फाइलेरिया यानि हाथी पाँव दुनिया की दूसरे नंबर की ऐसी बीमारी है जो व्यक्ति को अपंग बना देती है. दुनिया की 52 देशों में करीब 85.6 करोड़ लोग इस बीमारी से पीड़ित है. लिम्फेटिक फाइलेरिया को ही आम भाषा में फाइलेरिया कहा जाता है. इस बारें में दिल्ली की नेशनल वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम की डिप्टी डायरेक्टर डॉ. छवि पन्त जोशी कहती है कि ये बीमारी काफी गंभीर बीमारी है, जो मच्छरों के काटने से होती है. इस बीमारी को सालों से इग्नोर किया गया है. उष्णकटिबंधीय क्षेत्र के इस बीमारी को फ़ैलाने वाले मच्छर क्युलेक्स प्रजाति के होते है.

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT