डौक्टर प्रीती प्रवीण खरे (भोपाल)

दुख की रात विफल करता, सुख की भोर धवल करता

मुश्किल सारी हल करता

धूप हमारी वो हर लेता, छांव हमेशा हमको देता

धोखा हमसे कभी न करता, सच्चाई के रस्ते चलता

दिल में वो उल्लास जगाये, ख़ुशियों वाले दीप जलाये

मुस्कानों से प्यार लुटाये, साथ सदा त्यौहार मनाये

महकाये संसार हमारा,  दूर करे अंधियार हमारा

विश्वासों का सार हमारा, मित्र ही है घर बार हमारा

ये भी पढ़ें- Friendship Day Selfie: हर रिश्ते से बढ़कर है दोस्ती

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT