हर इंसान गलतियां करता है और फिर उन गलतियों से सबक सीखता हैं. मगर बॉलीवुड की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहां कोई गलती करता ही नहीं है. फिल्म सफल हो गयी, तो सारा श्रेय खुद ले लेते हैं. फिल्म असफल हो गयी तो दर्शकों के सिर पर सारा दोष थोप दिया जाता है. लोग कहने लगते हैं कि दर्शकों ने फिल्म पसंद नहीं किया, हमने तो अच्छी फिल्म बनायी थी. हमारी फिल्म समय से पहले आ गयी. इस वर्ष 8 नवंबर के बाद से तो हर किसी को नोटबंदी बहाना मिला हुआ है.

4 वर्ष पहले की सफलतम फिल्म ‘कहानी’ की फ्रेंचाइजी वाली फिल्म ‘कहानी 2’ दो दिसंबर को प्रदर्शित हुई. पहले दिन फिल्म को बहुत बुरी ओपनिंग मिली. जबकि इस सप्ताह ‘कहानी 2’ अकेले बॉक्स ऑफिस पर प्रदर्शित हुई है. सूत्रों की मानें तो महज 15 प्रतिशत दर्शक ही थिएटर में नजर आए. मगर फिर शाम तक दर्शकों की संख्या बढ़ती गयी. आखिर इस फिल्म के साथ ऐसा क्यों हुआ?

वास्तव में फिल्म ‘कहानी 2’ की बुरी शुरूआत के लिए इस फिल्म से जुड़ा हर शख्स जिम्मेदार है. खासकर फिल्म की मार्केटिंग से जुड़े लोग. यह सभी शुरू से ही फिल्म ‘कहानी 2’ को ‘कहानी’ फ्रेंचाइजी की फिल्म, रहस्य व रोमांचक फिल्म, दुर्गारानी सिंह या अपहरण कर्ता जैसे श्लोगन के साथ प्रचारित करते रहे. जबकि फिल्म रोमांच व रहस्य के मामले में काफी कमजोर फिल्म है. यानी कि यह सभी लोग फिल्म के कमजोर पक्ष को ही प्रचारित करते रहे.

इस फिल्म का सबसे ज्यादा सशक्त पक्ष ‘बाल यौन उत्पीड़न’ है. मगर फिल्म में ऐसा कुछ है, जिसकी भनक फिल्म से जुड़े लोगों ने मीडिया व दर्शकों को फिल्म के प्रदर्शन से पहले नहीं लगने दी. फिल्म में बाल यौन उत्पीड़न पर भी बात की गयी है, इस बारे में फिल्म से जुड़े कलाकार विद्या बालन व अर्जुन रामपाल तथा निर्देशक सुजॉय घोष ने बात तक नहीं की. यह सभी रहस्य व रोमांच की ही बात करते रहे.

नोटबंदी के चलते वही दर्शक सिनेमाघर के अंदर गया, जिसे रहस्य रोमांच में रूचि है, पर उसे निराशा ही हाथ लगी. लेकिन जब इन दर्शको ने कहना शुरू किया कि फिल्म में बाल यौन उत्पीड़न जैसा मुद्दा भी है, तो ‘माउथ पब्लिसिटी’ के चलते शाम के बाद दर्शक बढ़े. इससे यह बात उभर कर आती है कि यदि ‘कहानी 2’ की प्रचार व मार्केटिंग टीम ने पहले दिन से ही इस बात को उजागर किया होता कि फिल्म में ‘बाल यौन उत्पीड़न’ का मुद्दा है, और इस मुद्दे पर खुलकर बात व बहस की होती, तो शायद फिल्म की पहले दिन इतनी बुरी हालत न होती, जितनी हुई है.

मजेदार बात यह है कि विदेशों में ‘कहानी 2’ को काफी पसंद किया गया. सूत्रों की मानें तो 2012 में प्रदर्शित ‘कहानी’ ने आस्ट्रेलिया में पहले दिन महज एक हजार 392 डॉलर कमाए थे. जबकि ‘कहानी 2’ ने पहले दिन 10 हजार 86 डॉलर कमाए. वहीं न्यूजीलैंड में ‘कहानी’ ने पहले दिन 983 डॉलर कमाए थे, जबकि ‘कहानी 2’ ने पहले दिन 1390 डॉलर कमाए हैं.