वेलेंटाइन वीक (Valentine week) में अगर आप खूबसूरत स्किन पाना चाहती हैं तो स्किन को मौइस्चराइज रखना जरूरी है.

विंटर सीजन में स्किन रूखी होने लगती है. उस की चमक गायब हो जाती है. कई बार इस कारण स्किन में खिंचाव भी होने लगता है. ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि स्किन के हिसाब से मौइस्चराइजर का प्रयोग करें. जिया आहूजा मेकअप स्टूडियो ऐंड सैलून की ब्यूटी और स्किन ऐक्सपर्ट जिया आहूजा कहती हैं कि स्किन अलगअलग तरह की होती है. ऐसे में जरूरी होता है कि स्किन केयर के लिए जो मौइस्चराइजर प्रयोग किया जा रहा हो वह स्किन के मुताबिक हो.

औयली स्किन

औयली स्किन ज्यादा सैंसिटिव होती है. इसलिए इस स्किन के लिए वाटर बेस्ड या जैल बेस्ड मौइस्चराइजर का ही प्रयोग करना चाहिए.

नौर्मल स्किन

नौर्मल स्किन बहुत ही क्लीन और क्लीयर टैक्स्चर वाली होती है. इस की खास बात यह होती है कि इस की ज्यादा केयर करने की भी जरूरत नहीं होती है. नौर्मल स्किन के लिए मौइस्चराइजर न ज्यादा औयली हो और न ही पूरी तरह से जैल बेस्ड. इस टाइप की स्किन पर नौर्मल स्किन लोशन भी अच्छी तरह काम करता है.

ये भी पढ़ें- 4 टिप्स : सेंधा नमक के इस्तेमाल से पाएं बेदाग स्किन

ड्राई स्किन

इसे सब से अधिक केयर की जरूरत होती है. ड्राई स्किन में पहले से ही मौइस्चर की कमी होती है, जिस की वजह से यह स्किन बहुत स्ट्रैच भी करती है. अगर इस स्किन की प्रौपर केयर न की जाए तो इस में क्रैक्स भी पड़ने लगते हैं.

ड्राई स्किन में रिंकल्स भी जल्दी पड़ते हैं. इस के लिए औयल बेस्ड मौइस्चराइजर परफैक्ट रहता है, क्योंकि यह उतना ही मौइस्चर प्रोवाइड करता है, जितनी ड्राई स्किन को जरूरत होती है. अगर स्किन ज्यादा ड्राई हो तो नियमित मौइस्चराइजर का प्रयोग करें.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT