मार्च 2020 में जब कोरोना का पदार्पण हुआ तो पहली बार लॉक डाउन, क्वारन्टीन,  और आइसोलेशन जैसे अनेकों नवीन शब्दों से हम सबका परिचय हुआ. लॉक डाउन के अनलॉक होते होते मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ आम जनता की जिंदगी भी पटरी पर आने लगी. नववर्ष 2021 में देश में पॉजिटिव  केसेज की संख्या भी कम होने लगी थी और मानो जेहन से कोरोना का भय जाने सा लगा था कि तभी मार्च के अंतिम सप्ताह में मेरी युवा बेटी को मामूली से बुखार ने आ घेरा, चूंकि वर्ष भर से कोरोना से सम्बंधित सभी नियमों का पालन ईमानदारी से किया जा रहा था इसलिए इसे महज सीजनल मानकर प्रारम्भिक उपचार किया परन्तु जब दो दिन तक बुखार ने बार बार अपना प्रकोप दिखाया तो कोरोना टेस्ट करवाया आश्चर्यजनक रूप से बेटी की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT