अगर आप अपनी फिटनेस को बनाए रखना चाहते हैं तो पहले जान लें कि ग्रीन टी कब और किस समय लेनी चाहिए.

हमेशा याद रखे की ग्रीन-टी को कभी खाली पेट न ले. न ही ब्रेकफास्ट से पहले लें और न ही डिनर के बाद .ग्रीन टी हमेशा डे टाइम में ले .कोशिश करें की आप ग्रीन टी break fast के बाद या लंच के बाद ले.

अगर आपको weight कम करना है तो  खाना खाने से 1 घंटे पहले ग्रीन टी पीये . इससे  आपको भूख कम लगेगी . लोग अक्सर weight कम करने के चक्कर में 3,4,5, कप ग्रीन-टी पीना शुरू कर देते है .पर हमें ऐसा नहीं करना है इसको सही टाइम पर सही मात्रा  में लेना है.

अगर आपको weight gain करना है तो आप खाना खाने के 1 घंटे बाद ग्रीन-टी पिएं क्योंकि अगर आप खाने के बाद ग्रीन टी लेंगे  तो ये आसानी से आपके खाने को पचा देगी  है और आपको फिर थोड़ी देर में भूख लगने लगेगी .जिससे आपकी कैलोरी बढ़ेगी और आप आसानी से weight gain कर लेंगे.

ये भी पढ़ें- ग्रीन-टी क्यों है हेल्थ के लिए फायदेमंद

ग्रीन-टी बनाने का सही तरीका-

गैस पर  1 कप पानी बॉईल करे फिर गैस को बन्द कर दे .अब  उसमे 1 स्पून ग्रीन टी डालकर 30 सेकंड से 1 मिनट के लिये ढक दे .फिर छानकर पी ले.

अगर आप ग्रीन-टी के tea-bag इस्तेमाल करते  है तो 1 कप गरम पानी में 1 tea बैग 30 सेकंड से 1 मिनट के लिए डालकर छोड़ दें फिर उसको बहार निकल कर ग्रीन टी पिए. याद रखें की ज्यादा देर तक tea bag को गरम पानी  में नहीं रखना है.1 मिनट बहुत है.याद रखे  ग्रीन टी हमेशा फ्रेश पिए इसे कभी स्टोर न करें .

ग्रीन-टी को ज्यादा स्ट्रोंग न करे .हम सोचते है की ज्यादा ग्रीन-टी डालेंगे तो हम ज्यादा जल्दी पतले होंगे. पर ज्यादा ग्रीन-टी पीने से नींद नहीं आना, चक्कर आना,पेट में गड़बड़ी, ये सब बीमारियाँ भी शुरू हो जाती हैं.

ये भी पढ़ें- 6 लक्षण जो बताएं विटामिन की कमी के बारे में

ऐसे में रखे ग्रीन-टी  से दूरी-

  • अनीमिया के शिकार लोगों को ग्रीन-टी से दूरी रखनी चाहिए.
  • अगर आप एसिडिटी से परेशान रहते है तो ग्रीन-टी ज्यादा बिलकुल न पियें.
  • प्रेग्नेंट या ब्रैस्ट फीडिंग कराने वाली महिलाएं ,डॉक्टर से सलाह के बाद ही इसका सेवन करें.
Tags:
COMMENT