स्किन एजिंग एक प्राकृतिक प्रक्रिया होती है जो साइकोलॉजिकल और एनवायरनमेंट फैक्टर के संयोजन से होती है.  कई ख़राब स्किनकेयर की आदतों से भी जल्दी से स्किन बूढ़ी होने लगती है. प्रायः लापरवाही और जागरूकता की कमी से हम ऐसी स्किनकेयर या लाइफस्टाइल आदतों को अपनाते है जिससे कॉलेजन टूटता है, इससे स्किन में जलन होती है और  फिर इस वजह से फाइन लाइन्स, धब्बे और बढ़े हुए छिद्रों से  बुढ़ापा  जल्दी झलकने लगता है.

अगर आप जल्दी बुढ़ापे के लक्षणों का अनुभव कर रहे है तो नीचे कुछ स्किनकेयर और लाइफस्टाइल  से सम्बंधित ख़राब आदतों के बारें में बताया जा रहा है जिससे बुढ़ापा जल्दी आता है.

बहुत ज्यादा स्क्रबिंग (रगड़ना)

स्क्रबिंग और एक्सफोलिएट करने से स्किन के लिए लाभ होता है क्योंकि इससे स्किन के मृत कोशिकाओं और स्किन की उपरी परत की गंदिगी से छुटकारा पाने में मदद मिलती है. हालांकि अगर इसे बहुत ज्यादा किया जाए तो इससे लाभ के बदले नुकसान भी होता है.  बहुत ज्यादा जोर से एक्सफोलिएट करने या चेहरे पर ज्यादा स्क्रब करने से भी स्किन में तेज जलन हो सकती है. समय के साथ ज्यादा स्क्रबिंग करने से लंबे समय तक सूजन और फाइन लाइंस और झुर्रियां हो सकती है. अगर आप फेशियल स्क्रब का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसे रगड़ने के बजाय अपने चेहरे पर धीरे से इस्तेमाल करें. इसके अलावा हफ्ते में 2-3 बार स्क्रबिंग करना पर्याप्त होता है.

ये भी पढ़ें- 5 लिपस्टिक ब्रैंड्स जो हैं बजट फ्रैंडली 

मॉइस्चराइज़र और सनस्क्रीन लगाना भूलें

जब बात उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने की आती है, तो मॉइस्चराइज़र और सनस्क्रीन बहुत महत्वपूर्ण हो जाते हैं. हममें से ज्यादातर लोग इन चीजों को लगाते हैं. स्किन में नमी या हाइड्रेशन की कमी से जल्दी बुढ़ापा झलकता है. अक्सर कई लोग जिनकी स्किन सूखी नहीं होती है, वे हर दिन मॉइस्चराइज़र का उपयोग नहीं करते है उन्हें लगता है कि उन्हें इसकी जरुरत नहीं है. यहीं वह गलती करते है. स्किन के लिए मॉइस्चराइज़र जरूरी है. अगर आपकी स्किन ऑयली है तो आप एक वाटर बेस्ड या हल्का मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल कर सकते है. लेकि इसका लगातार करें. ठीक इसी तरह यूवी रेडिएशन के संपर्क में आने से बचने के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल करने से समय से पहले बुढ़ापा नहीं नज़र आता है क्योंकि इससे कोलेजन नही टूटता है. आपकी डेली स्किनकेयर रूटीन में चेहरे को धीरे-धीरे धोने के बाद  मॉइस्चराइजर और  सनस्क्रीन लगाना शामिल होना चाहिए. क्रीम, सीरम और ह्यालूरोनिक एसिड बेस्ड प्रोडक्ट जैसे कि प्रोह्फिलो  इंजेक्शन भी समय से पहले उम्र बढ़ने को रोकने में मदद कर सकते हैं और यहां तक कि ये बुढ़ापे के लक्षणों को भी कम करते है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT