पिछले कुछ वर्षों में भारत की जनसंख्या में परिवर्तन हुआ और वरिष्ठ नागरिकों का प्रतिशत बढ़ गया है. आज कुल जनसंख्या का लगभग 8.6 प्रतिशत वरिष्ठ नागरिक हैं. जिस प्रकार से वरिष्ठ नागरिकों की आबादी बढ़ी है. उसी प्रकार यह समझना भी महत्वपूर्ण है कि वृद्धावस्था में मधुमेह,उच्च रक्तचाप,, स्लीप एपनिया और कैंसर जैसी स्वास्थ्य परेशानियों से जूझना पड़ता है. वरिष्ठ नागरिक जो एक समय में कभी हमारी देखभाल करते थे, अब उन्हें निरंतर देखभाल और स्वास्थ्य प्रबंधन की आवश्यकता होती है. साथ ही आज हमारी पारिवारिक संरचनाओं में काफी बदलाव भी आया है. भागदौड़ भरी लाइफ के चलते घर में बीमार बुजुर्गों की देखभाल के लिए लोगों के पास टाइम नहीं है.

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT