हम सबने सल्फेट का नाम तो सुना ही है और अपने घरों में कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इनको पाया भी है. पर क्या आप जानते हैं कि ये होते क्या हैं? सतलिवा की को - फाउंडर नम्रता रेड्डी सिरुपा बताती हैं कि सल्फेट एक प्रकार के डिटर्जेंट होते हैं. अपने शैंपू के पीछे आप कई प्रकार के सल्फेट के नाम पड़ सकते हैं. इसे पेट्रोलियम और प्लांट ऑयल्स से बनाया जाता है. इससे शैंपू और बाकी प्रोडक्ट्स में झाग बनाने की क्षमता आती है और यही झाग आपकी स्किन और स्कैल्प से गंदगी को निकालने का काम करते हैं . लेकिन शायद आप इस बात से अनजान हैं कि सल्फेट युक्त स्किन , हेयर प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल करने से ये आपकी स्किन के नेचुरल आयल को भी खत्म करने का काम करते हैं.  जिसके इस्तेमाल के कारण आपकी त्वचा व बाल धीरेधीरे डल व बेजान होने लगते हैं. यहां तक कि अगर आप सल्फेट को कलर किए हुए बालों में भी इस्तेमाल करते हैं तो इसमें आपके कलर को भी हलका व उड़ाने की भी क्षमता होती है. इससे आप जान ही गए होंगे कि ये आपके लिए कितना नुकसानदायक साबित हो सकता है. इसलिए आज खास ब्यूटी ब्रैंड्स सल्फेट फ्री प्रोडक्ट्स बनाने पर ज्यादा जोर दे रही हैं.

बता दें कि सल्फेट फ्री प्रोडक्ट्स उसे कहते हैं , जिसमें सल्फेट नहीं होता है. लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप अपने बालों व स्किन को उस तरह से क्लीन नहीं कर पाएंगे. जबकि सल्फेट फ्री प्रोडक्ट्स भी उतनी ही सफाई देते हैं , बस उनके इस्तेमाल के दौरान उतने झाग नहीं बनते, जितने सल्फेट  प्रोडक्ट्स में बनते हैं. इनके इस्तेमाल से आपकी त्वचा और बालों के नेचुरल आयल, स्किन सेल्स और कलर भी सुरक्षित रहते हैं. सल्फेट फ्री शैंपू आपके बालों से गंदगी को निकालकर उसके आयल और पीएच लेवल को बैलेंस में रखने का काम करता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT