आजकल हर 10 में से एक इंसान को माइग्रेन की शिकायत है. महिलाओ को माइग्रेन की समस्या पुरुषों से अधिक होती है. मनो वैज्ञानिकों के पास भी जितने भी पेशेंट्स आते हैं उनकी अधिकतर की समय माइग्रेन ही होती है. यदि आप को भी माइग्रेन की परेशानी हैं तो आपको भी सही जानकारी होना जरूरी है.

माइग्रेन से जुड़े झूठ

  1. औरा + अचानक सिर दर्द = माइग्रेन

सिर में दर्द होना माइग्रेन का सबसे कॉमन प्रकार होता है परन्तु इसके अलग प्रकार भी होते है. आपको पता होना चाहिए कि माइग्रेन वाला सिर दर्द अन्य सिर दर्दो से अलग कैसे है. ज्यादातर लोगों को सिर दर्द टेंशन व चिंता की वजह से होता है. यह सिर दर्द बहुत ही आम होते हैं.इनमें आपको दिमाग के दोनो तरफ दर्द होगा और सिर पर एक भारीपन महसूस होगा. परंतु आपको लाइट व हवा से किसी भी प्रकार का जुखाम या अन्य एलर्जी नहीं होगी. 80 प्रतिशत लोगों को ऐसा सिर दर्द साल में एक बार तो जरूर होता है.

परंतु माइग्रेन में दिमाग के केवल एक ही तरफ दर्द होता है. यह एक घंटे तक रहता है. माइग्रेन का एक प्रकार वेस्टीबुलर माइग्रेन होता है जिसमें आपको सिर में दर्द होने की बजाए ऐसे महसूस होता है जैसे आप एक नाव में हैं और आप डूबने वाले हैं.

  1. माइग्रेन अटैक विजिबल होते हैं

ऐसा माना जाता है कि माइग्रेन के लक्षण एक घंटे तक दिखाई देते हैं. यह एक विजिबल अटैक होता है परन्तु सच्चाई यह है कि केवल 20 प्रतिशत पेशेंट को ही विजिबल अटैक आते है. इनमे उनको दिखना बन्द हो जाता है, आंखों के पास झुर्रियों जैसी लाइन बन जाती हैं. माइग्रेन औरा दो प्रकार के होते हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT