रेगिस्तान में छुट्टियां बिताने का अपना अलग ही आनंद है. इस में रोमांच तो है ही, साथ ही रोमांस भी है. डैजर्ट में लैंडस्केप के गोल्डन मैजिक को हिंदी फिल्मों में भी बखूबी देखा जा सकता है. ‘गाइड’, ‘सोनार किला’, ‘लमहे’, ‘रुदाली’, ‘डोर’, ‘बौर्डर’ और ‘पहेली’ जैसी अनेक हिंदी फिल्मों में मरुभूमि के रेतीले संसार की रेतीली धरती की शीतल रातों में तारों को निहारने का रोमांस दर्शाया गया है. राजस्थान के बहुत बड़े हिस्से में फैले रेगिस्तान में पर्यटन के विविध आयामों के दर्शन होते हैं. कहीं रेत के टीलों पर पैदल चलने का रोमांच होता है तो कहीं ऊंट की सवारी का लुत्फ उठाया जाता है तो कहीं डैजर्ट कैंपिंग के साथ लोकरंजनभरी प्रस्तुतियों की कल्चरल इवनिंग हर शाम को रोमांटिक बना देती है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT