कोई माता- पिता नहीं चाहता है कि उसकी संतान कुछ भी गलत सीखे. पर जाने अनजाने कभी न कभी हम माता- पिता से ऐसी कई चीज़े हो जाती है जो हमारे बच्चो के मष्तिस्क पर गलत छाप छोड़ जाती हैं.क्योंकि ऐसा माना जाता है की बच्चो का मष्तिस्क एक कोरे कागज की तरह होता है और इस कोरे कागज़ पर कुछ भी लिखा जाता है तो वो हमेशा के लिए अमिट हो जाता है. क्योंकि बचपन की बाते और आदतें आसानी से हमारे दिमाग से नहीं जाती है.

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT