Welcome 2023: नए साल में मंडे ब्लूज से बचने के लिए अपनाएं ये 7 मेकअप रूल्स

रविवार के बाद आने वाला सोमवार अपने साथ सुस्ती, अरुचि, नीरसता जैसे कितने ही भाव ले कर आता है. इस का असर चेहरे पर साफ नजर आता है. नतीजतन खिला और निखरा चेहरा भी डल और मुरझाया दिखता है.

मंडे ब्लूज के इस इफैक्ट को कम करने के लिए आजमाइए मेकअप के न्यू रूल्स ताकि मंडे को भी आप का चेहरा तरोताजा नजर आए और आप न्यू मेकअप लुक के साथ औफिस जाने के लिए बेताब हो जाएं.

  1. आईकैची आईलाइनर

फुल मेकअप करने के बजाय आईलाइनर पर फोकस करें. इस के लिए जैट ब्लैक, डार्क ब्राउन या रौयल ब्लू शेड का आईलाइनर चुनें. अब आउटफिट से मेल खाता (ब्लैक, ब्राउन, ब्लू में से कोई एक) आईलाइनर आंखों की सिर्फ ऊपरी आईलिड पर थोड़ा चौड़ा लगाएं ताकि यह उभर कर नजर आए.

इसे और भी आकर्षक बनाने के लिए आईलाइनर के पिछले छोर को ऊपर की तरफ ले जा कर छोड़ दें. इसी तरह फिश स्टाइल आईलाइनर से भी आंखों को अट्रैक्टिव इफैक्ट दे सकती हैं. इस के लिए आंखों की ऊपरी आईलिड पर थिक आईलाइनर लगाएं और इन के छोर को ऊपर की तरफ ले जाएं.

अब निचली आई लिड के ठीक बीच से आईलाइनर लगाना शुरू करें और इसे छोर पर ले जा कर नीचे की तरफ मोड़ दें. इस आई मेकअप के साथ आईशैडो, मसकारा और डार्क लिपस्टिक लगाने से बचें वरना लुक गौडी नजर आ सकता है.

2. आईकैंडी आईशैडो

आईलाइनर के बजाय आईशैडो का इफैक्ट भी मंडे ब्लूज की डलनैस को कम कर सकता है, लेकिन तब जब आप सही आईशैडो के शेड के साथ उसे अप्लाई करने का भी सही तरीका अपनाएंगी. आईशैडो के लिए शैंपेन, ब्रौंज या व्हाइट शेड का चुनाव करें. इन दिनों ये तीनों ही शेड्स फैशन में हैं.

आईकैंडी लुक के लिए शैंपेन शेड का आईशैडो पलकों पर अप्लाई करें. अगर व्हाइट कलर का आईशैडो यूज करना चाहती हैं तो पूरी पलकों पर आईशैडो लगाने के बजाय ब्रश की सहायता से सिर्फ आंखों के दोनों पिछले छोरों पर लगाएं.

इस से आप की आंखों को व्हाइट इफैक्ट मिलेगा. इसी तरह ब्रौंज शेड आईशैडो को भी सिर्फ आंखों की पिछले छोरों पर ऊपर की तरह कोना निकालते हुए लगाएं. इस से आप की आंखें और भी आकर्षक नजर आएंगी. इस के बाद आईलाइनर, मसकारा या बोल्ड लिपस्टिक न लगाएं वरना लुक बिगड़ सकता है.

3. मसकारा मैजिक

अगर आप मिनिमल आई मेकअप करना चाहती हैं, तो आईशैडो और आईलाइनर के बजाय आई मेकअप के लिए सिर्फ मसकारे का इस्तेमाल करें. जी हां, आकर्षक लुक के लिए मसकारा भी काफी है. इस के लिए ब्लैक, ब्राउन, ब्लू या फिर ट्रांसपैरेंट शेड का मसकारा खरीद सकती हैं. आंखों के ऊपरी आईलैशेज पर मसकारा लगाते वक्त उन्हें ऊपर की तरफ कर्ल करें और निचली आईलैशेज पर मसकारा लगा कर नीचे की तरफ कर्ल करें.

इससे आप की पलकें घनी और आंखें आकर्षक नजर आएंगी. अगर आप की नैचुरल आईलैशेज की ग्रोथ बहुत कम है, तो आर्टिफिशियल आईलैशेज लगा कर भी मसकारा लगा सकती हैं. इस से लोगों की निगाहें आप की आंखों पर टिकी रहेंगी. मसकारे के साथ न्यूड शेड की लिपस्टिक आप को आकर्षक लुक देगी.

4. बोल्ड लिप कलर

आप चाहें तो आई मेकअप के बजाय लिप मेकअप को भी हाईलाइट कर सकती हैं. बोल्ड लुक के लिए ब्राइट शेड की लिपस्टिक चुनें जैसे ब्राइट औरेंज, ब्राइट पिंक, हौट रैड, मजैंटा आदि. ये शेड्स काफी अट्रैक्टिव नजर आते हैं.

परफैक्ट लिप मेकअप के लिए पहले होंठों पर मौइश्चराइजर लगाएं, फिर लिपलाइनर से आउटलाइन दें और फिर लिपस्टिक लगा लें. ग्लौसी के बजाय मैट टैक्स्चर वाली लिपस्टिक खरीदें. यह काफी स्टाइलिश नजर आती है.

यह जरूरी नहीं कि आप सिर्फ डार्क ऐंड बोल्ड शेड की लिपस्टिक लगा कर ही अपने लिप्स को हाईलाइट करें. लिपस्टिक के न्यूड शेड भी आप को सैक्सी लुक दे सकते हैं. इन्हें भी जरूर ट्राई करें.

5. लिक्विड फाउंडेशन

वीकैंड की थकावट के बाद त्वचा रूखी और मुरझाई सी नजर आती है. ऐसे में बेस मेकअप के लिए त्वचा पर पाउडर फाउंडेशन लगाने की भूल न करें वरना इस से आप का चेहरा और भी रूखा और पैची नजर आ सकता है.

फ्रैश लुक के लिए लिक्विड फाउंडेशन का चुनाव करें. यह चेहरे पर बहुत जल्दी और अच्छी तरह सैट हो जाता है और लंबे समय तक टिका भी रहता है.

6. ब्यूटीफुल ब्लशर

अगर आप आई और लिप मेकअप दोनों नहीं कर रही हैं, तो चीक मेकअप से भी आकर्षक लुक पा सकती हैं. चीक मेकअप को हाईलाइट करने के लिए पीच, पिंक, रोज, कोरल शेड का ब्लश औन खरीदें. लेकिन पाउडर के बजाय क्रीम बेस्ड ब्लशर लगाएं.

इस का इफैक्ट काफी फ्रैश नजर आता है, जबकि पाउडर ब्लशर से त्वचा रूखी नजर आती है. लेकिन ध्यान रहे अगर आप ब्लशर लगा रही हैं, तो डार्क लिपस्टिक और हैवी आईलाइनर न लगाएं.

7. स्मार्ट आइडियाज

मंडे ब्लूज से बचने के लिए सप्ताह की शुरुआत हौट और स्टाइलिश आउटफिट से करें जैसे वी नैक टौप, मिनी स्कर्ट, स्लीवलैस कुरती, स्किनी जींस आदि.

हैवी इयररिंग्स, लौंग नैकपीस, बिग रिंग और कफ में से किसी एक ज्वैलरी को अपना स्टाइल स्टेटमैंट बनाएं और मंडे ब्लूज को बीट करें.

फौर्मल फुटवियर के बजाय मंडे को हाई हील के सैक्सी सैंडल पहनें या फिर वैजेस भी ट्राई कर सकती हैं.

कोई भी स्टाललिश हेयरस्टाइल ले कर भी आप मंडे ब्लूज को मात दे सकती हैं जैसे हाई पोनी, हाई बन आदि.

रैग्यूलर लैदर या लैपटौप बैग के बजाय स्टाइलिश और ट्रैंडी हैंड बैग कैरी करें. मंडे ब्लूज खुदबखुद छूमंतर हो जाएगा.

आउटफिट से ले कर कोईर् भी न्यू ऐक्सैसरीज मंडे को पहनें. इस से औफिस जाने के लिए आप खुद ऐक्साइटेड रहेंगी.

चेहरे की तरह नेक और बैक को ग्लोइंग बनाने के लिए मैं क्या करुं?

सवाल

मुझे चेहरे की तरह गरदन और बैक यानी पीठ की स्किन को भी साफसुथरीनिखरी और ग्लोइंग बनाने के लिए घरेलू उपचार और ब्यूटी ट्रीटमैंट बताएं. स्क्रब करने के लिए बाजार से कौन सा स्क्रब खरीदूं और क्या बौडी स्क्रब चेहरे के स्क्रब से अलग होता है?

जवाब

गरदन और पीठ की स्किन को साफसुथरा और ग्लोइंग बनाने के लिए संतरे के गूदे का उपयोग करें. इस में मौजूद विटामिन सी स्किन को निखारने में मदद करता है.

संतरे के गूदे में पाउडर मिल्क के 2 स्पून मिला कर पेस्ट बना कर उसे अपनी गरदन और पीठ पर लगाएं. 20 मिनट के बाद धो लें. आप की स्किन साफ होने लगेगी. इस के अलावा 2 टी स्पून औलिव औयल में 2-3 नींबू के रस की बूंदें अच्छी तरह मिला लें फिर उसे अपनी गरदन और पीठ के हिस्से में लगाएं. 20 मिनट तक ऐसे ही रहने दे और फिर पानी से धो लें.

आप चाहें तो बाजार से कोई भी अच्छे ब्रैंड का अच्छा स्क्रब खरीद सकती हैं. स्क्रब दानेदार होना चाहिए क्योंकि इस से आप के पोर्स खुलेंगे और गंदगी बाहर निकलेगी. लेकिन आप स्क्रब खरीदते वक्त अपनी स्किन टाइप जरूर जांच लें. हां बौडी स्क्रब चेहरे के स्क्रब से अलग होता है. आप घर पर भी स्क्रब बना सकती हैं.

1 चम्मच चने की दाल का आटा1 चम्मच चावल का आटा दरदरा पिसा हुआ1 चम्मच चंदन पाउडरचुटकीभर हलदी1 बड़ा चम्मच दूध व 1 बड़ा चम्मच फ्रैश ऐलोवेरा जेल मिला लें. यह स्क्रब बन जाएगा. इसे इस्तेमाल करें. रंग भी निखरेगा और साथ ही स्किन मौइस्चराइज भी हो जाएगी.

-डा. शीतल गुप्ता

बीडीएसएमआईडीएएफएजीई,

डा. गुप्ता डैंटल क्लीनिककमला नगर 

Wedding Special: खूबसूरत स्किन के लिए 5 होममेड फेसपैक

शादियों मे ये जरुरी है कि हम सबसे ज्यादा अच्छे दिखे और डिफरेंट भी ताकि सभी की नजर आप पडें. तो ऐसे में जरुरी है कि हम घर पर तैयार किया हुआ फेसपैक यूज करें ताकि आपकी स्कीन ओर भी ग्लोईंग लगे.जिससे आप शादी में चार चांद लगा दें, तो ये है  घरेलू फेसपैक बनाने का आसान तरीका.

  1. चंदन और बेसन का मिश्रण

त्‍वचा को चमकदार बनाने के लिए चंदन पाउडर और बेसन को मिलाकर उबटन बनाऐं. इसमें आप चाहें तो हल्दी और और दूध भी मिला सकते हैं. इस मिश्रण को चेहरे पर लगाने से आपकी त्वचा खूबसूरत होगी. क्योंकि एंटी ऑक्‍सीडेंट गुणों से भरपूर हल्‍दी और चंदन त्वचा में एक कसाव लेकर आते हैं, जबकि बेसन मृत त्वचा को आपके चेहरे से हटाकर उसे प्रोटीन उपलब्‍ध करवाता है और दूध त्‍वचा की रंगत को निखारने के साथ साथ त्वचा को मुलायम बनाने का काम भी करता है.

2. पपीता, शहद और नींबू
पपीते में पपेन नाम का एंजाइम होता है, जो प्राकृतिक तरीके से मृत त्‍वचा की परतों को हटाता है. शहद अपने एंटी-बैक्टीरियल गुण के कारण त्‍वचा को मुलायम बनाऐ रखता है और साइट्रिक एसिड युक्त नींबू, त्‍वचा को चमकाने का काम करता है, अत: इन तीनों को मिलाकर आप घर पर फेसपैक बनाकर लगाऐं तो ये आपके लिए बहुत लाभकारी होगा.

3. बनाऐं चीनी का स्क्रब
चीनी का स्क्रब बनाने के लिए आपको चीनी, नींबू का रस और ऑलिव ऑयल, सबको एक साथ मिक्स होता है. इसे आप चीनी का बॉडी स्‍क्रब भी कह सकती हैं. मुलायम त्वचा पाने के लिए यह स्क्रब सबसे उपयुक्त है. इस मिश्रण को लगाने के लिए इसे अपने शरीर पर धीरे-धीरे रगड़ें और चीनी के घुलने तक ऐसा करते रहें. इसके उलयोग से त्वचा की रंगत निखरती है. यह सबसे अच्छा घरेलू स्क्रब होता है.

4. बनाऐं नैचुरल फेसपैक
इसे घर पर बना एवोकाडो नैचुरल फेसपैक भी कह सकते हैं. एवोकाडो के साथ दही और शहद को मिक्स कर चेहरे पर लगाएं. इससे त्वचा में निखार आता है. दही में लैक्टिक एसिड मौजूद होता है, जो कोलेजन का उत्‍पादन करता है, जो त्‍वचा की चमक बरकरार रखता है. एवोकाडो में एक फैटी एसिड होता है, जो त्‍वचा को मजबूत, नरम और अधिक लचीला बनाने में मदद करता है और शहद में एंटी-ऑक्‍सीडेंट होता है, जो त्‍वचा की चमक बरकरार रखता है.

5. पपीते और ककड़ी का फेस पैक

आप पपीते और ककड़ी के गूदे में, किसी भी क्रीम को दो चम्मच मिलाकर फेस पैक तैयार कर सकती हैं. इसमें आप चाहें तो एवोकाडो भी मिला सकती हैं. इस पैक को त्‍वचा पर 20 मिनट तक लगा कर, बाद में हल्‍के कुनकुने पानी से चेहरा धो लेना चाहिए.

इन सभी घरेलू फेस पैक के इस्तेमाल से आपकी त्वचा की ऊपरी परत हर दम स्वस्थ्य रहेगी और आपकी त्वचा हमेशा साफ और चमकदार बनी रहेगी.

Wedding special: शादी से पहले इन 8 टिप्स से पाएं ग्लोइंग स्किन

किसी भी युवती की जिंदगी में शादी का दिन सब से खास दिन होता है. इस दिन वह सब के आकर्षण का केंद्र होती है और सब की निगाहें उसी पर टिकी होती हैं, इसलिए इस खास दिन वह अपनी खूबसूरती को सब से अच्छा बनाने की चाहत रखती है.

त्वचा की कांति अचानक बनने वाली चीज नहीं है. आप के चेहरे पर जो कांति बनी होती है, वह अच्छी सेहत के साथसाथ अच्छी देखभाल से ही बनती है. इस में आप की बौद्धिक स्थिति, खानपान, त्वचा की बनावट, हाइड्रेशन (नमी), खुशी और अच्छी नींद सब का योगदान रहता है. इस के अलावा अच्छी खुराक और तनावरहित रहना भी इस सौंदर्यपूर्ण कांति की प्राथमिक जरूरत होती है.

तो बेदाग और चमकदार त्वचा पाने के लिए इन उपायों को जरूर आजमाएं:

1. चंदन का लेप

इस से आप की त्वचा में कसावट आती है और त्वचा में जितनी कसावट रहेगी उस के खुले रोमछिद्र भी उतने ही कम रहेंगे. इस से त्वचा चमकती रहेगी. इस से त्वचा के दागधब्बे भी गायब हो जाते हैं और त्वचा की कोमलता भी बरकरार रहती है. यदि आप चंदन का लेप नियमित रूप से इस्तेमाल करती हैं, तो त्वचा की खुजलाहट और दानेफुंसियां भी धीरेधीरे खत्म होने लगती हैं.

2. नीबू और शहद

त्वचा की चमक पाने के लिए आप नीबू और शहद का घोल भी इस्तेमाल कर सकती हैं. इस मिश्रण को आप नियमित रूप से चेहरे पर लगाएं और फिर 10-15 मिनट के बाद ठंडे पानी से चेहरे को धो लें.

3. त्वचा की ऊपरी परत की सफाई

चीनी और नारंगी के गूदे का घोल चेहरे और हाथों की त्वचा की ऊपरी परत उतारने में उपयोगी हो सकता है. इस मिश्रण को हलके हाथों से शरीर पर लगाएं. आप की त्वचा की मृत कोशिकाएं हट जाएंगी और उस की कांति लौट आएगी.

4. त्वचा चमकाने के आधुनिक उपाय

विज्ञान की तरक्की उस स्तर तक पहुंच चुकी है जहां हम झटपट सौंदर्य उपचारों से अपनी त्वचा की कांति पा सकते हैं. कुछ अच्छे पील्ज से त्वचा की मृत कोशिकाएं हटाई जा सकती हैं और आप के लुक को ताजगीपूर्ण एवं आकर्षक बनाया जा सकता है. लेजर टोनिंग भी त्वचा की बनावट और चमक में सुधार ला सकती है. हम किसी व्यक्ति को एक नया और ताजगी भरा आकर्षक लुक देने के लिए जुवेडर्म जैसे फिलर्स को आजमा कर अच्छा परिणाम पा सकते हैं. जुवेडर्म जैसे फिलर्स को आंखों के नीचे के गड्ढों को भरने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है, जो काम के बोझ से दबी किसी नारी की चुगली करते हुए उस के सौंदर्य को थका हुआ और सुस्त बना देते हैं. इस नई पद्धति के आजमाने से आप तरोताजा और खुश नजर आएंगी.

आधुनिक दुलहनें बोटौक्स से ले कर डी टैनिंग और लिपोसक्शन तक हर प्रकार की आधुनिक सौंदर्य चिकित्सा को आजमा सकती हैं. आइए अब कुछ नौन इनवेसिव यानी चीरफाड़ रहित सौंदर्य उपचार पद्धतियों पर गौर करते हैं, जिन का जादुई असर होता है.

5. लिप औग्मैंटेशन

ह्यालुरोनिक ऐसिड आधारित फिलर्स के इंजैक्शन लगाए जाने से खूबसूरती के कई अलगअलग परिणाम मिलते हैं. इन्हें त्वचा में नई चमक लाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

इस के इंजैक्शन से आप अपने गालों या होंठों को मांसल बना सकती हैं या ठुड्डी के आकार में बदलाव ला सकती हैं. बारीक झुर्रियों को भी मिटा सकती है. किसी हुनरमंद के हाथों से जुवेडर्म जैसे फिलर्स किसी व्यक्ति के रूपरंग में कायापलट कर सकते हैं. इस का इंजैक्शन होंठों को खूबसूरत आकार में ढालते हुए मांसल और रसीला बनाता है. जुवेडर्म फिलर्स के जरीए लिप औग्मैंटेशन के परिणाम कई महीनों तक असरकारक रहते हैं. इस के अलावा जुवेडर्म चेहरे के आसपास की झुर्रियों और ढीलेपन को भी भरते हैं और त्वचा को अधिक चमकदार तथा मुलायम बनाते हैं.

6. भौंह में सुधार और झुर्रियों में कमी

आजकल की युवतियां अपना ज्यादातर वक्त कैरियर बनाने और अपनी नौकरी में बिताने लगी हैं, इसलिए बहुत सारी युवतियां 30 वर्ष के आसपास या इस के बाद ही शादी करने का प्रयास कर रही हैं. इस के बावजूद वे 20 वर्ष की उम्र में जितनी खूबसूरत, जवां और आकर्षक दिखती थीं, उतनी ही आज भी बनी रह सकती हैं. बोटौक्स के इंजैक्शन आईब्रोज के बीच की बारीक रेखाएं और ऐसी झुर्रियों को मिटाने में कारगर हैं, जो हमारी आंखों के इर्दगिर्द हावी हो जाती हैं. इस से आप को तरोताजा व जवां होने का एहसास होता है, क्योंकि आप के चेहरे पर से तनाव के सारे लक्षण जो मिट जाते हैं. बोटौक्स के इंजैक्शन भौंहों को थोड़ा उठा हुआ और आकर्षक रूप प्रदान करने के लिए भी इस्तेमाल किए जाते हैं.

7. डायमंड पौलिशिंग

यह एक ऐसी तकनीक है जिस में एक इलैक्ट्रौनिक डिवाइस की नोक पर डायमंड लगा कर इसे त्वचा पर फिराते हुए त्वचा की पौलिश की जाती है. मृत कोशिकाओं, दागधब्बों को मिटाने में यह बहुत कारगर होता है और त्वचा की चमक बढ़ाने तथा गोरापन निखारने में भी यह उपयोगी है.

8. लेजर हेयर रिडक्शन

लगातार वैक्सिंग, शेविंग और ब्लीचिंग से त्वचा प्रभावित हो सकती है और आप शादी के बाद इन के बिना रह भी नहीं सकतीं. कई युवतियां तो इन के बजाय अपनी शादी से पहले ही लेजर हेयर रिडक्शन अपना लेती हैं ताकि शरीर के अनचाहे बालों से उन्हें स्थायी रूप से छुटकारा मिल जाए और बारबार उन्हें सोचने की जरूरत ही न पड़े. होने वाली दुलहनें अकसर हाथों और पैरों, अंडरआर्म्स, बिकनी और नाभि एवं पिछले हिस्से तक के बालों को मिटाने के लिए लेजर ट्रीटमैंट कराना चाहती हैं और आजकल तो पुरुष भी अपने चेहरे और शरीर के अतिरिक्त बालों और दाढ़ी की सफाई के लिए लेजर ट्रीटमैंट कराना चाहते हैं.

– डा. सिमल सोइन, डर्मेटोलौजिस्ट, थ्री ग्रेसेज, नई दिल्ली

Wedding Special: शादी से पहले कुछ इस तरह निखारें अपनी सुंदरता

अपनी शादी का दिन हर किसी के लिए खास होता है और इस मौके पर हर दुलहन सुंदर दिखना चाहती है. लेकिन हमारे देश में शादी के दौरान होने वाली पारंपरिक रस्मों को व्यवस्थित ढंग से निभाना टेढ़ी खीर है, इसलिए इस दौरान दुलहन और सही ढंग से अपना खयाल नहीं रख पाती. हालांकि शादी तो 1 दिन की होती है परंतु उस की यादें हमेशा के लिए होती हैं, इसलिए कपड़े और स्थल वगैरह पहले ही तय कर लिए जाते हैं. लेकिन इन सब के बीच दुलहन अपनी त्वचा और स्वास्थ्य का खयाल आमतौर पर नहीं रख पाती.

जब कि आप अच्छी दिखती हैं तो बेहतर महसूस करती हैं और ऐसा होने से आप का आत्मविश्वास भी बढ़ जाता है. ऐसा भी कहा जाता है कि लंबे समय तक लोगों की याददाशत में बने रहने का एकमात्र रास्ता है कि उस दिन आप सब से अलग दिखें. इस के लिए आजकल शरीर की रूपरेखा संवारना (बौडी कंटूरिंग), त्वचा का जीर्णोद्धार (स्किन रिजुविनेशन), दागधब्बे हटाना (स्कार रिमूविंग), चेहरे को आकर्षक बनाना (फेस लिफ्ंिटग), लेजर चिकित्सा और डर्मल फिलर्स आदि विभिन्न प्रकार के उपचार उपलब्ध हैं, जो आप की त्वचा तथा शरीर में फिर से जान भरते हैं. इन उपचारों का सब से बड़ा फायदा यह है कि ये मुंहासे, बालों का गिरना, ब्लैकहैड्स, पिगमैंटेशन, झुर्रियों व दागधब्बों को रोकते हैं और आप के चेहरे की खोई रंगत आप को वापस दिलाते हैं.

ये सभी उपचार एक ब्राइडल पैकेज में आते हैं और वह पैकेज कैसा हो यह आप की त्वचा पर निर्भर करता है. उस में वह सब मौजूद होता है, जो आप की त्वचा को शादी जैसे मौके के लिए सुंदर बनाने के लिए चाहिए. मेडलिंक्स के डा. गौरंग के अनुसार, अगर आप स्किन ट्रीटमैंट की योजना बना रही हैं, तो आप को शादी के दिन के 6 महीने पहले से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए.अगर शादी की तैयारी के लिए आप फिलर्स (भराव) व बोटोक्स की सोच रही हैं तो आप को इसे समय रहते करवाना होता है. बोटोक्स की प्रक्रिया पूरी होने में 3 से 4 महीने का वक्त लगता है, इसलिए इस के अनुसार योजना बनाएं. झुर्रियां व शिकन को हटाने में यह अद्भुत ढंग से काम करता है और आप के चेहरे की मांसपेशियों को चिकना बना कर उन में जान फूंक देता है. अंतत: इस का असर आप की मुसकराहट पर भी दिखता है.

  • अगर आप के चेहरे पर काले धब्बे हैं, तो इस के उपचार के लिए किसी त्वचा रोग विशेषज्ञ की सलाह लें. लेजर उपचार, फोटो फेशियल्स तथा पैड्स व क्रीम जैसे उत्पाद आप की त्वचा में चमक ला सकते हैं.
  • अगर आप के चेहरे व शरीर पर बहुत अधिक बाल हैं और आप लेजर हेयर रिमूवल चिकित्सा की योजना बना रही हैं, तो इसे भी 6 महीने पहले कराने की जरूरत है. स्थिति के अनुरूप इस उपचार के कई सत्र की आवश्यकता पड़ सकती है.
  • बौडी कंटूरिंग के अंतर्गत आप के शरीर के वजन और चरबी को कम किया जाता है ताकि आप के शरीर को सुडौल बनाया जा सके. इस के लिए शादी के 3-4 महीने पहले योजना बनाएं ताकि आप इस की अभ्यस्त हो सकें.
  • इस के अलावा आप रोज अपनी त्वचा को क्लीन, ऐक्सफोलिएट और मौइश्चराइज करना सुनिश्चित करें. आज के समय में जब हर तरफ प्रदूषण का स्तर बढ़ा हुआ है, दिनप्रतिदिन हमारी त्वचा अपनी प्राकृतिक चमक खोती जा रही है और ऐसे में प्री ब्राइडल प्रक्रिया वास्तव में बहुत जरूरी हो चुकी है.

क्या है प्री ब्राइडल प्रक्रिया

मूल रूप से यह शादी के पहले की जाने वाली त्वचा की पूरी देखभाल प्रक्रिया का समूह है. जिसे 1 पूरा दिन स्पा में बिता कर या फिर 4 महीने की पूरी दिनचर्या को अपना कर पूरा किया जा सकता है. मूल बात यह है कि ये अपनाने योग्य प्रक्रियाएं हैं और यदि शादी के कुछ दिन पूर्व आप यह सब 1 दिन में पूरा करना चाह रही हैं तो ये प्रक्रियाएं हैं:

  • मैनिक्योर.
  • पैडिक्योर.
  • फैशियल (यह प्रक्रिया आप के चेहरे को दुलहन वाली चमक देती है).
  • वैक्सिंग.
  • थ्रेडिंग.
  • हेयर स्पा.
  • बौडी पौलिश.
  • बौडी मसाज.

इन सब के बाद अगर संभव हो तो आप प्री ब्राइडल बाथ चुन सकती हैं, जो प्राचीन समय का उपचार है. इस में गुलाब की पंखुडि़यों आदि का इस्तेमाल किया जाता है, जो बौडी सिस्टम को सुकून देने वाला होता है. इन सब के अलावा अगर आप 2 या 3 या 4 महीने के प्री ब्राइडल की पूरी प्रक्रिया कराती हैं, तो हर महीने आप को इन प्रक्रियाओं को दोहराना चाहिए:

  • मैनिक्योर.
  • पैडिक्योर.
  • फेशियल क्लीनअप (त्वचा की स्थिति के अनुसार).
  • वैक्सिंग.
  • हेयर केयर.

अगर ये सारी प्रक्रियाएं आप के बजट से बाहर हो रही हैं, तो शादी के पहले कम से कम एक बार प्री ब्राइडल जरूर कराएं.

दमकती त्वचा हासिल करें

अगर आप आनुवंशिक तौर पर बहुत अच्छी त्वचा की मालकिन नहीं हैं, तो दोषरहित और दमकती त्वचा हासिल करने के लिए आप को प्रयास की जरूरत है. हालांकि तमाम तरह के लोशन व फेशियल इस में सहायक हैं, परंतु उस स्वस्थ चमक का कोई विकल्प नहीं है, जो प्राकृतिक तौर पर हासिल की जाती है. इस के नुसखे निम्नलिखित हैं:हर रोज 2 लिटर पानी पीएं यह शरीर से जहरीले तत्त्वों को बाहर करने में सहायक होता है. पानी की मात्रा का ध्यान रखने के लिए आप अपने लिए एक पानी की बोतल अलग रख लें. इस से आप को सहज ही पता लग जाएगा कि आप ने 2 लिटर पानी पीया या नहीं.

हर रोज नारियल पानी पीएं

अपनी त्वचा को स्वस्थ बनाने का यह ऐसा नुसखा है जिस से आप की त्वचा सचमुच अंदर से चमक उठेगी. अगर रोज एक नारियल खरीद पाना संभव न हो, तो आप एक बार में इकट्ठा उन्हें खरीद सकती हैं.

मल्टी विटामिन लें

वैसे कोई भी दवा लेने के पूर्व डाक्टर की सलाह लें, परंतु शादी के कुछ महीने पहले से मल्टी विटामिन लेना आप के शरीर व स्वास्थ्य को रौनक देता है, जिस से आप की त्वचा भी दमकती है.

व्यायाम करें और स्वस्थ आहार लें

जंक फूड से तोबा और व्यायाम आप के शरीर से जहरीले तत्त्वों को बाहर निकाल देता है, जिस का सीधा असर आप की त्वचा के स्वास्थ्य पर होता है और आप की त्वचा से आप का स्वस्थ शरीर प्रतिबिंबित होता है.

खुश रहें

एक स्वस्थ तन परंतु उस के साथ नाखुश मन, यह कभी सुंदर चेहरे का प्रतीक नहीं होता. हालांकि व्यायाम का आप की मनोदशा पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, क्योंकि खुश रखने वाले सभी हारमोन व्यायाम के दौरान मुक्त होते हैं. फिर भी आप को स्वयं को भीतर से अच्छा महसूस करने के अन्य प्रयास भी करते रहना चाहिए. ऐसा करना तब और जरूरी हो जाता है जब आप की शादी होने वाली हो, क्योंकि अपनी नौकरी के साथसाथ शादी की तैयारी हेतु विभिन्न कार्यों को निबटाना आप के लिए गंभीर तनाव का कारण बन सकता है.

कुछ अन्य नुसखे

एक स्वस्थ दिनचर्या के अलावा अपनी त्वचा की देखभाल के लिए यह भी करें:

दिन में 2 बार चेहरा साफ करें

हमें मालूम है कि हम में से कई रात में आलस महसूस करते हैं, इसलिए कुछ करना नहीं चाहते. परंतु रात में बिस्तर पर जाने से पहले आप को अपना चेहरा निश्चित तौर पर धोना चाहिए. आप को अपना मेकअप हटा लेना चाहिए. मेकअप के साथ सोना नुकसानदेह है. यह भी सुनिश्चित करें कि मेकअप रिमूवर को भी धो कर चेहरे से पूरी तरह साफ कर दिया गया हो, क्योंकि कुछ रिमूवर आप की त्वचा पर तैलीय अवशेष छोड़ देते हैं, जो कई बार धोने से भी साफ नहीं होते. मेकअप हटाने के बाद वह बिलकुल साफ हो जाए, ऐसा सुनिश्चित करने के लिए गुलाबजल में भिगोए हुए कौटन पैड का इस्तेमाल करें.

मौइश्चराइजर का इस्तेमाल करें

एक दुलहन के लिए रोज 2 बार मौइश्चराइजर का इस्तेमाल करने की सलाह के पीछे एक खास कारण यह है कि इस से उस का मेकअप उस खास दिन तक बिलकुल सटीक हो जाता है. यह छोटे हिस्सों में नहीं सिमटता और सहजता से फैलता है और कोई परत नहीं बनाता. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि मौइश्चराइजर आप के चेहरे पर अतिरिक्त तेल उत्पादित करना बंद कर देता है. आप 1 महीने तक यह जारी रखें. आप को अंतर महसूस हो जाएगा.

सनस्क्रीन लोशन तत्परता से लगाएं

आप की उम्र 20 वर्ष से 40 वर्ष के बीच कुछ भी हो, धूप की वजह से होने वाली समस्याओं के लक्षण कभी भी दिख सकते हैं. इन लक्षणों में भूरे धब्बे व सूक्ष्म बदरंग निशान शामिल होते हैं, जो बिना किसी चेतावनी के दिखने शुरू हो जाते हैं तथा आप कुछ भी कर लें हटने का नाम नहीं लेते. दुलहन के तौर पर आप निश्चित तौर पर कंसीलर का पूरा पैक आजमाना चाहेंगी ताकि ये दागधब्बे गायब हो जाएं. परंतु क्या यह सही नहीं होगा कि जितना संभव हो इन समस्याओं को दूर ही रखा जाए? धूप के वक्त बाहर जाने से पहले 15-20 मिनट तक सनस्क्रीन लोशन लगाएं (30 से 50 एसपीएफ की मात्रा पर्याप्त होगी) और अगर आप को ज्यादा देर तक धूप में बाहर रहना हो तो 2 घंटे में इस प्रक्रिया को दोहराएं.

हर हफ्ते फेसपैक लगाएं

सप्ताह में 1 बार घर पर फेसपैक लगाएं. तैलीय त्वचा वाली लड़कियों के लिए मुल्तानी मिट्टी का फेसपैक उपयुक्त होगा, जबकि जो लड़कियां शुष्क त्वचा से परेशान हैं, वे शहद आधारित पैक का इस्तेमाल करें, जो नमी बनाए रखने में कारगर होता है.

त्वचा रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें

अगर आप त्वचा की किसी समस्या जैसे मुंहासे या त्वचा के रंग में परिवर्तन आदि का सामना कर रही हैं, तो शादी के 3 महीने पहले ही किसी त्वचा रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें. उपचार के नजर आने वाले परिणाम के सामने आने में देरी होती है, इसलिए जितनी जल्दी हो समस्या के सामने आते ही डाक्टर के पास जाएं. यहां तक कि आप को त्वचा से संबंधित कोई समस्या न भी हो तो भी 1 से 2 बार त्वचा रोग विशेषज्ञ के पास जरूर जाएं, क्योंकि ये डाक्टर आप को आप के लिए जरूरी प्री ब्राइडल व सामान्य स्किन केयर उपचार के बारे में बताते हैं. जैसे फेसपैक से ले कर फेशियल तक. ये सब आप की त्वचा के प्रकार व उस की जरूरत के अनुसार निर्धारित किए जाते हैं.

कुछ फेशियल की मदद लें

क्या सभी दुलहनों को फेशियल की आवश्यकता होती है? शायद नहीं. परंतु क्या सभी दुलहनों को फेशियल करवाना चाहिए? अधिकतर मामलों में हां. जब तक आप के त्वचा रोग विशेषज्ञ इस के लिए बिलकुल मना नहीं कर देते, आप को कुछ तरह के फेशियल करा लेने चाहिए. सामान्यतया शादी से पहले 2-3 फेशियल काफी होते हैं और यह निश्चित करें कि लास्ट फेशियल शादी के पहले कार्यक्रम से कम से 48 घंटे पूर्व हो. ध्यान देने योग्य एक बात यह भी है कि अगर आप जीवन में पहली बार फेशियल कराने जा रही हैं, तो वह शादी के 1 माह पूर्व नहीं कराना चाहिए. इसे 2-3 महीने पूर्व ही कराएं ताकि पता लगे कि वह आप की त्वचा के अनुकूल है या नहीं.

अंतिम 30 दिनों में कुछ नया न अपनाएं

एक स्वस्थ दिनचर्या, आहार और 8 घंटे की नींद आप के लिए जरूरी है. लेकिन शादी के ठीक पहले कुछ नए उत्पाद को आजमाना अच्छा नहीं होगा. विभिन्न प्रकार के उत्पादों को ले कर अपनी त्वचा या बालों पर उन्हें न आजमाएं. यहां बताए गए नुसखों में से कम से कम 80 प्रतिशत नुसखों को जरूर आजमाएं ताकि आप के मेहमान आप की आकर्षक त्वचा के बारे में सोचने पर मजबूर हो जाएं.

-डा. अजय कश्यप
(चीफ कौस्मैटिक सर्जन, मेडस्पा)

Wedding Special: ताकि दमकती रहे दुल्हन की स्किन

किसी भी लड़की के जीवन में शादी एक महत्त्वपूर्ण अवसर होता है. हर लड़की इस दिन सब से खूबसूरत और आकर्षक दिखना चाहती है. शादी से पहले कई तरह की चीजें होती हैं जैसे शादी की शौपिंग करना, तरहतरह की रस्में निभाना व अन्य तैयारी करना. इस वजह से कई बार दुल्हन को थकान, बेचैनी और तनाव से गुजरना पड़ता है, जिस की वजह से वह अपनी त्वचा का सही तरीके से खयाल नहीं रख पाती. ऐसे में उसे यह चिंता सताती है कि वह चमकतीदमकती त्वचा पाने के लिए क्या करे.

कई ऐसे टिप्स हैं, जिन्हें आजमा कर भावी दुल्हन मनचाही त्वचा पा सकती है. वेदिक लाइन के इन टिप्स पर अमल करना आसान है और आप रोज इन्हें अमल में ला सकती हैं ताकि उस दिन के लिए अपनी खूबसूरत त्वचा को और निखार सकें:

2 महीने बाकी

– कम से कम 2 लिटर पानी रोज जरूर पीएं. पानी न ज्यादा ठंडा हो और न गरम यानी रूम वातावरण पर हो. पानी वजन नहीं बढ़ने देगा और शारीरिक तंत्र को साफ रखेगा. यह शरीर से भी हानिकारक तत्त्वों को आसानी से बाहर निकाल देगा.

– नारियल पानी पीने को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लें. चेहरे पर चमक लाने का बहुत आसान उपाय है नारियल पानी पीना. यह न केवल त्वचा साफ करता है, बल्कि शरीर को पोषण भी देता है.

– फलों की प्रचुरता वाली अच्छी क्वालिटी की फेशियल किट चेहरे पर लगाना शुरू करें. शादी से 1 दिन पहले फेशियल न करें. अगर पहले ट्राई नहीं किया हो तब तो बिलकुल भी नहीं. शुरुआत करने के लिए सब से अच्छी है नैचुरल फेशियल किट, जिस में पपीता, नीबू आदि के अर्क होते हैं.

– 1 बार दिन में और 1 बार रात में फेसवाश करना न भूलें. अगर मेकअप करती हैं, तो अच्छी क्वालिटी के मेकअप रिमूवर पर खर्च करने में संकोच न करें. रात को इस का इस्तेमाल करना न भूलें यानी बिना मेकअप हटाए बिलकुल न सोएं.

– खानपान में मल्टीविटामिन और कैल्सियम को शामिल करें. फेशियल प्रोडक्ट्स भी ऐसे ही लें, जिन में प्रचुर मात्रा में विटामिन ई शामिल रहे.

– पौष्टिक और सही खाना खाएं. मसलन, आप चौकलेट जितना खाएंगी आप की त्वचा को उतना ही नुकसान पहुंचेगा और वजन भी बढ़ेगा.

– सनस्क्रीन का इस्तेमाल अभी से शुरू कर देना चाहिए. इस का शादी से कोई लेनादेना नहीं है. हां, इस के इस्तेमाल से पहले यह जरूर देख लें कि आप की स्किन टाइप और एसपीएफ के हिसाब से आप के लिए कौन सा सनस्क्रीन सही रहेगा. एसपीएफ इस पर निर्भर करता है कि आप बाहर तेज धूप में कितनी देर रहती हैं.

1 महीना बाकी

– जब शादी में 1 महीना रह जाए तो इस महीने की शुरुआत व्यापक तौर पर स्पैशलाइज्ड फैशियल से करें. 2 हफ्ते के अंतराल पर गोल्ड फेशियल और डायमंड फेशियल कराने पर आप को चेहरे पर इस का असर दिखेगा. इस में मौजूद प्राकृतिक तत्त्वों की मदद से फेशियल के बाद आप की त्वचा का रोमरोम खुल जाएगा, इस की अच्छी तरह सफाई हो जाएगी, त्वचा को भरपूर पोषण मिलेगा और त्वचा में कसावट व रौनक आएगी.

– ज्यादा मेकअप से बचें. थोड़ा कम मेकअप करेंगी तो इस से बहुत फर्क पड़ेगा. आप की त्वचा को सुकून लेने का मौका मिलेगा और त्वचा पर कीलमुंहासे निकलने या किसी और तरह का नुकसान पहुंचने की आशंका कम हो जाएगी. बीबी क्रीम से भी काम चल जाएगा, जो आप को मेकअप फ्री लुक देगी और त्वचा से दागधब्बे हटा कर उसे साफ बनाएगी.

– होंठों की देखभाल को कभी नजरअंदाज न करें. फ्रूटी वाला लिप बाम हमेशा साथ रखें.

भारती मोदी

कैसी हो सर्दियों की सनस्क्रीन

विंटर में धूप में बैठना सभी को अच्छा लगता है, लेकिन इस मीठीमीठी धूप के लालच में हम अपनी स्किन के साथ खिलवाड़ कर बैठते हैं, जिस की वजह से स्किन को सूर्य की हानिकारक अल्ट्रावायलेट रेज का सामना करना पड़ता है और वह बेजान और रफ लगने लगती है. इसलिए जरूरत है विंटर में भी स्किन को यूवी किरणों से बचाने की. तो आइए जानते हैं कि इस दौरान कौनकौन से प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करें ताकि स्किन विंटर के मौसम का भी मजा ले सके और उसे कोई नुकसान भी न पहुंचे.

ग्रीनबेरी और्गैनिक्स सनस्क्रीन स्प्रे लोशन

इस लोशन में एसपीएफ होने के कारण यह स्किन को विंटर्स की सूर्य की तेज किरणों से बचाने का काम करता है. इसे नैचुरल ऐंटीऔक्सीडैंट्स व कीवी ऐक्सट्रैक्ट से बनाया  जाता है, जो फ्रीरैडिकल्स से स्किन को प्रोटैक्ट करने के साथसाथ स्किन सैल्स को नैचुरली हाइड्रेट करने का काम भी करते हैं. यह पैराबेन व सल्फेट फ्री भी है. यह लोशन खासतौर से ड्राई स्किन को ध्यान में रख कर बनाया जाता है.

न्यूट्रोजेना हाइड्रो बूस्ट सनस्क्रीन

यह सनस्क्रीन हाइड्रो बूस्ट फौर्मूला से लैस है, जिस में ह्यालूरोनिक ऐसिड और ग्लिसरीन जैसे पावरफुल इन्ग्रीडिएंट्स होते हैं. यह एक विंटर की शुष्क हवा से स्किन को प्रोटैक्ट करने का काम करता है. इस में हाइड्रो बूस्ट एसपीएफ फौर्मूला स्किन को यूवी प्रोटैक्शन देने का भी काम करता है. स्किन को विंटर्स में ऐक्स्ट्रा प्रोटैक्शन देने के लिए अगर आप हुमेक्टैंट्स युक्त सीरम के बाद इस सनस्क्रीन को अप्लाई करती हैं, तो यह आप की स्किन को प्रोटैक्ट करने के साथसाथ हैल्दी, सौफ्ट व स्मूद भी बनाने का काम करता है. इस सनस्क्रीन की खास बात यह है कि यह सभी स्किन टाइप पर सूट करेगा.

द बौडी शौप विटामिन ई

मौइस्चराइजिंग क्रीम: विंटर्स में यह विटामिन ई युक्त क्रीम स्किन को हाइड्रेट रखने का काम तो करती ही है, साथ ही यह स्किन को फुल प्रोटैक्शन भी देती है. असल में इस का ह्यालूरोनिक ऐसिड युक्त फौर्मूला स्किन को ऐक्स्ट्रा हाइड्रेशन देने के साथसाथ इस में ऐंटीऔक्सीडैंट रिच रैस्पबेरी ऐक्सट्रैक्ट स्किन को ऐक्सफौलिएट करने के साथसाथ सुपर स्मूद बनाने में भी मदद करता है. इस में विटामिन ई की खूबियां स्किन को यूवी प्रोटैक्शन से बचाने के साथ स्किन टैन, डार्क पैचैज और रिंकल्स से बचाने में मदद भी करती हैं.

बोटनिका विटामिन सी सनस्क्रीन

इस में विटामिन सी और एसपीएफ दोनों होने के कारण यह स्किन के लिए काफी मैजिक का काम करता है. इस का क्विक स्किन अब्सौर्बिंग फौर्मूला स्किन की लेयर्स में डीपली जा कर उसे स्मूद बनाने के साथसाथ उसे पूरे दिन सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने का भी काम करता है. इस में जिंक और टाइटेनियम औक्साइड होने के साथ यह स्किन के पीएच लैवल को बैलेंस में बनाने का काम करता है. चाहे आप को पूरा दिन बीच पर बैठ कर ऐंजौय करना हो या फिर विंटर्स में धूप का मजा लेना हो, यह परफैक्ट सनस्क्रीन है.

अल्ट्रा रिपेयर प्योर मिनरल

सनस्क्रीन मौइस्चराइजर: जहां विंटर का मौसम दिल को छू जाता है, वहीं अगर इस मौसम में स्किन की प्रौपर केयर नहीं की जाती है तो स्किन रैड, ड्राई, फ्लैकी होने के साथसाथ कई बार स्किन टैन की भी समस्या हो जाती है. ऐसे में इस सनस्क्रीन युक्त मौइस्चराइजर में ओटमील की खूबियां होने के कारण यह स्किन पर इचिंग व जलन से तो बचाने का काम करता ही है, साथ ही स्किन पर डैड स्किन सैल्स, औयल को भी रिमूव करने का काम करता है. इस का यूवी ब्लौकर फौर्मूला सन प्रोटैक्शन दे कर स्किन को मौइस्चराइज करने के साथसाथ ग्लोइंग बनाने का भी काम करता है.

केटाफिल 30 एसपीएफ मौइस्चराइजर

यह 30 एसपीएफ वाला फेशियल मौइस्चराइजर स्किन पर ग्लो देने के साथसाथ स्किन की हर लेयर को प्रोटैक्शन देने का भी काम करता है. इस की खास बात यह है कि इस में ओलियोसम टैक्नोलौजी का इस्तेमाल किया गया है, जिस में सनस्क्रीन फिल्टर्स का कम इस्तेमाल होने के कारण यह स्किन को बिना इरिटेट करे सुपर हाइड्रेट करने का काम करता है. यह सैंसिटिव स्किन के लिए एकदम परफैक्ट है.

हाथों की देखभाल के लिए अपनाएं ये 7 टिप्स

क्या आप भी अपने हाथों पर पूरा-पूरा ध्यान देती हैं, फिर भी वे सुंदर नजर नहीं आते? ऐसा इसलिए, क्योंकि उन्हें सही देखभाल की आवश्यकता है. अब चूंकि सर्दी पड़ रही है इसलिए भी तो हाथों का बारबार रूखा होना स्वाभाविक है. ऐसा हाथों में कम औयल ग्लैंड्स होने के कारण होता है. कपड़े और बरतन धोते-धोते हाथों की स्थिति काफी खराब नजर आने लगती है. ऐसे में जरूरत है कि हाथों को नियमित तौर पर ऐक्सफोलिएट और मौइश्चराइज किया जाए. हाथों पर लगाने के लिए बहुत से पैक आप घर पर भी तैयार कर सकती हैं.

1. लाइम सौफ्टनर

1 बड़ा चम्मच नीबू का रस, 1 छोटा चम्मच चीनी और थोड़ा पानी मिला कर पेस्ट बना लें. इस मिक्सचर को हाथों पर 5 मिनट के लिए लगा कर छोड़ दें. फिर हाथों को गरम पानी से साफ कर के सुखा लें.

2. शुगर ऐक्सफोलिएट

वैजिटेबल/सनफ्लावर/बेबी या औलिव औयल के 2 बड़े चम्मच के साथ 3 बड़े चम्मच चीनी मिला कर पेस्ट बना लें. इस पेस्ट को अपने हाथों पर 3-4 मिनट तक रगड़ती रहें. फिर गरम पानी से धो कर सुखा लें.

3. हनी एग सौफ्टनर

एक बाउल में थोड़ा सा शहद, अंडे का सफेद हिस्सा, 1 चम्मच ग्लिसरीन और 1 चम्मच बार्ली पाउडर लें. सब को अच्छी तरह मिला कर हाथों पर लगाएं. कुछ मिनट तक हाथों पर लगा रहने के बाद पानी से साफ कर लें.

4. टोमैटो लाइम सौफ्टनर

यदि आप के हाथ बेहद रूखे हैं, तो 1 नीबू और 1 टमाटर का जूस निकाल कर अच्छी तरह मिला लें. फिर 2-3 चम्मच ग्लिसरीन मिलाएं और इस पेस्ट से हाथों का मसाज करें. 4-5 मिनट के बाद गरम पानी से साफ कर लें.

5. नेल सौफ्टनर

औलिव आयल से नाखूनों की मसाज करें. इस के बाद गरम पानी में डुबाएं. इस से रक्तसंचार भी सुचारु रहता है और नाखून भी साफ व स्वस्थ रहते हैं.

6. नरिशिंग क्रीम

1/3 कप ग्लिसरीन और 2/3 कप गुलाबजल को मिला लें. इसे बोतल में भर कर फ्रिज में रख दें. जब भी हाथ रूखे लगें तो इस से हाथों की मसाज कर लें.

7. क्यूटिकल सौफ्टनर

औलिव औयल को गरम कर के क्यूटिकल्स पर लगाएं, लेकिन स्नान के बाद. क्यूटिकल्स पर मसाज करते हुए उंगली की टिप से उन्हें पीछे धकेलें.

Winter Special: फटी एड़ियों को मुलायम बनाएं

सर्दियों में हमारी त्वचा को खास देखभाल की जरूरत होती है. त्वचा के लिए तो हम एकबार फिर भी मॉइश्चराइजर, कोल्ड क्रीम खरीद लेते हैं लेकिन एड़ियों की हिफाजत का ख्याल भी बहुत कम लोगों को ही आता है. नतीजा यह होता है कि सर्दियां बढ़ने के साथ ही एड़ियों की दरारें भी बढ़ने लग जाती हैं और एक समय ऐसा आता है कि चलना-फिरना भी मुश्किल हो जाता है.

ऐसे में बेहतर यही है कि समय रहते एड़ियों की देखभाल शुरू कर दी जाए ताकि आगे जाकर यह तकलीफ बढ़े नहीं. एड़ियों की देखभाल से पहले यह जानना जरूरी है कि एड़ियां फटती क्यों हैं.

क्यों फटती हैं एड़ियां

सही देखभाल न मिल पाना और गंदगी तो एक वजह है ही साथ ही अनियमित खानपान भी इसका एक मुख्य कारण है.

बनाएं एड़ियों को खूबसूरत और मुलायम

1. नारियल का तेल

रात को सोने से पहले पैरों को अच्छी तरह से साफ कर लें. इसके बाद साफ तौलिए से सुखाकर तेल लगाएं. इसके बाद मोजे पहन लें. इससे पैरों को गर्माहट मिलेगी और मॉइश्चर उड़ेगा भी नहीं. इस उपाय को सिर्फ 10 दिन करके देखें, फायदा होगा.

2. शहद

शहद एक बहुत अच्छा मॉइश्चराइजर है. एक बर्तन में इतना पानी ले लें कि उसमें आपके पैर डूब जाएं. इसमें आधा कप शहद मिलाकर पैर डुबोकर बैठ जाएं. कुछ देर बाद पैर धो लें. कुछ बार के ही इस्तेमाल से आपके पैर सॉफ्ट हो जाएंगे.

3. ग्लिसरीन

गुलाब जल और ग्लिसरीन का एक मिश्रण तैयार कर लें. इसे एड़ियों पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें. इसके बाद पैरों को पानी से धो लें. कुछ दिनों में ही आपको असर नजर आने लगेगा.

4. पेट्रोलियम जेली

इसके अलावा पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल करके भी फटी एड़ियों की तकलीफ से राहत पायी जा सकती है. सिर्फ एक बात का ख्याल रखें कि गंदे पैर न रहें और अच्छी क्वालिटी के ही जूते-चप्पल पहनें.

Winter Special: ताकि ठंडी हवाएं स्किन की नमी न चुराएं

हौलेहौले सर्दियों ने दस्तक दे दी है. इस मौसम का ठंडापन और रूखापन त्वचा से नमी को चुरा लेने वाला होता है, जिस से त्वचा सूखीसूखी, फटीफटी सी लगने लगती है और थोड़ी सैंसिटिव भी हो जाती है. लेकिन ऐसे मौसम में अगर आप चाहें तो सर्द हवाओं को अपनी त्वचा का दोस्त भी बना सकती हैं, जिस के उपाय बता रही हैं साकेत सिटी हौस्पिटल की डर्मैटोलौजिस्ट डाक्टर लिपि गुप्ता:

1. त्वचा क्यों होती है ड्राई

सर्दियों के मौसम में त्वचा इसलिए ड्राई हो जाती है क्योंकि खुश्क हवा त्वचा के नीचे से नमी सोख लेती है. त्वचा में नमी की कमी होने से सेल्स की बाहरी सतह सूखी हो कर चटकने लगती है, तो नमी का सुरक्षा कवच हट जाता है. इस से अंदरूनी त्वचा पर भी मौसम का असर होने लगता है. ऐसी त्वचा पर स्थायी या अस्थायी लकीरें अपना स्थान बनाने लगती हैं. ऐसा न हो इस के लिए आप आगे बताए जा रहे उपाय अपना कर त्वचा की देखभाल कर उस की नमी बरकरार रख सकती हैं.

2. हौट शौवर स्नान

इस मौसम में हर सुबह स्फूर्तिदायक गरम पानी से स्नान बहुत महत्त्वपूर्ण है क्योंकि ऐसा स्नान आप को ताजगी प्रदान करता है और त्वचा की हाइजीन को बनाए रखता है. पर यह ध्यान रहे कि पानी बहुत ज्यादा गरम नहीं होना चाहिए, क्योंकि वह त्वचा की कुदरती नमी को सोख लेता है. अच्छी तरह से हाइड्रेटेड त्वचा के लिए कुनकुना पानी सब से बेहतर उपाय है.

3. बौडी औयलिंग

सर्दी के मौसम में खुश्क हवा से त्वचा को बचाने व सूखेपन को दूर करने का असरदार तरीका है कुनकुने तेल से मालिश करना. लेकिन मालिश के लिए ऐसे तेल का चुनाव करें जो बहुत ज्यादा चिकनाईयुक्त न हो और शरीर में जल्दी मर्ज हो जाने वाला हो. जैसे औलिव, जोजोबा और ऐलोवेरा औयल. तेल की मसाज सोने से पहले या नहाने से 1 घंटा पहले करें, जिस से तेल का असर बौडी पर अच्छी तरह से हो जाए.

4. फेसवाश कैसा हो

सरदी के मौसम में सब से ज्यादा चेहरे की देखभाल की जरूरत पड़ती है. इस के लिए संतुलित, सौम्य व हाइडे्रटिंग फेसवाश का इस्तेमाल करें, जिस में क्लींजिंग व मौइश्चराइजिंग जड़ीबूटियों के साथसाथ ऐलोवेरा पर्याप्त मात्रा में हो. ये तत्त्व त्वचा को हाइड्रेट करते हैं.

5. साबुन का चुनाव

त्वचा की नियमित सफाई व नमी के लिए ऐसे सौफ्ट साबुन का चुनाव करें जिस में औलिव औयल और ऐलोवेरा के गुण हों.

6. घरेलू मौइश्चराइजर

आधा चम्मच गुलाबजल में 1 चम्मच शहद मिलाएं और चेहरे पर आहिस्ताआहिस्ता मलें. इसे 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें. फिर पानी से साफ कर लें. शहद से सूखी त्वचा की नमी लौट आएगी. इस के अलावा नाखूनों के आसपास मौइश्चराइजर लगाएं क्योंकि पानी में ज्यादा देर काम करने से वे भुरभुरे और सूखे हो सकते हैं. आप दस्तानों का प्रयोग भी कर सकती हैं.

7. स्क्रबिंग

सर्दी के मौसम में धूलमिट्टी से त्वचा को बचाने के लिए सप्ताह में 2 बार स्क्रबिंग जरूर करवाएं. स्क्रबिंग त्वचा से जमा मैल और डैडस्किन प्रभावी तरीके से निकालने और त्वचा से अतिरिक्त मौइश्चर को सोखने में सक्षम होती है, इसलिए आप की त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाए रखती है.

8. टोनर और क्लींजिंग मिल्क

सर्दी के मौसम में पसीना न आने की वजह से लोग फेसवाश करने पर कम ध्यान देते हैं, जिस से त्वचा की सफाई बेहतर ढंग से नहीं हो पाती. ऐसे में अच्छी क्वालिटी के टोनर और क्लींजिंग मिल्क प्रभावी तरीके से त्वचा की गहराई से सफाई करते हैं और सूखी त्वचा को स्वच्छ, नर्म व नमीयुक्त बनाते हैं.

9. मौइश्चराइजर

सर्दी के मौसम में ऐसे मौइश्चराइजर का इस्तेमाल करें जो धूप से सुरक्षा दे. आप नौर्मल मौइश्चराइजर की जगह सेरेमाइकयुक्त मौइश्चराइजर का इस्तेमाल करें. सैलिब्रिटीज मेकअप ऐक्सपर्ट, आशमीन मुंजाल के अनुसार, मौइश्चराइजर त्वचा में पीएच बैलेंस को मैंटेन करता है. अगर पीएच बैलेंस बढ़ता है, तो ऐक्ने की शुरुआत होती है और अगर कम होता है, तो फेस पर रिंकल्स उभर आते हैं. इसलिए ऐसे मौइश्चराइजर का इस्तेमाल करें, जो त्वचा में पीएच बैलेंस सही बनाए रखे. इस के अलावा बादाम क्रीम, वैसलीन व ग्लिसरीन का इस्तेमाल करें. ये त्वचा पर एक सुरक्षा कवच बना देते हैं जिस से उस पर शुष्क हवाओं का असर नहीं पड़ता. अच्छा मौइश्चराइजर त्वचा की खोई नमी तो लौटाता ही है, साथ ही नए ऊतकों को पैदा करने में भी मददगार होता है. यह धूल, धूप और मौसम की तीखी मार से बचाते हुए मेकअप की नमी बनाए रखता है. जहां सूखी त्वचा के लिए सामान्य मौइश्चराइजर मददगार साबित होता है, वहीं तैलीय त्वचा के लिए औयलफ्री मौइश्चराइजर बेहतर विकल्प है.

10. सनस्क्रीन लोशन जरूर इस्तेमाल करें

डाक्टर लिपि के अनुसार, जाड़े में धूप भी आप की त्वचा पर सीधा असर डालती है, इसलिए गरमी की तरह ही जाड़े में भी सनस्क्रीन लोशन का इस्तेमाल जरूर करें. दरअसल, सर्दी में भी अल्ट्रावायलेट किरणें नुकसानदेह होती हैं और चूंकि आप जाड़े में धूप में ज्यादा समय बिताती हैं, इसलिए त्वचा पर अल्ट्रावायलेट किरणों का असर भी ज्यादा होता है. सनस्क्रीन लोशन उस के असर से तो त्वचा को बचाता ही है, उस की वजह से आप की खुली त्वचा पर होने वाली फाइनलाइन झुर्रियों और ऐज स्पौट वगैरह से भी बचाता है.

11. खानपान का रखें खास खयाल

सर्दी के मौसम में अपने खानेपीने का खास खयाल रखें. अपनी त्वचा को हाइड्रेट करने के लिए दिन भर में कम से कम 8-10 गिलास पानी पीएं. इस मौसम में प्यास कम लगती है फिर भी आप कुछकुछ देर में कोई न कोई लिक्विड जरूर लेती रहें. गरम पानी में नीबू डाल कर भी पीएं. इस से शरीर से विषैले पदार्थ निकल जाते हैं और इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है. इस के अलावा ग्रीन टी, नारियल पानी, स्प्राउट, फल वगैरह लें. खानपान में संतुलन रखें व पौष्टिक भोजन को प्राथमिकता दें.

12. पर्याप्त नींद लें

त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए 7-8 घंटे नींद जरूर लें क्योंकि यह हमारी ऊर्जा को ताजा करती है और शरीर को फुरतीला बनाए रखती है.

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें