टैटू बनवाने की परंपरा बहुत पुरानी है, पुराने जमाने की बात करें तो शादी के बाद अक्‍सर पति-प‍त्‍नी एक दूसरे का नाम गुदवाते थे. तो कुछ लोग अपने बच्‍चों के हाथों में अपने नाम का टैटू गुदवाते थे, जिससे यदि बच्‍चे गायब हो जाएं तो उन्‍हें पहचानने में आसानी रहे.

आजकल युवाओं के बीच फिर से ये ट्रेंड खासा लोकप्रिय हो रहा है. युवा नाम लिखवाने के साथ-साथ अलग-अलग तरह की डिजाइन्स भी अपने शरीर पर बनवाते हैं. यहां तक कि टैटू गुदवाना अब स्टाइल सिंबल बन गया है. लेकिन इसके कई खतरे भी हैं. टैटू कई तरह की संक्रामक बीमारियों का घर होते हैं. टैटू बनवाते समय सुरक्षा, सफाई और स्वास्थ्य को लेकर सावधानियां बरतनी जरूरी है.

इंक की क्‍वालिटी

टैटू आर्टिस्‍ट विकास और मिक्‍की मलानी के मुताबिक, आजकल छोटे और लो कॉस्ट आर्टिस्ट चाइनीज इंक का इस्तेमाल कर रहे हैं, जो काफी खतरनाक है. इससे बचने के लिए हमेशा अच्छे आर्टिस्ट से टैटू बनवाना चाहिए.

टीका लगवाएं

आपको जानकारी के लिए बता दें कि टैटू बनवाने से पहले लोगों को हेपेटाइटिस बी का टीका लगवा लेना चाहिए. इसके अलावा आपको किसी स्पेशलिस्ट से ही टैटू बनवाना चाहिए जो इस कला में माहिर हो. स्पेशलिस्ट उपकरण और साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखते हैं. जिस जगह पर टैटू बनवाएं वहां पर रोजाना एंटीबायोटिक क्रीम जरूर लगाते रहें.

टैटू बनाने के उपकरण

आपको यह भी देखना है कि टैटू आर्टिस्ट की दुकान साफ सुथरी हो, उसके पास टैटू से जुड़े जरूरी उपकरण हों, जैसे दस्ताने, मास्क, सुई और ये सभी स्टर्लाइज्ड भी हों. अगर आपको किसी तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्या है, जैसे हृदय रोग, एलर्जी, डायबीटीज़ तब आप टैटू बनवाने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह मश्विरा कर लें. अगर आपकी त्वचा में कल्यॉड जैसी एलर्जी होने की संभावना है तो आप परमानेंट टैटू नहीं बनवाएं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT