जिंदगी रोशनी है, तो मौत अंधेरा. बड़ा ही मुश्किल फैसला होता होगा स्वयं अपने हाथों अपना वजूद मिटाने यानी आत्महत्या करने का. हैरत की बात यह है कि विश्व में सब से ज्यादा आत्महत्याएं भारत में होती हैं. यहां हर रोज औसतन 707 लोग अपनी मरजी से मौत को गले लगाते हैं. वर्ल्ड हैल्थ और्गनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में हर 40 सैकंड में एक व्यक्ति आत्महत्या कर लेता है. रिपोर्ट के अनुसार युवा और बुजुर्गों में आत्महत्या की प्रवृत्ति में तेजी से इजाफा हुआ है. आत्महत्या करने वालों में सब से ज्यादा तादाद कम और मध्य आयवर्ग के लोगों की है. यह करीब 39% है. आंकड़ों के मुताबिक भारत में 2012 में 2,58,075 लोगों ने आत्महत्या करी थी. इन में 99,977 महिलाएं थीं. भारत में प्रति 1 लाख की जनसंख्या पर आत्महत्या करने वालों का आंकड़ा 21.1% है. 2 वर्ष पहले बौलीवुड अभिनेत्री जिया खान ने प्यार में बेवफाई के चलते आत्महत्या कर ली थी. आदित्य पंचोली के बेटे सूरज के साथ उस के प्रेम संबंध थे.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT