आर्थिक मंदी घरों को बुरी तरह आहत कर रही है. जिस तरह घरेलू चीजों की खपत कम हुई है उस से साफ है कि घर चलाने वालों को कटौतियों पर मजबूर होना पड़ रहा है. पर सिर्फ रोनेधोने से काम नहीं चलेगा. सरकार गलत है पर यह सोच कर चलिए कि सरकारी फैसलों पर आप का वैसे ही कोई कंट्रोल नहीं है जैसे बारिश या गरमी पर नहीं. आज तो इस से हंस कर निबटने में चतुराई है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT