इंसान स्वार्थवश मानव तस्करी में लिप्त हो जाता है. जबकि, वह ज्ञान और विज्ञान का सामूहिक नतीजा है. वह कार्यकुशलता में अद्भुत है लेकिन उस की सोच उसे इंसान से हैवान बना देती है. और फिर वह किसी न किसी तरह की मानव तस्करी के अपराध में अपना नाम दर्ज करा लेता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT