भारत में कई जगहों पर दाल को मेन फूड माना जाता है. कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसे किस तरह से तैयार करते हैं, लेकिन दाल आपको पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व प्रदान करती है और साथ ही आपकी प्लेट में फ्लेवर को भी ऐड करती है. वैसे तो सभी दालें प्रोटीन से भरपूर और सेहत का खजाना हैं, लेकिन इन सब में मूंग की दाल को सर्वश्रेष्ठ माना गया है. इसमें विटामिन ए, बी, सी और ई की भरपूर मात्रा होती है. भारत में मूंग दाल या हरे चने की दाल का प्रयोग मुख्य रूप से खिचड़ी, चीला या फिर स्प्राउट्स जैसे व्यंजन तैयार करने के लिए किया जाता है.ग्रीन बीन्स भारत की फलियों वाली सब्जियों में से आती हैं लेकिन अब इनके व्यंजन आपको चीन और दक्षिण पूर्व एशिया के विभिन्न हिस्सों में भी देखने को मिलते हैं. अंकुरित मूंग सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद हैं. इसमें कई चमत्कारी गुण पाए जाते हैं. यह सेहत के लिए वरदान हैं. इसे जल्दी से पकाया भी जा सकता है क्योंकि लंबे समय तक इसे भिगोना नहीं पड़ता.

* पोषक तत्वों का भंडार माना जाता है मूंग दाल को :

मूंग दाल को हमारे देश का एक सुपर फूड माना जाता है क्योंकि यह दुनिया में प्लांट बेस्ड प्रोटीन के सबसे रिचेस्ट सोर्स में से एक है. इनमें हर वो पोषक तत्व है जिससे हमारे शरीर को आवश्यकता होती है.

एक कप (200 ग्राम) उबली हुई हरी मूंग दाल में है पोषक तत्वों का खजाना

  • कैलोरी: 212
  • फैट: 0.8 ग्राम
  • प्रोटीन: 14.2 ग्राम
  • कार्ब: 38.7 ग्राम
  • फाइबर: 15.4 ग्राम
  • फोलेट (B9): RDI का 80%
  • मैंगनीज: RDI का 30%
  • मैग्नीशियम: RDI का 24%
  • विटामिन बी 1: आरडीआई का 22%
  • फास्फोरस: RDI का 20%
  • आयरन: RDI का 16%
  • जिंक : RDI का 11%

ये भी पढ़ें- ओरल हाइजीन से नो समझौता

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT