बेहतर भविष्य और अच्छी नौकरी की चाह में घर से दूर रहने वाले युवाओं की संख्या दिनबदिन बढ़ती जा रही है. चूंकि अत्याधुनिक समाज में आए तकनीकी विकास ने आज संभावनाओं के नए द्वार खोल दिए हैं, लिहाजा यह दूरी बच्चों और उन के परेरैंट्स के लिए ज्यादा माने नहीं रखती है, क्योंकि मोबाइल, इंटरनेट, सोशल साइट्स के जरीए ये अपनों के संपर्क में लगातार बने रहते हैं. मगर घर से दूर रहने वाले युवाओं के लिए बाहर इतना आसान भी नहीं होता. कई बच्चे बाहर रह कर होम सिकनैस का शिकार हो जाते हैं, जिस से अपनी पढ़ाई या नौकरी में अपना सौ प्रतिशत नहीं दे पाते. यह होम सिकनैस उन की कार्यक्षमता को प्रभावित करती है, लिहाजा सफलता पाने की दौड़ में वे पीछे रह जाते हैं.

आखिर क्या है होम सिकनैस

बाहर रहने वाला बच्चा जब घर की याद कर अकेलापन महसूस करे और तनावग्रस्त रहने लगे तो यह लक्षण होम सिकनैस का है. घरपरिवार से अत्यधिक लगाव की स्थिति में बच्चा कहीं बाहर रहने से घबराता है और यदि बाहर रहना पड़े तो वह बारबार बीमार पड़ जाता है या अपनी पढ़ाई और अन्य कार्यों के प्रति उदासीन हो जाता है. यह स्थिति बच्चे के मानसिक व शारीरिक विकास को तो बाधित करती ही है, उस की कार्यक्षमता पर भी बेहद बुरा प्रभाव डालती है. यह समस्या ज्यादातर उन युवाओं के समक्ष खड़ी होती है जो पहली बार घरपरिवार से दूर रह रहे होते हैं या फिर वे इस का शिकार आसानी से बनते हैं जो कुछ अधिक संवेदनशील होते हैं.

ये भी पढ़ें- क्या आपको पता है महिलाओं के ये 12 सीक्रेट

होम सिकनैस के कारण

दरअसल, घर पर रहने वाले बच्चे छोटेछोटे कामों के लिए मां को आवाज लगाते नजर आते हैं. घर के इसी सहज और सुविधाजनक माहौल के चलते वे आसान जिंदगी जीने के आदी हो जाते हैं. मगर बाहर रहने के दौरान जब उन्हें अपने सभी कार्य स्वयं ही करने पड़ते हैं तो ये कार्य उन्हें बोझ लगते हैं और उन की झल्लाहट का कारण बनते हैं. दूसरी तरफ कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं जो मम्मीपापा या भाईबहनों को याद कर उदास हो जाते हैं. अपने घरपरिवार से अत्यधिक जुड़ाव के कारण उन्हें बाहर रहना और वहां के माहौल में एडजस्ट करना बहुत मुश्किल लगता है.

ऐसी स्थिति में क्या करें

कहते हैं न कि कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है. तो जब आप अपनी आरामतलब जिंदगी को छोड़ कर घर से बाहर निकलेंगे तभी चुनौतियों से जूझने की क्षमता आप के अंदर विकसित हो सकेगी. यह जान लें कि जितनी अधिक मेहनत उतना बेहतर भविष्य. यह सही है कि अपनों से दूर रहना आसान नहीं. फिर भी घबराने के बजाय अगर समाधान ढूंढ़ा जाए और कुछ बेहतर विकल्पों की तलाश की जाए तो घर से दूर अकेलेपन की यह राह इतनी भी कठिन नहीं प्रतीत होगी. आइए, जानें कि घर की याद जब बहुत सताने लगे तो क्या करें:

अपना मनोबल ऊंचा रखें: यह माना कि आप अपने घर से दूर हैं और घर वालों से बारबार नहीं मिल सकते, लेकिन आज के दौर में उन के संपर्क में आसानी से रहा जा सकता है. मगर इस का यह मतलब भी नहीं कि आप अपनी पढ़ाई या जौब पर ध्यान न दे कर बारबार उन्हें कौल करते रहें. यदि हो सके तो रोज शाम को अपने काम से फ्री हो कर आप घर फोन कर सब की खैरखबर ले सकते हैं, साथ ही अपने काम व प्रोग्रैस के बारे में उन्हें बता सकते हैं.

ये भी पढ़ें- पति और परिवार से पहले खुद से करें प्यार

नए दोस्त बनाएं: अपने कालेज, कोचिंग या कार्यस्थल पर नए दोस्त बनाएं. उन के साथ कुछ समय व्यतीत करें. आसपास की जगहों पर उन के साथ घूमने का प्रोग्राम भी बना सकते हैं. इस से आप का अकेलापन दूर होने के साथ ही उस जगह विशेष के बारे में भी आप को नई जानकारी प्राप्त होगी. वैसे भी दोस्तों के साथ क्वालिटी वक्त बिता कर हम तरोताजा महसूस करते हैं.

खुद को व्यस्त रखें: अगर पढ़ाई या जौब करने के बाद आप के पास कुछ समय बचता है तो आप उस समय का प्रयोग अपना शौक पूरा करने में कर सकते हैं. इस के अलावा अपने पासपड़ोस में दूसरों की मदद करने में भी आप अपना खाली वक्त बिता सकते हैं. किसी की सहायता कर के आप को बेइंतहा खुशी महसूस होगी और इस से आप खुद को बहुत ऊर्जावान भी पाएंगे.

खुद से एक मुलाकात: अकेलेपन के इस सुअवसर का लाभ उठाएं और इस खूबसूरत वक्त में खुद से एक मुलाकात करना न भूलें. वैसे भी बाद में जीवन की बढ़ती व्यस्तता और आपाधापी में यह मौका हमें कम ही मिल पाता है. कहने का सार सिर्फ यह है कि अपनी अच्छाइयों और कमियों से रूबरू हो कर इस समय आप अपने व्यक्तित्त्व के सुधार की ओर अग्रसर हो सकते हैं.

अकेलेपन के शिकार तो नहीं: अकेलापन अवसाद की स्थिति की निशानी है, जबकि व्यक्ति के अकेले रहने का वक्त अपनेआप को कामयाब बनाने का एक स्वर्णिम अवसर है. अत: स्वयं को प्रेरित कर अपना आत्मविश्वास बढ़ाएं. हर उस पल जब आप अकेला महसूस करें खुद को दिलासा दें कि यह स्थिति सदा के लिए नहीं है और जल्द ही आप अपने निश्चित मुकाम पर पहुंचेंगे.

इस तरह इन उपायों को अमली जामा पहना कर अपनी सफलता की राह में आड़े आ रही होम सिकनैस नामक बाधा से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- ससुर के साथ ऐसा हो आपका व्यवहार

 

Tags:
COMMENT