कोई भी व्यक्ति चौबीस घंटे चुस्त नहीं रह सकता है. रात में कम से कम आठ घंटे की नींद शरीर और दिमाग को ऊर्जावान बनाये रखने के लिए नितांत जरूरी है, मगर दिन में काम के दौरान महसूस होने वाली छोटी-छोटी नींद को भी हरगिज नजरअंदाज न करें. ये चंद मिनटों की झपकी शरीर और दिमाग को दुरुस्त रखने के लिए बेहद जरूरी है, जिसे पावर नैप कहते हैं. फ्रेश फील करने के लिए पावर नैप अति आवश्यक है. पावर नैप यानि दिन के वक्त दस मिनट से लेकर आधे घंटे तक की नींद, जो शरीर और दिमाग को कार्य करने के लिए पुन: ताजगी से भर देती है.

अक्सर औफिस में लंच के बाद आलस्य या नींद हावी हो जाती है. ऐसे में कुछ काम करते ही नहीं सूझता. बार-बार आंखें बंद हो जाती हैं. मन करता है कि कोई एकांत कोना मिल जाए जहां कुछ देर की झपकी ले जी जाये. इसी झपकी को वैज्ञानिक पावर नैप कहते हैं, जिसे ले लेना बहुत जरूरी है. इससे आपका काम बिल्कुल भी प्रभावित नहीं होता है, बल्कि पावर नैप लेने के बाद आप दुगनी ऊर्जा के साथ तेजी से अपना काम निपटा सकते हैं.

take a power nap between work

ये भी पढ़ें : जानिए कैसे स्मार्टफोन्स बर्बाद कर रहे हैं नींद

पावर नैप कितनी देर

आपको फिर से तरोताजा करने वाली पावर नैप जरूरत के अनुसार 10 मिनट, 20 मिनट या फिर एक घंटा तक की हो सकती है. आदर्श पावर नैप बीस मिनट की मानी जाती है. लगातार 7 से 8 घंटे काम करने के बाद कुछ देर के लिए ली गई एक पॉवर नैप आपको दोबारा घंटों के लिए रिचार्ज कर देती है और आप बेहतर तरीके से काम कर पाते हैं. इंसान पूरे दिन में दो बार ऐसा महसूस करता है कि उसे नींद आ रही है. यह मानव शरीर का एक स्वाभाव है. आप चाहे भी तो इसे रोक नहीं सकते हैं. दिन में ली गई एक झपकी वास्तव में पूरी रात की नींद के बराबर आपको एनर्जी देती है. अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार 26 मिनट तक कौकपिट में सोने वाला पायलट बाकी पायलटों की तुलना में  54 प्रतिशत सतर्क और नौकरी के प्रदर्शन में 34 प्रतिशत ज्यादा बेहतर देखा गया है. नासा में नींद के विशेषज्ञों ने नैप के प्रभावों पर शोध करते हुए पाया कि नैप लेने से व्यक्ति के मूड, सतर्कता और प्रदर्शन में काफी सुधार होता है. दस मिनट की झपकी आपको पूरी रात की नींद जैसा फ्रेश महसूस करवा सकती है. आप 10 से 20 मिनट के बीच लिए गए पावर नैप से  बिना सोए रात भर की नींद जैसा फायदा उठा सकते हैं. खास बात यह है कि 10 मिनट की झपकी लेने से मांसपेशियों के बनने से लेकर याद्दाश्त तक मजबूत होने में सहायता मिलती है. दोपहर के वक्त लंच के बाद 20 से 30 मिनट की पावर नैप सबसे अच्छी है, मगर ज्यादा नींद आती हो तो भी एक घंटे से ज्यादा नहीं सोना चाहिए, वरना आपके शरीर की जैविक घड़ी प्रभावित हो जाएगी और रात की नींद में खलल पड़ेगा.

take a power nap between work

नैप के लिए शान्त कोना ढूंढें

पावर-नैप से अधिकतम लाभ पाने के लिए, आपको एक शांतिपूर्ण, ठंडी और आरामदायक जगह ढूंढनी चाहिए, जहां दूसरे लोग आपको परेशान न करें. औफिस में कौन्फ्रेंस रूम का कोना हो या कार पार्किंग स्थल, दस से पंद्रह मिनट यहां खामोशी से आंख बंद करके बिताये जा सकते हैं. लगभग 30 प्रतिशत कौरपोरेट औफिस में लंच के बाद एम्प्लौइज को आधा घंटे का वक्त पावर नैप के लिए दिया जाता है. इससे उनके काम की गति और क्षमता में बढ़ोत्तरी होती है. अगर आप किसी स्कूल-कौलेज में पढ़ाते हैं, तो वहां की लाइब्रेरी इस काम के लिए सबसे बेहतर जगह है, जहां शांति और खाली जगह होती है.

ये भी पढ़ें : महिलाओं में तेजी से बढ़ रही है बांझपन, ऐसे करें इलाज

आप सड़क पर जा रहे हों और आपको झपकी लगी हो तो किसी पार्किंग स्थल पर कार खड़ी करके दस-पन्द्रह मिनट की झपकी ले लेनी चाहिए. अक्सर देखा गया है कि कार ड्राइव करने वाले लोग नींद आने पर तम्बाकू-गुटका आदि का सेवन नींद भगाने के लिए करते हैं, जो सेहत के लिए बहुत खतरनाक है. इससे बेहतर है कि नींद आने पर किसी सेफ जगह पर गाड़ी खड़ी करके झपकी मार ली जाए, इससे नींद तो भागती ही है, शरीर और दिमाग पहले से अधिक ऊर्जा महसूस करने लगते हैं.

कम रोशनी का स्थान चुनें

take a power nap between work

पावर नैप लेते वक्त लाइट औफ कर दें. बेहतर हो कि आप कोई अंधेरा कमरा चुनें ताकि आंख बंद करते ही आपको नींद आ जाए. अंधेरा होने से आपकी आंखों की मांसपेशियों को आराम मिलेगा और दिमागी तनाव भी दूर होगा. यदि अंधेरा स्थान उपलब्ध न हो तो आप स्लीप-मास्क या धूप का चश्मा आंखों पर चढ़ा लें और आराम से सो जाएं. इसके अलावा जिस जगह आप पावर नैप लें वह स्थान बहुत गर्म या बहुत ठंडा नहीं होना चाहिए. आपकी नैपिंग आरामदायक हो, इसलिए एक शीतल लेकिन आरामदायक जगह तलाश करिये. ज्यादातर लोग 65 डिग्री फारेनहाइट या 18 डिग्री सेल्सियस के आसपास सबसे अच्छी नींद लेते हैं. यदि आपकी नैपिंग की जगह बहुत ठंडी है, तो एक कंबल रखें या आरामदायक जैकेट साथ रखें, जिसे पहन कर आप आराम महसूस करें. यदि आपकी नैपिंग की जगह बहुत गर्म है तो कमरे में एक पंखा रखने पर विचार करें.

ये भी पढ़ें : वरुण धवन से जानिए उनके 6 फिटनेस सीक्रेट्स

शांतिदायक संगीत सुनें

take a power nap between work

रिलैक्सिंग म्यूजिक आपके दिमाग को सही स्थिति में ला सकता है. यदि आप अपनी कार में पावर नैप ले रहे  हैं, तो कोई हल्का संगीत लगा लें, इससे नींद अच्छी आती है. हल्की आवाज में वौकमैन पर भी हल्का म्यूजिक सुन सकते हैं. सिर्फ इन्ट्रूमेंटल म्यूजिक भी शरीर और दिमाग को तरोताजा करने में कारगर साबित होता है. अगर आप काम की वजह से ज्यादा तनाव में हैं और आंख बंद करने पर भी आपको नींद नहीं आती है तो कुछ मेडिटेशन करें. आंख बंद करके एक से सौ तक गिनती गिनें या कोई मनपसंद गीत गुनगुनाएं. इसके बाद आपको जल्द ही नींद आ जाएगी और जागने पर दिमाग तनावमुक्त महसूस होगा.

नैप की अवधि

आप खुद तय करें कि आप कितनी देर तक नैप लेना चाहते हैं. एक पावर नैप 10 से 30 मिनट के बीच का होना चाहिए. वैसे तो, छोटे और लंबे नैप्स भी विभिन्न लाभ प्रदान कर सकते हैं. आपका शरीर खुद आपको बता देगा कि आपको कितनी देर तक नैप लेनी है. बस उस समय-सीमा का पालन आप हर दिन समान रूप से करें. यदि आपके पास अधिक समय नहीं है, लेकिन आप इतनी नींद में हैं कि आप जो कुछ भी कर रहे हैं, उसे जारी नहीं रख पा रहे हैं, तो दो से पांच मिनट की नैप, जिसे “नैनो-नैप” कहा जाता है, आपको नींद से निपटने में मदद कर सकती है.

ये भी पढ़ें : वजन कम करने के लिए करें घी का सेवन

पांच से बीस मिनट के लिए नैप आपकी सतर्कता, स्टैमिना, और मोटर-परफौर्मेंस बढ़ाने के लिए बहुत अच्छी होती है. इन नैप्स को “मिनी-नैप्स” के रूप में जाना जाता है. बीस मिनट की नींद बहुत आदर्श नैप मानी जाती है. एक पावर-नैप, मस्तिष्क को अपने शौर्ट-टर्म मेमोरी में एकत्रित अनावश्यक जानकारी से छुटकारा पाने में भी मदद करती है, और मसल-मेमोरी में भी सुधार लाती है. बीस मिनट की पावर नैप आपके नर्वस सिस्टेम में मौजूद इलेक्ट्रिकल सिग्नल्स, आपको अधिक आराम किया हुआ और सतर्क महसूस कराने के अलावा, आपके मसल-मेमोरी में शामिल न्यूरौन्स के बीच के संबंध को भी मजबूत करता है, जिससे आपका मस्तिष्क तेजी से और अधिक सटीक तरीके से काम करने लगता है. यदि आप बहुत से महत्वपूर्ण तथ्यों को याद करने की कोशिश कर रहे हैं, उदाहरणस्वरूप किसी परीक्षा के लिए, तो पावर-नैप लेना विशेष रूप से उपयोगी हो सकता है.

पावर नैप से पहले कौफी पियें

take a power nap between work

यह बात अजीब लग सकती है क्योंकि कौफी का इस्तेमाल नींद को दूर भगाने के लिए किया जाता है. परन्तु बीस मिनट की पावर नैप लेने से पहले अगर आप कौफी का एक प्याला पी लेते हैं तो यह कौफी आपके शरीर में तुरंत अवशोषित नहीं होती है. कौफी पहले आहार नाल से गुजरती है और फिर शरीर में अवशोषित होने में उसे 45 मिनट का वक्त लगता है. इस दौरान आप बीस-पच्चीस मिनट की पावर नैप ले लें तो जागने के बाद शरीर में मौजूद कौफी आपको और ज्यादा ताजगी से भर देगी और आप दुगनी ऊर्जा के साथ अपने काम का संचालन कर सकते हैं. इस प्रयोग से आप 7 से 8 घंटे तक बिना रुके काम कर सकते हैं.

Tags:
COMMENT