पूरे विश्व में चाय एक ऐसी चीज़ होती है जो पानी के बाद सबसे ज्यादा पी जाती है. ग्रीन-टी बहुत सालों से use की जा रही है .जापान और चाइना में तो ये एक नार्मल पेय की तरह है. आप तो जानते ही है की जापान और चाइना के लोगों की स्किन बहुत ही ग्लोइंग होती है और उसके पीछे एक बहुत बड़ा श्रेय ग्रीन-टी को जाता है. हममे से बहुत से लोग जानते है की ग्रीन-टी सिर्फ वजन  कम करने के लिए है. लेकिन हम आपको बता दें की हाल ही में किये गए अध्ययनों से पता चला है कि ग्रीन टी  वजन घटाने में कारगर तो है ही साथ ही साथ ये और भी बड़ी बीमारियों जैसे कैंसर , टाइप 2 डायबिटीज़  और अल्जाइमर जैसे रोगों  तक पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकती है.

आइये जानते है इसके और भी फायदे-

1- हृदय रोग को कम करती है ग्रीन टी

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की एक रिपोर्ट के अनुसार, ग्रीन-टी ह्रदय  के लिए फायदेमंद होती है.इसका नियमित  सेवन करने से दिल की बीमारियों से बचा जा सकता है. ग्रीन-टी में पॉलीफेनॉल्स भरपूर मात्रा में होता है. पॉलीफेनॉल्स असल में एंटी-ऑक्सीडेंट व एंटी फ्लेमेटरी होते हैं. जो ब्लड- प्रेशर को कम करने में मदद करते है. और उसकी वजह से दिल की बीमारियाँ कम होती हैं. ग्रीन-टी हानिकारक कोलेस्ट्रॉल, जिससे ह्रदय रोग का खतरा रहता है, उसके स्तर को भी कम करती है.

ये भी पढ़ें- 6 लक्षण जो बताएं विटामिन की कमी के बारे में

2- वजन कम करने के लिए मददगार है ग्रीन-टी

ग्रीन-टी वजन कम करने में फायदेमंद होती  है. इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट, मेटाबॉलिज्म को बढाकर वजन कम करने में मदद करता है. वजन घटाने के मामले में ग्रीन-टी पीने के साथ-साथ अपनी डाइट पर ध्यान देना भी जरूरी है. साथ ही नियमित रूप से व्यायाम व योग करना भी जरूरी है.

3- डायबिटीज को कम करती है ग्रीन-टी

ग्रीन-टी से डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है, क्योंकि इसमें मौजूद पॉलीफेनोल्स (Polyphenol) शरीर में ग्लूकोज के स्तर को संतुलित करते हैं. ग्रीन-टी, एंजाइम गतिविधि को रोकता है, जिससे रक्त प्रवाह में अवशोषित चीनी की मात्रा कम हो जाती है. ग्रीन-टी खासकर टाइप-2 डायबिटीज में ज्दाया फायदेमंद है, क्योंकि इसमें एंटी-डायबिटिक गुण मौजूद हैं. अगर आप diabetic है तो ग्रीन टी लेना शुरू कर दे.

4- रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाती है ग्रीन टी

आज के समय में हम बहुत जल्दी बीमार हो जाते है क्योंकि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कमजोर हो गयी है. ग्रीन-टी में मौजूद कैटेकिन (Catkin) रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मुख्य भूमिका निभाता है.

5- मेमोरी पॉवर को बढाती  है और अल्जाइमर के जोखिम को कम करती है ग्रीन-टी

ग्रीन-टी के सेवन से आपकी मेमोरी पॉवर तो बढती ही है साथ ही साथ कई मानसिक बीमारियों का जोखिम भी कम होता है.अल्जाइमर उन्हीं कुछ बीमारियों में से एक है. उम्र के साथ होने वाली मानसिक बीमारी अल्जाइमर आम होती जा रही है. इसमें दिन-प्रतिदिन व्यक्ति की याददाश्त कमजोर होने लगती है और निर्णय लेने की क्षमता कम होने लगती .कई अध्ययनों से पता चलता है कि ग्रीन-टी में मौजूद कैटेकिन इस  बीमारी के  जोखिम को कम कर सकता है.

ये भी पढ़ें- मौसम का असर पीरियड्स पर

6- कैंसर से बचाती है ग्रीन-टी

नेशनल कैंसर इंस्टिट्यूट के मुताबिक, ग्रीन टी में पाया जाने वाला पॉलीफेनोल (विशेष रूप से कैटेकिन) एंटी-कैंसर गुणों के लिए जिम्मेदार हैं. ग्रीन-टी में मौजूद पॉलीफेनोल (Polyphenol) इम्यून सिस्टम की प्रक्रिया को भी ठीक करता है. एक और अध्ययन के अनुसार, ग्रीन-टी कुछ खास प्रकार के कैंसर (फेफड़े, त्वचा, स्तन, लिवर, पेट और आंत) से हमारी रक्षा करती है. ग्रीन-टी में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट कैंसर की कोशिका के प्रसार को रोकते हैं.

Tags:
COMMENT