पूरे वर्ल्ड में हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर एक ऐसी बीमारी है, जिससे ज्यादातर लोगों की अचानक मौत हो जाती है. इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है, क्योंकि इसकी एलार्मिंग फैक्टर बहुत कम होती है. दरअसल इसमें रक्त की धमनियों में खून के प्रवाह को बनाए रखने के लिए दिल को नौर्मल से ज्यादा काम करना पड़ता है, जिससे दिल कमजोर पड़ने लगता है. हाइपरटेंशन को अगर सामान्य न बनाया जाए, तो कार्डियक अरेस्ट,स्ट्रोक, किडनी फैल्योर और कई बिमारियां होने का खतरा रहता है. इस बारे में डौ.भूटानी क्लीनिक के डौक्टर अमिश भूटानी कहते है कि आज की बदलते लाइफस्टाइल की वजह से इस तरह के रोगों  की संख्या ज्यादा है, जिसमें खान-पान और आराम लोगों को नहीं मिल पाता. लोग पूरे समय काम पर बिजी रहते है. वर्ल्ड हेल्थ और्गनाइजेशन ने एक रिपोर्ट में बताया है कि प्रोसेस्ड फूड बाजार में आने से खाने में नमक की मात्रा में बढ़त होने की वजह से इस बीमारी में वृद्धि हुई है.

नार्मल ब्लड प्रेशर 120/80 एमएम औफ मरक्युरी होता है, इससे अधिक होने पर हाइपरटेंशन होने का चांस रहता है. नार्मल रेंज से अधिक होने पर तुरंत डौक्टर की सलाह लें, क्योंकि इसकी वजह आपकी स्ट्रेस, मोटापा, अधिक मात्रा में नमक खाने में लेना, नशे की लत का होना, धूम्रपान आदि हो सकता है. इसे कम करने के कुछ आसान टिप्स ये हैं…

  1. वौक करना है जरूरी

ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए टहलना सबसे अच्छा विकल्प है, रोज टहलने और वर्कआउट करने से ह्रदय का खून पंप करने की शक्ति बढती है, 90 से 150 मिनट की एरोबिक से भी अच्छा फल मिलता है.

ये भी पढ़ें- जानें हेल्थ के लिए क्यों वरदान है टमाटर

  1. सही खाना है जरूरी

हमेशा विटामिन और मिनरल युक्त भोजन करें, लो कैलोरी और लो कार्ब डाइट ब्लड प्रेशर को कम करती है, हेल्दी फ़ूड आपके अंगो और ऊतको को पोषण देती है,

  1. गलत आदतों से बचें

धूम्रपान बंद करें, हाइपरटेंशन के लिए ये सबसे घातक होता है, धुम्रपान से तुरंत ब्लड प्रेशर और ह्रदय गति बढ़ता है, इसके अलावा तम्बाकू में पाए जाने वाले पदार्थ खून की धमनियों को ख़राब कर देती है.

  1. मोटापा हाइपरटेंशन के लिए है सबसे खतरनाक

मोटापा हाइपरटेंशन के लिए सबसे खतरनाक होता है, कम वजन ब्लड प्रेशर को कम करने में भी सहायक होती है,इसलिए नियमित जीवन शैली ,जिसमें सही डाइट और वर्कआउट का शामिल होना बहुत जरुरी होता है.

  1. ब्लडप्रेशर चेक करवाना है जरूरी

अगर आप हाइपरटेंशन के शिकार है तो नियमित अपना ब्लडप्रेशर चेक करवाएं,ताकि आप अचानक आये कार्डिएक अरेस्ट से बच सकें.

  1. न हों नशे के शिकार

अगर आप किसी नशे के शिकार है, तो उसे कम करने की कोशिश करें, क्योंकि पूरे विश्व में 16 प्रतिशत लोग एल्कोहल लेने की वजह से हाई ब्लडप्रेशर के शिकार है,हालांकि कुछ शोधकर्ता ये भी कहते है कि एल्कोहल हार्ट को प्रोटेक्ट करती है, पर ये पूरी तरह से निश्चित नहीं है.

ये भी पढ़ें- कितना और कैसे लें खाने में प्रोटीन

  1. हाइपरटेंशन को बढ़ाता है स्ट्रेस या तनाव

स्ट्रेस या तनाव, अधिक काम के प्रेशर  से तनाव बढ़ता है, इसलिए स्ट्रेस को मेनेज करने के बारें में सोचने की जरुरत होती है, इसके लिए गाने सुने, मनपसंद दोस्तों से बातें करें, अपनी हौबी को निखारें आदि

 हाइपरटेंशन को कम करने के कुछ घरेलू टिप्स

  • खाने में लहसुन का प्रयोग करें, इससे शरीर का रक्त संचार सही रहता है,
  • अजवाईन ब्लडप्रेशर और कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करता है, चुटकी भर अजवाईन हर दिन खाने की कोशिश करें,
  • मूली के पत्तों में एंटी हाइपरटेंशन के तत्व मौजूद होते है जो ब्लडप्रेशर को नियंत्रित कर दिल को मजबूत बनाता है,
  • पालक में मौजूद नाइट्रेट ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करने में लाभकारी होता है, इसे भोजन में शामिल करें,
  • नंगे पांव हरी घास पर 10 से 15 मिनट चलने पर ब्लडप्रेशर नार्मल हो जाता है.

ये भी पढ़ें- बिजी लाइफस्टाइल में रखें आंखों का खास ख्याल

Edited by Rosy

Tags:
COMMENT