अर्जेंटीना में चाइल्ड लेबर कौन्फ्रैंस के दौरान ब्यूनस आयर्स में मुझे एक नई चीज दिखी. वहां की सड़कें लुटियन की दिल्ली की तरह की चौड़ी और पेड़दार हैं. वहां कुछ युवा 10-15 कुत्तों को एकसाथ ले जाते दिखे. कुत्ते एकदूसरे के साथ सट कर चल रहे थे और युवा का आदेश चुपचाप मानते दिख रहे थे. मुझे कम से कम 14 ऐसे युवा कुत्तों के झुंडों के साथ दिखे मेरे ड्राइवर ने बताया कि यहां यह आम है. युवा डौग वाकिंग कंपनियों में काम करते हैं. वहां उन्हें कुत्तों को मैनेज करना सिखाया जाता है. उन का पखाना उठा कर थैली में रखना, उन से बातें करना और कहीं चोट लगने पर फर्स्ट एड करना भी सिखाया जाता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT