जैसे स्मार्टफोन एप्लिकेशन्स आपके फोन के फंक्शन्स और फीचर में इजाफा करती है, आपके स्मार्टफोन को और स्मार्ट बनाती हैं, वैसे ही कुछ स्मार्टफोन ऐप्स ऐसी भी होती हैं जो आपके फोन और प्राइवेसी दोनो के लिए खतरनाक हैं. इनमें से कई तो आपके फोन में प्री इंस्टौल भी आती हैं. ऐसे में आज हम आपको कुछ खतरनाक ऐप्स के बारे में अगाह करने वाले हैं जिनमें से अगर एक भी आपके फोन में हो तो अपने फोन और प्राइवेसी की खातिर उन्हें तुरंत डिलीट कर दें.

1. Cam Scanner

खतरनाक ऐप्स की बात करें तो ताजा मामला एक ऐसी ऐप को लेकर सामने आया है जो लगभग हर किसी के फोन में पाई जाती है. इसका नाम है कैम स्कैनर. ये एप डौक्यूमेंट्स को स्कैन करने के काम में आती है और लोग अच्छी खासी संख्या में इसका इस्तेमाल भी करते हैं. अगर आपके फोन में भी ये ऐप है तो इसे तुरंत डिलीट कर दें क्योंकि इसमें वायरस सपॉट किया गया है. साइबर सिक्योरिटी कैसपर्सस्कीने यूज़र्स को अपने ब्लौग पोस्ट में इसे लेकर चेतावनी भी दी है. बता दें कि इस ऐप के लेटेस्ट वर्जन में मैलिशस मॉड्यूल Dropper.AndroidOS.Necro.n पाया गया है. ये बिना यूजर की परमिशन के उसके फोन में मैलवेयर इंस्टॉल करता है, जो बैंकिंग डीटेल्स चुराने से लेकर फेक ऐड्स पर क्लिक करवाने और फेक सब्सक्रिप्शंस के लिए साइन-अप करवाने जैसे काम सकता है.

ये भी पढ़ें- 6 टिप्स: लीविंग रूम सजाते समय न करें ये गलतियां

2. UC Browser

क्रोम के बाद स्मार्टफोन्स पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला ब्राउजरयूसी ब्राउजर है. अगर आप भी इंटरनेट सर्फ करने के लिए इस ऐप का इस्तेमाल करते हैं तो तुरंत बंद कर दें और फोन से इसे अनइंस्टौल कर दें. दरअसल इस ऐप के सर्वर चीन में हैं और इस ऐप के जरिए यूजर का डेटा चीनी सर्वरों पर भेजा जाता है. कुछ समय पहले इसी वजह से गूगल ने इसे प्ले स्टोर से भी हटा दिया था. डेटा की सेफ्टी की वजह से भारतीय सेना ने भी सैनिकों को इन ऐप का इस्तेमाल करने से मना कर रखा है.

3. Anti Virus, Cleaner, Battery Saver Apps

 इस तरह के नाम वाली हजारों ऐप आपको गूगल प्ले स्टोर पर मिल जाएंगी और इनमें से एक ना एक ऐप लगभग हर किसी के फोन में मिलेगी. अगर आप के फोन में भी ऐसी कोई भी ऐप है तो जान लें कि आज स्मार्टफोन्स इतने स्मार्ट हैं कि उन्हें फोन की मैमोरी मैनेज करने, बैटरी बचाने या वायरस से सुरक्षित रहने के लिए किसी तीसरी ऐप की जरूरत नहीं है. हां जब यहां एक बात का ध्यान रखें कि जब तक आप सिर्फ प्ले स्टोर से ऐप्स डाउनलोड कर रहे हैं तब तक आपके फोन को वायरस का भी कोई खतरा नहीं है.

ये भी पढ़ें- किराए के घर में इन 4 चीजों से बचना है जरूरी

4. WhatsApp Duplicates

कई लोग बेफिजूल के फीचर्स के लिए व्हाट्सऐप के डुप्लीकेट वर्जन इस्तेमाल करते हैं. इस तरह की रिस्क किसी को भी नहीं लेनी चाहिए क्योंकि व्हाट्सऐप के नाम से प्ले स्टोर पर थोक के भाव से मौजूद ऐप्स आपकी प्राइवेट चैट्स और जानकारी के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. ऐसे में व्हाट्सऐप का सिर्फ ओरिजनल वर्जन ही इस्तेमाल करें.

Tags:
COMMENT