जब आप प्रैगनैंसी प्लान कर रही होती हैं और इसी बीच आप को जब पता चलता है कि आप ने कंसीव कर लिया है तो आप की खुशी का ठिकाना नहीं रहता. ऐसा लगने लगता है जैसे पूरी दुनिया ही बदलने वाली हो.

यही बात स्किन केयर प्रोडक्ट्स पर भी लागू होती है. भले ही आप की कैबिनेट मेकअप के सामान से भरी हुई हो, जो आप की स्किन को खूबसूरत व ग्लोइंग बनाने का काम करता हो, लेकिन प्रैगनैंट होते ही आप के शरीर की तरह आप की स्किन में भी कई तरह के बदलाव आने शुरू हो जाते हैं, हारमोंस का संतुलन बिगड़ने की वजह से स्किन में नमी कम होने के साथसाथ स्किन ज्यादा सैंसिटिव जो होने लगती है.

इसलिए अब न तो आप पहले की तरह अपने रूटीन को फौलो कर पाती हैं और न ही स्किन केयर रूटीन को. अब आप को जरूरत होती है अपने स्किन केयर रूटीन में उन ब्यूटी प्रोडक्ट्स को शामिल करने की, जो प्रैगनैंसी में आप के व आप के बच्चे के लिए सही व सेफ हो.

अनेक रिसर्च में यह साबित हुआ है कि प्रैगनैंट महिला को प्रैगनैंसी के दौरान कैमिकल्स से दूरी बना कर रखना बहुत जरूरी है. तो जानते हैं उन कैमिकल्स के बारे में कौस्मैटोलौजिस्ट पूजा नागदेव से:

रैटिनौइड्स

अच्छी त्वचा, प्रजनन संबंधी व आंखों की अच्छी हैल्थ के लिए विटामिन ए बहुत ही आवश्यक तत्त्व माना जाता है. लेकिन जब हम इसे लेते हैं या फिर स्किन के जरीए अवशोषित करते हैं तो हमारा शरीर इसे रैटिनोल में बदल देता है. बहुत सारे ऐंटीएजिंग स्किन केयर प्रोडक्ट्स में रैटिनौइड्स होते हैं, जो एक तरह का रैटिनोल होता है, जिस में ऐक्ने व झुर्रियों से लड़ने की क्षमता होती है. रैटिनौइड्स डैड स्किन को ऐक्सफौलिएट कर के तेजी से कोलेजन के निर्माण में मदद करता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT