प्रतिस्पर्धा के इस युग में आज हर कोई अपने कैरियर को ले कर बेहद जागरूक हो गया है. हर किसी को चाहिए ऐसा कैरियर जो दौलत से ही नहीं, बल्कि शोहरत से भी भरा हो. मेकअप आर्टिस्ट का प्रोफाइल एक ऐसा ही प्रोफैशन है, जिस में आप कामयाबी की सीढि़यां चढ़ सकती हैं और साथ ही विश्व के ग्लैमर से भी जुड़ सकती हैं.

क्या है परफैक्ट

ग्लैमर और फैशन की लहर ने ब्यूटी इंडस्ट्री को काफी लोकप्रिय बना दिया है. तभी तो आज न केवल पढ़ीलिखी महिलाएं, बल्कि पुरुष भी इस कैरियर को अपना रहे हैं और सक्सैस भी हो रहे हैं. अगर आप भी क्रिएटिव हैं और सैलिब्रिटीज के ग्लैमर से जुड़ने का शौक रखती हैं, तो मेकअप आर्टिस्ट का प्रोफाइल आप के लिए परफैक्ट है.

कहां से सीखें

इस कला में माहिर होने के लिए आप के अंदर हुनर होना चाहिए. इस के लिए आप ऐसे इंस्टिट्यूट को चुनें जहां आप के अंदर इतनी काबिलीयत भर दी जाए कि आप किसी भी चेहरे पर अपनी कला का जादू चला सकें. आइए कुछ कोर्सेज के बारे में जानें:

आर्ट औफ मेकअप: आर्ट औफ मेकअप के तहत कलर थ्योरी, मेकअप के टूल्स और करैक्टिव मेकअप यानी नैननक्श को मेकअप के जरीए करैक्ट करने का ज्ञान दिया जाता है. कई प्रकार के अन्य मेकअप जैसे पार्टी, इंगेजमैंट, वाटरपू्रफ और ब्राइडल मेकअप करना भी सिखाया जाता है. इस कोर्स से जुड़े छात्राओं को प्रैक्टिकली निपुण भी बनाया जाता है.

मीडिया मेकअप: आर्ट औफ मेकअप के अलावा दूसरा ऐडवांस कोर्स है मीडिया मेकअप, जिस में बेसिक के साथसाथ पोर्टफोलियो, टीवी ऐंड फिल्म, सिलिकौन, फैंटेसी, रैंप और स्टेज मेकअप में परफैक्ट बनाया जाता है. इस के अलावा हेयरस्टाइल में बन, विग्स और फौल्स हेयर लगाने का ज्ञान भी दिया जाता है.

पर्मानैंट मेकअप: पर्मानैंट मेकअप का कोर्स कर आप तरक्की की नई दास्तां लिख सकती हैं. आज की भागदौड़ भरी जिंदगी और व्यस्त कार्यक्रमों के बीच हमें अपने मेकअप के लिए समय निकाल पाना बहुत कठिन होता है. इस कोर्स के तहत त्वचा का विश्लेषण करना और पर्मानैंट मेकअप की मशीनों के बारे में बताया जाता है. इस के अलावा आईब्रो शेपिंग, पर्मानैंट काजल, आईलाइनर, लिपलाइनर, लिपकलर लगाना सिखाया जाता है. इस कोर्स के अंदर कुछ सेमीपर्मानैंट मेकअप जैसे नेल कल्चर, नेल आर्ट और आईलैश पर्मिंग भी सिखाई जाती है. इस सब के साथसाथ छात्राओं को पर्मानैंट कलरिंग की तकनीक के बारे में भी बताया जाता है.

एअरब्रश मेकअप: एअरब्रश मेकअप में मशीन द्वारा मेकअप की कला सिखाई जाती है. पारंपरिक मेकअप में जहां हम स्पंज और ब्रश का इस्तेमाल करती आ रही हैं, वहीं इस तकनीक में एअरगन का प्रयोग कर मेकअप किया जाता है, जिस की वजह से यह मेकअप पारंपरिक मेकअप से कहीं ज्यादा हाइजीनिक होता है.

जौब औप्शंस

इन कोर्स को करने के बाद आप के लिए न सिर्फ सैलून बल्कि ऐडवर्टाइजिंग, फैशन, फिल्म, टीवी, कौस्मैटिक कंपनी व लाइफस्टाइल जर्नलिज्म आदि के दरवाजे खुल जाते हैं. आर्ट औफ मेकअप को करने के बाद आप किसी अच्छे सैलून में जौब कर सकती हैं या फिर अपना मेकअप स्टूडियो भी खोल सकती हैं. यदि आप पर घरपरिवार की जिम्मेदारियां हैं तो आप घर पर खुद का पार्लर भी खोल सकती हैं. मीडिया मेकअप में ऐक्सपर्ट बन कर आप ऐडवर्टाइजिंग, फैशन, टीवी और फिल्म कैंपेन के लिए फ्रीलांस काम कर के भी अच्छी कमाई कर सकती हैं.                

– गुंजन गौड़, ब्यूटी ऐक्सपर्ट व ऐल्प्स ऐकैडमी की ऐग्जीक्यूटिव डायरैक्टर

VIDEO : हौलीवुड सेलेब्रिटी सिंगर सेलेना गोमेज़ लुक

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

COMMENT