यह बहुत जरूरी है कि हम अपनी स्किन की देखभाल अच्छी तरह से करें. अक्सर इस मौसम में त्योहार हमें व्यस्त रखते हैं कि हम अपनी स्किन की अनदेखी करते हैं और सही देखभाल न करने का खामियाजा हमें बाद में भुगतना पड़ता है. डरमैटोलोजिस्ट सचिन गुप्ता का कहना है कि जिस वातावरण में हम रहते हैं वह हमारी स्किन के लिए बेहद नुकसानदायक है. जैसे प्रदूषण का स्तर और खाने-पीने की गलत आदतें. इन सब के चलते हमारी स्किन डल सूखी और पिगमेंटेशन से भरी हो जाती हैं .ऐसे में स्किन को चमकदार बनाए रखने के लिए विशेष देखभाल की जरूरत होती है. सबसे अहम बात ,यह मौसम स्किन के लिए ज्यादा अच्छा नहीं होता .क्योंकि कभी गर्म हवा तो कभी नमी, तो कभी आद्रता, हवाओं में रहती है. जिसकी वजह से ढेरों स्किन की प्रॉब्लम शुरू हो जाती हैं. हवा की वजह से चेहरे की स्किन बेजान और रुखी सी लगने लगती है. ऐसे में कुछ सावधानी बरतने की बहुत जरूरत होती है.

स्किन के प्रकार

तैलीय स्किन

इस प्रकार की स्किन को सबसे ज्यादा देखभाल की जरूरत होती है क्योंकि डीप क्लींजिंग के बाद भी काफी चमकदार दिखती है और इस तरह की स्किन के पोर्स काफी बड़े होते हैं. इस तरह की स्किन पर मुहांसे, काले धब्बे तथा सफ़ेद धब्बे होने की संभावनाएं ज़्यादा होती हैं. तैलीय स्किन को दिन में दो बार बिना झाग वाले क्लीन्ज़र से फेस वॉश करें .  आप  अल्कोहल फ्री ,नमी प्रदान करने वाला टोनर भी इस्तेमाल कर सकती हैं. कॉटन कपड़ों का इस्तेमाल करें आपके शरीर पर कम से कम औयल का जमाव हो .

ये भी पढ़ें- 200 के बजट में खरीदें ये 4 मैट लिपस्टिक

रूखी स्किन

स्किन में नमी कम होने के कारण स्किन रूखी हो जाती हैं. इस प्रकार की स्किन में काले धब्बों के पैदा होने की संभावना ज़्यादा होती है. यदि स्किन रूखी है तो डेली क्लीन्ज़र और गुनगुने पानी की मदद से अपने चेहरे को साफ़ करना चाहिए. चेहरे को धो लेने के बाद रूखेपन और पपड़ीदार स्किन से बचने के लिए एक टोनर का भी प्रयोग करें.

सामान्य स्किन

सामान्य स्किन की पहचान है कि  मौसम में बदलाव होने की वजह से कक्षा में परिवर्तन आता  है. ऐसी स्किन को एक क्लीन्ज़र की सहायता से धोना या साफ करना चाहिए.

मिश्रित स्किन टी जोन एरिया

मिश्रित स्किन के अंतर्गत एक ही चेहरे पर दो प्रकार के स्किन के प्रकार दिखाई पड़ते हैं. ऐसी स्किन पर किसी एक भाग पर काफी मात्रा में तेल होता है. अधिकांशत: माथा, नाक और थोडी सबसे आयली जोन माने जाते हैं. जबकि चेहरे का  बाकी का हिस्सा आमतौर पर सूखा ही होता है.

सेंसिटिव स्किन

सेंसिटिव स्किन पर कुछ भी इस्तेमाल करने से पहले किसी एक अच्छे डर्मेटोलौजिस्ट से सलाह लेना सही रहता है. क्योंकि इस तरह की स्किन को सौन्दर्य उत्पादों से ही नहीं बल्कि हर मौसम में एलर्जी रहती है, चाहे ठंडा हो या गर्म . बदलते मौसम के साथ इस प्रकार की स्किन ज्यादा सेंसिटिव हो जाती है. मौसम के बदलने पर आपकी स्किन पर रैश लालपन, एक्ने, डाईलेटेड केपिलरी  सूजन जैसी समस्याएं दिखाई पड़ती हैं. सेंसिटिव स्किन  पर क्लींजर तथा टोनर का प्रयोग करके रोज़ाना उसपर मौइस्चराइज़र का प्रयोग करें .

कुछ जरूरी टिप्स जो आप अपना कर अपनी स्किन को रख सकते हैं हैप्पी.

मेकअप हटाए बिना न सोयें

चाहे आप कितने भी व्यस्त हों, अपना मेकअप हटाए बिना कभी ना सोए .अगर आप एक अच्छे क्लींजर से मेकअप को अच्छी तरह नहीं निकालेंगे ,तो स्किन के छिद्र बंद हो जाएंगे और यह स्किन को नुकसान पहुंचा सकते हैं .सोने से पहले एक अच्छे मॉइस्चराइजिंग क्लींजर से मेकअप और धूल मिट्टी को अच्छी तरह से साफ करें और दिन में दो बार अपने चेहरे को फेस वौश से धोएं.

क्लींजिंग

बेसिक होने के अलावा यह बेहद ही अहम रुल भी है .जिसे हमे रिलीजियसली फॉलो भी करना चाहिए .स्किन को साफ रखने से कील मुहांस और इन्फेक्शन के चांसेस कम हो जाते हैं. फेस वॉश का मतलब यह नहीं है कि आप दिन भर में 4 से 5 बार मुंह धोए और आपको मिल गई क्लींजिंग .नहीं अगर आप वाकई अपने स्किन को प्रोटेक्टेड रखना चाहती हैं तो कोशिश करें कि आप दिन में केवल दो या तीन बार ही मुंह को धोएं .इसके साथ ही ड्राइनेस को ट्रीट करने के लिए आप कॉटन बॉल में ठंडे दूध का प्रयोग करें और चेहरे को साफ करें .या अत्याधिक ऑयल हो तो किसी एस्ट्रिंजेंट का इस्तेमाल करें. इससे आपका चेहरा बेबी सॉफ्ट या डर्ट फ्री हो जाएगा.

स्क्रबिंग

वैसे तो स्क्रबिंग बेहद ही जरूरी है स्किन को हेल्थी व क्लीन रखने के लिए .लेकिन आप चाहे तो इस रूटीन में थोड़ी सी फेरबदल भी कर सकते हैं. जहां तक हो सके हफ्ते में केवल एक या दो बार ही स्क्रब करें. ज्यादा स्क्रबिंग से भी आपकी स्किन को नुकसान पहुंच सकता है. स्क्रबिंग स्किन को हेल्थी रखने के लिए जरूरी है. स्किन को हेल्थी रखने के लिए हो सके तो माइल्ड स्क्रब का ही प्रयोग करें .आप चाहे तो अपना स्क्रब घर में खुद तैयार कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- लिपस्टिक नहीं है ‘लिप टिंट’, जानें क्या है फर्क

मौइस्चराइजिंग

वैसे तो चेहरे को हर सीजन में मॉश्चराइजर करना चाहिए. लेकिन इस रूल को इस मौसम में थोड़ा कम तवज्जो देनी चाहिए .दरअसल गर्म हवाएं या अत्याधिक नमी का मौसम  हमारे चेहरे के ग्लो को कम कर देता है . इस मौसम में अत्यधिक पसीना आता है और स्किन पर ब्लैकहेड्स जैसी समस्याएं होने लगती हैं. नतीजा हमारी स्किन बेजान सी दिखने लगती है ऐसे में स्किन को माइश्चर की डोज़ की कम जरूरत होती है और किसी सूदिंग एजेंट जैसे एस्ट्रिंजेंट की ज्यादा.

ड्रिंक मोर

पानी हमारी बॉडी में संतुलन बनाए रखता है .यह ना सिर्फ स्किन को हेल्दी बनाता है बल्कि बॉडी को भी दुरुस्त रखता है .एक्सपर्ट्स की मानें तो व्यक्ति को रोजाना कम से कम 8 से 10 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए .इससे चेहरे की इलास्टिसिटी बनी रहती है और चेहरा खूबसूरत ,स्किन जवान नजर आने लगती है.

टोनिंग

अगर आप अपनी स्किन को यंगर लुकिंग और हेल्दी बनाना चाहती हैं ,तो टोनिंग जैसे महत्वपूर्ण रुल को जरूर अपनाएं. रोजाना चेहरे की टोनिंग करने से एजिंग के साइन खत्म हो जाते हैं और स्किन  नजर आने लगती है. वैसे तो बाजारों में बहुत से टोनर मिल जाएंगे .आप अपनी स्किन के अनुसार अपने लिए बेस्ट प्रोडक्ट चुन सकती हैं.

फेस पैक

चेहरे को पैंपर करने के लिए फेस पैक का प्रयोग करें. फेस पैक लगाने से हमारे चेहरे की कमियां काफी हद तक दूर हो जाती हैं, जिससे हम फ्रेश व कौन्फिडेंट भी महसूस करने लगते हैं. जहां तक संभव हो सके नेचुरल इंग्रेडिएंट्स युक्त फेस पैक भी इस्तेमाल करें .ऐसा करने से साइड इफेक्ट के चांसेस कम हो जाते हैं.

सनस्क्रीन क्रीम

स्किन को सूर्य  की किरणों से बचाना बेहद ही जरूरी होता है. खासकर तब जब बात ब्यूटी को संजो कर रखने की हो रही हो. स्किन बेहद डेलिकेट होती हैं और उसे प्रोटेक्ट करके रखना बहुत बड़ी जिम्मेदारी का काम होता है. एक अच्छा सनस्क्रीन क्रीम काफी हद तक आपकी स्किन प्रौब्लम को दूर करने में मदद करती है.इस मौसम में सनस्क्रीन क्रीम स्किन की देखभाल के लिए जरूरी है. जब भी घर से बाहर जाना हो तो सनस्क्रीन का प्रयोग करें. यही नहीं, हो सके तो घर में भी नहाने के बाद सनस्क्रीन क्रीम लगाए. ऐसा नहीं है कि सिर्फ घर से बाहर जाने पर ही सनस्क्रीन की जरूरत पड़ती है. इन दिनों में सूरज की किरणें काफी तेज होती हैं जो हमारी स्किन को नुकसान पहुंचाती हैं. जिसकी वजह से स्किन रूखी बेजान हो जाती हैं और जगह-जगह स्किन पर सनटैन दिखाई देने लगते हैं . स्किन क्रीम SPF 15 या उससे ज़्यादा का हो.  लोशन एवं फाउंडेशन वही इस्तेमाल करें जिनमें SPF की मात्रा हो.

तेल से करें मालिश

सुबह उठने के बाद अपने को 15 मिनट दे और पूरे शरीर की स्किन चेहरे और सिर पर गुनगुने तेल से मालिश करें. इसे 1 घंटे के लिए छोड़ दें. ऐसा सप्ताह में एक बार करें .तब तक अपने रोजमर्रा के काम को निपटाएं. जैसे अखबार पढ़ना, तैयार होना, नाश्ता करना आदि और इन सबके बाद एक घंटा पूरा होने पर नहाए .इससे पूरे दिन ही नहीं बल्कि पूरे हफ्ते के लिए आपकी स्किन स्वस्थ बनी रहेगी.

स्किन को दें पोषण

किसी अच्छे डर्मेटोलौजिस्ट से मिले और और अपनी स्किन के प्रकार को जाने. स्किन के प्रकार के अनुसार आप महीने में एक बार फेशियल करवाएं, जिससे आपकी स्किन को पोषण मिले. जुवेडर्म रिफाइन फिलर भी स्किन की ऊपरी परत को हाईल्यूरोनिक एसिड से पोषण प्रदान करते हैं, जिससे स्किन हाइड्रेट हो जाती है और इसमें पानी का स्तर सामान्य बना रहता है. स्किन जवान और चमकदार दिखती है.

ये भी पढ़ें- ब्लीच के इस्तेमाल से पहले जान लें ये बातें

सोना और पानी पीना

नींद के दौरान स्किन अपनी मरम्मत करते हैं .दुर्भाग्य से त्योहारों के दिनों में हम इन दोनों ही चीजों पर ध्यान नहीं देते. अक्सर हम अपनी नींद पूरी नहीं कर पाते और पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पीते . इसलिए जरूरी है कि अपनी नींद पूरी करें और पर्याप्त मात्रा में पानी पिए. ये ३ टिप्स अपना कर, आप भी हैप्पी और आपकी स्किन भी हैप्पी.

Tags:
COMMENT