छींक आना एक समान्य बात है. सर्दियों में ये समस्या और आम हो जाती है. बार बार छींक आने से आपके लिए किसी भी चीज पर फोकस करना मुश्किल हो जाता है. अक्सर छींक के साथ नाक से पानी भी निकलता है जिसकी रफ्तार करीब 20 से 40 मीटर प्रति घंटे की होती है और तीस फुट तक जाती है.

don't stop sneeze

  • छींक को रोकना चाहिए या नहीं

जब आप किसी सार्वजनिक जगह पर हों, तो कोशीश करें कि छीक रूक जाए. आपकी छींक से दूसरे लोगों को परेशानी हो सकती है. जैसे दूसरों के सामने छीकना अच्छा नहीं होता वैसे ही छीक को रोकना भी आपके लिए खतरनाक हो सकता है.

don't stop sneeze

आपको बता दें कि कई मामलों में तेज छींक को रोकने से आपके इयरड्रम को नुकसान पहुंचने की शिकायते भी सामने आई हैं. इसके अलावा ये आंखों के ब्लड वेसल को भी प्रभावित करती है. इसके अलावा छींक का दबाव अन्य क्षेत्रों जैसे खोपड़ी या साइनस की तरफ भी बढ़ जाता है.

  • ध्यान रहे

don't stop sneeze

भीड़ में छींक आने पर भी छींक को रोके नहीं, ऐसी स्थिति में आप मुंह पर रुमाल रखकर छींक सकती हैं। इससे आपको संक्रमण को फैलाने से रोकने में मदद मिलेगी. सार्वजनिक जगहों में छींकने से फ्लू, इन्फ्लूएंजा और आम सर्दी मुख्य रोगों के फैलने की संभावना तेज हो जाती है.

Tags:
COMMENT