गरमगरम चाय की चुसकियों में सेहत भी घुलमिल जाए कुछ ऐसे तो कहने ही क्या...

‘चाय की चुसकियों के साथ

आओ बांट लें फुरसत के पल,

दोस्ती की महक और अपनेपन

की सौंधी रंगत के पल.’

कोई अपना घर आए तो उस की खातिरदारी का बहाना हो या कभी बारिश की बूंदें पड़ें तो पकौड़ों के साथ पीने का बहाना या फिर शरीर की थकान दूर कर ताजगी का एहसास जगाने का बहाना, चाय पीने की वजह ढूंढ़नी नहीं पड़ती. कभी भी कहीं भी चंद खूबसूरत लमहों की साथी बन जाती है चाय की प्याली. तभी तो ढाबा हो या बड़ेबड़े रैस्टोरैंट, चाय हर जगह मौजूद होती है. बस इसे बनाने के तरीके अलगअलग हो सकते हैं. चीन में इसे वैलकम ड्रिंक का नाम दिया जाता है तो जापान में मेहमानों के आने पर ‘टी सेरेमनी’ होती है.

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT