हमारी भारतीय संस्कृति में साड़ी एक मात्र एक ऐसा पहनावा है, जिसे पहनने के लिए ना तो उम्र की कोई सीमा निर्धारित होती है और ना ही पहनने का कोई ख़ास कारण. मतलब ये कि, साड़ी पहनने के लिए किसी भी तरह के मौके का इंतजार नहीं करना होता है. निकेता ठाकर, फाउंडर और डिजाइनर, सिवी द बेस्पोक बुटीक का मानना है कि साड़ी हर महिला के लिए सबसे अच्छा पहनावा होता है. आप इसे किसी भी तरह के फंक्शन में पहनकर खुद को प्रभावशाली दिखा सकती हैं. हालांकि महिला की शारीरिक बनावट कैसी भी हो, लेकिन साड़ी पहनने के बाद हर महिला खूबसूरत दिखने लगती है. साड़ी हम महिलाओं का सबसे पसंदीदा पहनावा है, और ये हमारे लिए सबसे सही पोशाक में से एक क्यों है, इसके कई कारण है.

1. मिक्स एंड मैच का फायदा-

साड़ी पहनने में हर महिला या लड़की को एक फायदा तो जरुर मिलता है. वो फायदा है स्टाइलिंग को लेकर मिक्स एंड मैच को विकल्प. जी हां एक साड़ी ब्लाउज पहनकर बोर हो गयी हैं, तो आप मिक्स एंड मैच का विकल्प चुन सकती हैं. मतलब साड़ी को दूसरे ब्लाउज या ब्लाउज को दूसरी साड़ी के साथ मैच करके पहन सकती हैं. ये अपने आप में ही एक अलग एक्स्पेरियंस होगा.

2. अपनी पसंद का करें स्टाइल-

सुपर सेक्सी दिखने की चाह हो या क्यूट दिखने की चाह हो. साड़ी हर मामले में आपको लाजवाब बनाती है. साड़ी ना सिर्फ आत्मविश्वास बढ़ाती है बल्कि, आपका व्यक्तित्व और पर्सनालिटी उभारती है. आप साड़ी को जैसे मन हो वैसे पहनें. साड़ी की स्टाइलिंग के लिए आप अलग-अलग वेबसाइट और फैशन विशेषज्ञों से मदद भी ले सकती हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT