फूलों सी नाजुक त्वचा पर पतली धारियां और झुर्रियां नजर आने लगती हैं, तो मन सहम उठता है, क्योंकि झुर्रियां यानी बुढ़ापे की ओर बढ़ते कदम. आमतौर पर झुर्रियां त्वचा की उम्र बढ़ने का पहला साफ संकेत होती हैं. त्वचा में ढीलापन वौल्यूम के लौस होने का संकेत है. ऐसे में कुछ बातों का खयाल रखा जाए तो समय से पहले त्वचा की उम्र बढ़ने से रोक सकती हैं.

त्वचा की एजिंग के कई कारण होते हैं. कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जिन का हम कुछ नहीं कर सकते हैं, लेकिन अन्य कारकों को हम प्रभावित कर सकते हैं.

एक चीज जिसे हम नहीं बदल सकते वह है उम्र बढ़ने की स्वाभाविक प्रक्रिया. इस की अहम भूमिका होती है. समय के साथ हम सभी को अपने चेहरे पर बारीक रेखाएं दिखने लगती हैं. यह स्वाभाविक प्रक्रिया है. यौवन ढलने पर त्वचा पतली और सूखी होने लगती है. जब ये परिवर्तन होते हैं, तो हमारे जीन बड़े पैमाने पर इसे नियंत्रित करते हैं. इस प्रकार की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को चिकित्सकीय भाषा में इंट्रिसिकएजिंग कहा जाता है. इस पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं होता.

1. यों थामें स्किन एजिंग

त्वचा पर असर डालने वाले अन्य एजिंग कारकों को हम प्रभावित कर सकते हैं. पर्यावरण और जीवनशैली दोनों हमारी त्वचा को समय से पहले उम्रदराज बना सकते हैं. कुछ खास कदम उठा कर हम इस प्रकार के उम्र बढ़ने के प्रभाव को धीमा कर सकते हैं. अपोलो अस्पताल के डा. अनूप धीर समय से पहले त्वचा की एजिंग घटाने के कुछ उपाय बताते हैं:

ये भी पढ़ें- 20 टिप्स: बालों को ऐसे बनाएं खूबसूरत

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT