प्रहरी: क्या समझ पाई सुषमा

पति के संरक्षण की छाया पत्नी के लिए क्या महत्त्व रखती है, शायद सुषमा समझ नहीं पाई थी, तभी तो तपन का एक प्रहरी की तरह उस का रक्षाकवच बनना उसे खलता था. लेकिन आज विभा की बातों से उस की आंखों पर पड़ा नासमझी का परदा अपनेआप उठने लगा.

गृहशोभा डिजिटल सब्सक्राइब करें
मनोरंजक कहानियों और महिलाओं से जुड़ी हर नई खबर के लिए सब्सक्राइब करिए
अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें