दिवाली से ही शादियों का मौसम शुरू हो जाता है. इसलिए क्या करें क्या नहीं का फौलो करें और पाएं चेहरे की चमक इस मौसम में भी. चमक और सुंदर दिखने की ललक के कारण ज्यादातर महिलाएं,सैलून में उत्सुकता से  फेशियल करवाती दिखती हैं. इसके बाद आमतौर पर स्किन की जलन और रैशेज़ जैसी समस्याओं से उनका सामना होता है. हर किसी को न यह याद रखना चाहिए कि आपके डी-डे से कम से कम 6 दिन पहले वैक्सिंग की जानी चाहिए क्योंकि यह आपकी स्किन में जलन और लालिमा पैदा कर सकता है. हालांकि कैमिकल पीलिंग  स्किन के लिए एक अच्छा इलाज़ माना जाता है. लेकिन आप यदि पहली बार यह ट्रीटमेंट ले रहे हैं , तो शादी के वक़्त इस पीलिंग ट्रीटमेंट को नहीं  लेना चाहिए. प्री ब्राइडल मेकअप के लिए सबसे अधिक लिये जाने वाले उपचार में से कुछ इस प्रकार हैं :

1. हाइड्राफेशिअल

हाइड्राफेशिअल, हाइड्राडर्मब्रेशन प्रक्रिया को इंगित करता है. जो अन्य सभी प्रक्रियाओं का एक समामेलन है! जैसे कि उचित सफाई, एक्सफोलिएशन, एंटीऑक्सिडेंट, एक्सट्रैक्शन, हाइड्रेशन आदि. यह मुख्य रूप से चेहरे पर काले धब्बे, झुर्रिओं, बढ़े हुए रोमछिद्रों, तैलीय स्किन, मुँहासे और यहां तक ​​कि हाइपर पिगमेंटेशन को कमकरने में काम आता है.

ये भी पढ़ें- Diwali 2019: फेस्टिवल में ऐसे बनाएं स्किन को खूबसूरत

2. पीलिंग

आपकी स्किन की सभी मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए पीलिंग का काम किया जाता है. इससे आपकी स्किन से सारी गंदगी साफ हो जाएगी.

3. स्किन में निखार

स्किन ब्राइटनिंग मुख्य रूप से लाइटनिंग और फेडिंग को संदर्भित करता है. हमेशा याद रखना चाहिए कि स्किन में निखार लाने के साथ-साथ डार्क स्किन टोन भी लिए भी इस ब्राइटनिंग प्रोसेज किया  जा सकता है.

4. लेज़र हेयर रिडक्शन

यह याद रखना चाहिए कि लेज़र हेयर रिडक्शन और अन्य  उपचार 6 महीने पहले शुरू कर देने चाहिए.

5. डरमल फिलर्स

यदि स्किन झोलदार है तो डरमल फिलर्स से सुधार होता है. डरमल फिलर्स से झुर्रियों, कम पलकें, फूलेेंगाल  और नासोलैबियल लाइनों से छुटकारा मिलता है.

6. बोटौक्स

यह अपनी आइब्रो को उठाने के लिए और एक भारी जॉलाइन बोटोक्स प्रदान करने के लिए उपयोग किया जाता है. यदि आपके चेहरे पर झुर्रियां हैं, तो उन्हें ठीक करने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है.

7.डबल चिन

डबल चिन की समस्या काफी आम है और अक्सर कई लोगों के लिए अप्रिय अनुभव है. केबेल्ला चेहरे की खामियों को सुधारने और एक दोहरी ठुड्डी के वसा से छुटकारा पाने के लिए एक आशाजनक एवं गैर-सर्जिकल उपचार है.

8. होंठ फिलर

महिलाओं की सुंदरता बढ़ाने वाले महत्वपूर्ण पार्टस में से एक उनके होंठ हैं. जैसे ही उम्र बढ़नी शुरू होती है,  होंठों की स्किन के आसपास प्राकृतिक रूप से झुर्रियाँ शुरू हो जाती हैं. इस समस्या निजात पाने के लिए, कॉस्मेटिक   सर्जन लिप कॉन्टूरिंग सर्जरी  लेकर आएं हैं.

ये भी पढ़ें- diwali 2019: ब्यूटीफुल स्किन के लिए अपनाएं ये 20 ब्यूटी टिप्स

9. अंडर आई ट्रीटमेंट

आंखों के नीचे काले घेरे होने से आंखें थकी और बुझी लगती हैं. हालाँकि, घरेलू तरीके हैं जैसे कि कोल्ड कम्प्रेस अन्य तरीके जिनको आंखों के नीचे काले घेरों के लिए प्रयोग किया जा सकता है. इस के लिए एक योग्य स्किन विशेषज्ञ से परामर्श करना ठीक है. फिलरस भी इस के लिए अद्भुत काम कर सकते हैं.

10. अन्य उपचार

पूरे शरीर की वाइटनिंग, ब्राइटनिंग और पीलिंग व पोलिशिंग से  दुल्हन की स्किन ग्लो करती है. ध्यान देने वाली बात यह है कि कितना ही मेकअप कर लें यदि आपकी स्किन स्वस्थ  नहीं है ,तो आप अपने सबसे अच्छे रूप में भी खुश नहीं होंगे. हमेशा याद रखें कि इन उपचारों के बावजूद क्लीन्ज़र, फेसवॉश, मौइस्चराइजर आदि के दैनिक उपयोग को नहीं छोड़ना चाहिए. नियमित उपयोग से बचना ठीक नहीं. यह आपकी स्किन की चमक को बनाए रखने में मदद करेगा.

द्वारा–डौक्टर नेहा मित्तल, कौस्मेटिक फिजिशियन , डरमा वर्ल्ड स्किन ऐंड केयर क्लिनिक ,न्यू दिल्ली

Tags:
COMMENT