लेखक- सरस्वती रमेश

बचपन में अकसर एक कथा मां सुनाया करती थीं. एक सती स्त्री के पति को कोढ़ हो गया था. सती अपने पति को टोकरी में बैठा कर नदी के किनारे नहलाने जाया करती थी. एक दिन वहीं नदी किनारे एक वेश्या नहा रही थी. कोढ़ी को वेश्या से प्रेम हो गया. उस के बाद से कोढ़ी उदास रहने लगा. जब पत्नी ने उस की उदासी का कारण पूछा तो कोढ़ी ने उसे सबकुछ बता दिया. पत्नी ने पति को धैर्य बंधाया और उस की मदद करने का आश्वासन दिया.

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT