महिलाएं सुंदर दिखने के लिए हजारों सालों से ब्यूटी प्रसाधनों का इस्तेमाल करती आ रही हैं. मगर पहले ये ब्यूटी प्रौडक्ट प्राकृतिक चीजों जैसे हलदी, नीबू, मेहंदी, चंदन, फूलों इत्यादि से तैयार किए जाते थे, जिन के इस्तेमाल करने पर बिना किसी दुष्प्रभाव के सौंदर्यवर्धन होता था पर आज अधिकांश ब्यूटी प्रसाधनों में अनेक रसायनों का उपयोग होता है, जिन का स्किन पर दुष्प्रभाव हो सकता है.

इसके अलावा आज नामी कंपनियों की नकल के सस्ते ब्यूटी प्रसाधनों की भी बाजारों में भरमार है. साथ ही कुछ महिलाएं सस्ते के चक्कर में ब्रैंडेड ब्यूटी प्रौडक्ट न खरीद कर नकली व लोकल खरीद कर खुद ही मुसीबत से दोचार होती हैं. इन डुप्लीकेट ब्यूटी प्रसाधनों के निर्माण में घटिया और हानिकारक रसायनों का इस्तेमाल होता है.

आइए जानते हैं कि ब्यूटी प्रसाधनों को खरीदने से पहले किनकिन बातों पर गौर करना जरूरी है.

ब्यूटी प्रसाधनों के संभावित दुष्प्रभाव

ब्यूटी प्रौडक्ट में मौजूद विभिन्न रसायनों के प्रभाव से संवेदनशील स्किन वालों को श्वसन तंत्र की ऐलर्जी हो सकती है. स्किन में लालिमा, खुजली, दाने, चकत्ते आदि हो सकते हैं. फिर ऐलर्जी के कारण जुकाम, आंखों में जलन, लालिमा, पानी बहना यहां तक कि दमा भी हो सकता है.

अनेक ब्यूटी प्रसाधनों के निर्माण में कोलतार का उपयोग किया जाता है, जो ऐलर्जी कर सकता है. साथ ही यह कैंसर का कारक भी माना जाता है. इस के प्रभाव से मूत्राशय कैंसर, नौनहौजकिन लिंफोमा आदि की भी संभावना बढ़ जाती है.

कुछ चेहरे के दाग, मुंहासे, दाने मिटाने वाले ब्यूटी प्रौडक्ट के उपयोग से संवेदनशील स्किन वालों में अल्ट्रावायलेट किरणों के प्रति संवेदनशीलता उत्पन्न होने के कारण दाने, मुंहासे खत्म होने के बजाय और बढ़ सकते हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT