के कारण क्रिएटिविटी और बढ़ जाती है. इसलिए आप अपनी पसंद की हौबी चुनें, जैसे किसी को संगीत सुनना अच्छा लगता है, किसी को डांस, तो किसी को पेंटिंग करना आदि. इस से आप का मन बहलेगा और बेकार की बातों से ध्यान हटेगा. आप चाहें तो अपनी मनपसंद जगह पर घूमने भी जा सकते हैं.

कैरियर को महत्त्व दें

यंग एज में प्यार या ब्रेकअप होने पर लोगों का पढ़ाई से मन उचटने लगता है, मतलब कि वे अपने कैरियर को महत्त्व देना कम कर देते हैं. मगर प्यार के साथ इंसान के लिए कैरियर भी बहुत जरूरी है. इसलिए अगर आप ब्रेकअप के गम से उबरना चाहते हैं, तो अपने कैरियर पर फोकस करें. अपनेआप उस तरफ से, जिस से आप को दर्द हो रहा है, ध्यान हटने लगेगा.

ये भी पढ़ें- अकेले सफर पर जाने से पहले जान लें ये बातें

नए दोस्त बनाएं

नए दोस्त बनाएं, खूब मजेदार वीडियो देखें, गेम खेलें. उन दोस्तों से दूरी बना लें जो आप को पुरानी बातें याद दिला कर दुखी करें. हो सकता है नए दोस्त पुराने गम को दूर कर दें और आप की जिंदगी में फिर से रौनक आ जाए.

परिवार के साथ समय बिताएं

परिवार का साथ हो तो बड़े से बड़ा गम और परेशानियां दूर हो जाती हैं. ब्रेकअप के बाद इंसान पूरी तरह से टूट जाता है, लेकिन परिवार का साथ हो तो बुरा वक्त भी निकल जाता है. इसलिए ब्रेकअप के बाद ज्यादा से ज्यादा समय अपने परिवार के साथ बिताइए.

अपनेआप को व्यस्त रखें

अकेलापन दुख ज्यादा देता है, इसलिए अकेले रहने से बचें. आप जितना खुद को व्यस्त रखेंगे, उतनी जल्दी ब्रेकअप के गम से उबर पाएंगे. ऐसे बहुत से काम होंगे जिन्हें आप रिलेशनशिप में रहने के दौरान टालते जाते होंगे. उन कामों की लिस्ट बनाएं और उन्हें पूरा करें. पुराने और भूल चुके दोस्तों को फोन करें, उन से मिलें, बातें करें, फिल्म देखने जाएं, मनपसंद किताबें पढ़ें. किताबें हमारी सब से अच्छी दोस्त होती हैं. कुछ भी सार्थक करते रहें, ताकि आप के पास खाली समय ही न बचे.

एक्सरसाइज करें

एक्सरसाइज स्ट्रैस को खत्म करने का सब से आसान तरीका है. इस से आप के मन को शांति मिलेगी और पौजिटिव सोच भी आएगी और आप ब्रेकअप की यादों से बाहर आ सकेंगे.

लक्ष्य बनाएं

जिंदगी न मिलेगी दोबारा, यह सच है. लेकिन सच्चा प्यार फिर नहीं मिल सकता, यह सच नहीं है. इस एक रिश्ते के खत्म हो जाने से जिंदगी खत्म नहीं हो जाती. जो बीत गया सो बीत गया. आप कभी भी यह मत सोचिए कि आप की लाइफ बरबाद हो गई. सोचिए, हो सकता है लाइफ बर्बाद होने से बच गई. आप को एक नया मौका मिला है अपनी लाइफ खुल कर जीने का. तो खोलिए अपने पंख और उड़ान भरिए जी भर कर किसी की परवा किए बगैर. जीवन में आगे बढ़ने के लिए कोई लक्ष्य बनाइए और उसे हासिल करने की ठान लीजिए. इंसान के वश में सबकुछ है, बस, सोच होनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- मस्ती भरा हो अकेला सफर

Tags:
COMMENT