सिनेमा में आ रहे बदलाव के चलते अब यथार्थपरक घटनाक्रमों पर न सिर्फ फिल्में बन रही हैं, बल्कि अब फिल्में तमाम सामाजिक मुद्दों पर सवाल भी उठा रही हैं. जी हां!लड़की के साथ छेड़छाड़ होने पर सख्त सजा का कानून है, मगर जब किसी लड़के या पुरूष के साथ एक लड़की बलात्कार करे, तो इस गुनाह पर कानून मौन क्यों रहता है? इसी सवाल पर फिल्मकार नयन पचोरी एक हास्य व रोमांचक फिल्म ‘‘रेस्क्यू’’लेकर आ रहे हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT